भारत

हिमाचल प्रदेशः लाहौल के गांव में एक शख़्स को छोड़कर सभी कोरोना संक्रमित

हिमाचल प्रदेश की लाहौल घाटी स्थित थोरांग गांव में सिर्फ़ 42 लोग रहते हैं. इनमें से 41 लोग संक्रमित पाए गए हैं. लाहौल-स्पीति घाटी राज्य में जनसंख्या के अनुपात के आधार पर कोरोना से सबसे ज़्यादा प्रभावित ज़िला बन गया है.

(फोटो: रॉयटर्स)

(फोटो: रॉयटर्स)

मनालीः हिमाचल प्रदेश की लाहौल घाटी के थोरांग गांव में एक शख्स को छोड़कर पूरा गांव कोरोना संक्रमित पाया गया है. लाहौल-स्पीति घाटी हिमाचल प्रदेश में जनसंख्या के अनुपात के आधार पर कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित जिला बन गया है.

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, पूरे गांव में सिर्फ 52 साल के भूषण ठाकुर ऐसे शख्स हैं, जो कोरोना संक्रमित नहीं है. पूरे गांव में भूषण ठाकुर अकेले ऐसे शख्स हैं, जो कोरोना संक्रमित नहीं पाए गए.

लाहौल में कोरोना के मामले बढ़ने पर प्रशासन को पर्यटकों को रोहतांग सुरंग के पास तेलिंग नाले तक रोकने पर मजबूर होना पड़ा है.

पर्यटकों को गुरुवार को लाहौल गांव नहीं जाने दिया गया. इसके साथ ही सुरंग के आगे के कई गांवों को कंटेनमेंट जोन में बदल दिया गया है.

अधिकारियों के मुताबिक, मनाली-लेह हाईवे पर स्थित थोरांग गांव में सिर्फ 42 लोग रहते हैं. कई लोग ठंड की शुरुआत में ही कुल्लू चले गए थे. इसके बाद थोरांग गांव के लोगों ने स्वेच्छा से अपना कोरोना टेस्ट कराने का फैसला किया. इन 42 लोगों में से 41 लोगों कोरोना पॉजिटिव पाए गए.

कोरोना से संक्रमित नहीं पाए गए भूषण ठाकुर ने बताया, ‘मैं एक अलग कमरे में रह रहा हूं और बीते चार दिन से खुद ही अपना खाना पका रहा हूं. जब तक टेस्ट के नतीजे नहीं आए थे, तब तक मैं अपने परिवार के साथ था. मैंने हमेशा सभी नियमों का पालन किया, जिसमें हाथ सैनेटाइज करने से लेकर फेस मास्क पहनना और सोशल डिस्टेंसिंग का पालना करना शामिल है. लोगों को इस महामारी को हल्के में नहीं लेना चाहिए. सर्दी आने पर लोगों को और सावधानी बरतने की जरूरत है.’

सूत्रों के मुताबिक, कुछ दिन पहले किसी धार्मिक आयोजन के लिए सभी गांव वाले एकजुट हुए थे. इसे ही लोगों के कोरोना संक्रमित होने का कारण माना जा रहा है. गांव के आसपास के लोग भी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं.

वहीं, लाहौल स्पीति के मुख्य मेडिकल अधिकारी डॉ. पलजोर का कहना है, ‘उनकी टीम लगातार लोगों से आगे आकर खुद टेस्ट कराने की अपील कर रही है. अभी तक जिले में 856 लोग कोरोना पॉजिटिव मिल चुके हैं. स्पीति के गांवों में बड़े संख्या में कोरोना संक्रमण चिंता का विषय बना हुआ है. स्पीति में 28 अक्टूबर को रंगरिक गांव के 39 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए. स्पीति के हर्लिंग गांव में 19 लोग भी कोरोना संक्रमित पाए गए थे.’

बता दें कि हिमाचल प्रदेश में अब तक 488 लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है जबकि संक्रमित की कुल संख्या बढ़कर 32,197 हो गई है.