भारत

मध्य प्रदेश में सेप्टिक टैंक की सफाई के दौरान चार सफाईकर्मियों की मौत

देवास ज़िले के पिपलरावा थाना इलाके के गांव बरदु का मामला. पुलिस ने मामला दर्ज़ किया.

(प्रतीकात्मक तस्वीर: रॉयटर्स)

(प्रतीकात्मक तस्वीर: रॉयटर्स)

देवास/मध्य प्रदेश: जिला मुख्यालय से करीब 60 किलोमीटर दूर पिपलरावा थाना इलाके के गांव बरदु में सेप्टिक टैंक की सफाई करने के लिए घुसे चार सफाईकर्मियों की बीते सोमवार मौत हो गई.

पिपलरावा थाना प्रभारी बीएल मीणा ने बताया कि मृतकों की पहचान विजय सिहोते (20), ईर सिहोते (35), दिनेश गोयल (35) और रिंकू गोयल (16) के रूप में हुई है. ये सभी देवास के रहने वाले थे.

उन्होंने कहा कि गांव बरदु में सेप्टिक टैंक की सफाई के लिए देवास से पांच सफाईकर्मियों की टीम बुलवाई गई थी. यह सेप्टिक टैंक बरदु गांव के रहने वाले कमल सिंह सेंधव के घर के सीवेज का था और उन्होंने इन पांचों सफाईकर्मियों को 8,000 रुपये में इसे साफ करने का ठेका दिया था.

मीणा ने बताया कि यह टीम रविवार रात से ही काम कर रही थी.

इस बीच, रविवार को आधी रात के बाद टीम का एक सदस्य इस सेप्टिक टैंक से निकाली गई गंदगी को फेंकने के लिए टैंकर लेकर बाहर गया और जब वह वापस लौटा तो उसने देखा कि उसके चारों साथी सेप्टिक टैंक में मृत पड़े हैं.

उन्होंने कहा कि मौके पर पहुंची पुलिस ने जेसीबी मशीन की सहायता से टैंक तोड़कर चारों के शव बाहर निकाले और पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवाया.

मीणा ने बताया कि इस संबंध में मामला दर्ज कर लिया गया है और जांच जारी है.

पिछले महीने दक्षिण दिल्ली के घिटोरनी इलाके में सेप्टिक टैंक की सफाई के दौरान दम घुटने से चार सफाई कर्मचारियों की मौत हो गई थी. पुलिस के अनुसार पांच लोग इलाके में एक घर में टैंक के सफाई करने के लिए नीचे उतरे थे लेकिन लंबे समय तक बाहर नहीं निकले. पांचों कर्मचारियों को करीब घंटे भर के अभियान के बाद बेहोशी की हालत में बाहर निकाला गया था. इलाज के दौरान इनमें से चार लोगों की मौत हो गई थी.