राजनीति

उपचुनाव: मणिपुर की चार में से तीन सीटों पर भाजपा और एक सीट पर निर्दलीय की जीत

मणिपुर की लिलोंग सीट पर विजयी निर्दलीय उम्मीदवार वाई. अंतस ख़ान को भाजपा ने समर्थन दिया था. नगालैंड की दो सीटों पर हुए उपचुनाव में एक पर सत्ताधारी एनडीपीपी और दूसरी पर निर्दलीय उम्मीदवार ने जीत दर्ज की.

(फोटो: पीटीआई)

(फोटो: पीटीआई)

इम्फाल/कोहिमा: उत्तर-पूर्व के दो राज्यों की छह सीटों पर हुए उपचुनाव के नतीजे मंगलवार को सामने आए. मणिपुर के थौबल जिले में लिलोंग और वांगजिंग-टेंथा सीटों और कांगपोकपी में सैतु और इम्फाल पश्चिम में वांगोई सीट के लिए उपचुनाव हुआ था.

मणिपुर उपचुनाव के मंगलवार को घोषित परिणाम में भाजपा उम्मीदवारों ने तीन सीटों पर, जबकि एक सीट पर निर्दलीय उम्मीदवार ने जीत दर्ज की. दूसरी ओर नगालैंड की दो सीटों में से एक पर सत्ताधारी दल एनडीपीपी ने जीत दर्ज की और निर्दलीय उम्मीदवार टी. यंग्सो संगतम ने पुंगरो-किफिरे सीट पर कब्जा किया.

मणिपुर में चुनाव अधिकारी ने कहा कि वांगोई सीट पर भाजपा उम्मीदवार ओ. लुखोई सिंह, वांगजिंग तेंथा सीट पर भाजपा उम्मीदवार पाओनम ब्रोजन सिंह और सेतु सीट से नगमथांग हाओकिप ने जीत दर्ज की.

ओ. लुखोई सिंह ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी नेशनल पीपुल्स पार्टी के खुराईजाम लोकेन सिंह को 257 मतों से हराया, जबकि पाओनम ब्रोजन सिंह ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस के उम्मीदवार मोइरंगथेम हेमंत सिंह को 1,560 मतों से शिकस्त दी.

वहीं सैतु सीट पर भाजपा उम्मीदवार नगमथांग हाओकिप अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी कांग्रेसी उम्मीदवार लामतिनथांग हाओकिप को 12,257 मतों से हराया.

निर्दलीय उम्मीदवार वाई. अंतस खान ने लिलोंग सीट पर अपने करीबी निर्दलीय प्रतिद्वंद्वी मोहम्मद अब्दुल नासिर को 3,078 मतों से हराया.

मणिपुर में बीते सात नवंबर को उपचुनाव कराया गया था. उपचुनाव में लगभग 91.54 प्रतिशत मतदान हुआ था. इन सीटों पर कांग्रेसी विधायकों के इस्तीफा देकर भाजपा का दामन थाम लेने से उपचुनाव की जरूरत पड़ी.

भाजपा ने तीन सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे थे और लिलोंग में उसने निर्दलीय उम्मीदवार को समर्थन दिया था, जबकि कांग्रेस ने चारों सीटों पर अपने प्रत्याशी खड़े किए थे.

नगालैंड: दो सीटों में से एक पर एनडीपीपी और दूसरी पर निर्दलीय प्रत्याशी का कब्जा

नगालैंड विधानसभा उपचुनाव के मंगलवार को आए नतीजों में दक्षिणी अंगामी-एक सीट पर सत्ताधारी दल नेशनल डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी (एनडीपीपी) ने जीत दर्ज की और निर्दलीय उम्मीदवार टी यंग्सो संगतम ने पुंगरो-किफिरे सीट पर कब्जा किया.

चुनाव अधिकारी मोहम्मद अली शिहाब ने बताया कि दक्षिणी अंगामी-एक सीट पर एनडीपीपी प्रत्याशी मेडा योखा को 4,773 मत मिले और उन्होंने अपने निकटम प्रतिद्वंद्वी तथा निर्दलीय उम्मीदवार सेविली पीटर जशुमो को 598 मतों से हराया.

उन्होंने कहा कि जशुमो को 4,175 मत मिले और नगा पीपुल्स फ्रंट के प्रत्याशी किकोवी किरहा को 2,575 मत प्राप्त हुए.

चुनाव के नतीजों की घोषणा होने के बाद योखा ने संवाददाताओं से कहा कि वह अपने क्षेत्र के छह गांवों और एक नगर निगम क्षेत्र के लोगों से किए गए वादों को पूरा करने के लिए काम करेंगे.

उन्होंने कहा, ‘मैंने जो वादे किये थे उन्हें पूरा करने का भरसक प्रयास करूंगा.’

पुंगरो-किफिरे में सत्ताधारी पीपुल्स डेमोक्रेटिक अलायंस को तगड़ा झटका लगा क्योंकि भाजपा की ओर से उसके प्रत्याशी लिरिमोंग संगतम तीसरे स्थान पर रहे.

निर्वाचन आयोग के अधिकारी ने कहा कि निर्दलीय उम्मीदवार टी. यंग्सो संगतम ने 1,527 मतों से जीत हासिल की.

अधिकारी ने बताया कि संगतम को 8,747 मत मिले और उन्होंने अपने निकटम प्रतिद्वंद्वी निर्दलीय एस. किउसुमियू यिमचुंगर को हराया.

अधिकारी ने कहा कि यिमचुंगर को 7,220 मत मिले और भाजपा के लिरिमोंग को 5,664 मत प्राप्त हुए.

दोनों सीट इन निर्वाचन क्षेत्रों के विधायकों क्रमश: विखो-ओ युशू तथा टी. तोरेचु के निधन के बाद रिक्त हो गई थीं. दोनों सीटों पर तीन नवंबर को चुनाव कराए गए थे.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)