भारत

बाढ़ प्रभावितों से मिलने गुजरात गए राहुल की कार पर पथराव, बोले- हम पत्थरों से नहीं डरते

हमले में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की कार का पीछे का शीशा टूट गया. कांग्रेस ने हमले की कड़ी निंदा की.

AppleMark

गुजरात के बनासकांठा के रूनी गांव में राहुल गांधी. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: गुजरात में बाढ़ प्रभावित क्षेत्र का दौरा करने गए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की कार पर शुक्रवार को पथराव किया गया. हालांकि, उन्हें कोई चोट नहीं पहुंची, लेकिन उनकी कार का पीछे का शीश टूट गया. इस पर प्रतिक्रिया देते हुए राहुल गांधी ने कहा कि हम काले झंडों, मोदी के नारों और पत्थरों से पीछे हटने वाले नहीं हैं.

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की कार पर उस समय पथराव किया गया जब वह बाढ़ प्रभावित इलाके बनासकांठा के दौरे पर थे लेकिन इसमें उन्हें कोई चोट नहीं पहुंची. बनासकांठा के पुलिस अधीक्षक नीरज बड़गूजर ने कहा कि जब राहुल लाल चौक से धानेरा स्थित हेलीपैड जा रहे थे तब एक व्यक्ति ने उनकी कार पर पथराव किया जिसमें उनकी कार का पीछे का शीशा टूट गया.

बड़गूजर ने कहा, गांधी को इसमें कोई चोट नहीं पहुंची है. हमने एक व्यक्ति को हिरासत में लिया है जिसने राहुल गांधी के वाहन पर पत्थर फेंके थे.

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, बड़गूजर ने कहा कि किसी अज्ञात शख्स ने राहुल गांधी की कार पर हमला किया. मामले की एफआईआर दर्ज कर ली गई है. जांच की जाएगी.

इससे पहले एक कार्यक्रम में प्रदर्शनकारियों ने राहुल को बोलने नहीं दिया. बनासकांठा जिला स्थित नगर के लाल चौक में प्रदर्शनकारियों ने उन्हें काले झांडे दिखाए जिसके बाद वे एक संक्षिप्त भाषण देने के बाद चिढ़कर मंच छोड़कर चले गए.

मौके पर एकत्रित हुए कुछ लोगों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समर्थन में नारेबाजी भी की. उल्लेखनीय है कि इस क्षेत्र के कांग्रेस विधायक पार्टी के अन्य विधायकों के साथ बेंगलुरू में हैं.

इन विधायकों को आठ अगस्त को होने वाले राज्यसभा चुनाव से पहले भाजपा द्वारा कथित रूप से तोड़े जाने से बचाने के लिए कांग्रेस दक्षिण भारत के इस शहर में ले गई है. कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने भाजपा के गुंडों द्वारा इस कायराना हमले को अंजाम देने का आरोप लगाया.

उन्होंने कहा कि काफिले में शामिल कई कारों को क्षति पहुंची है, उनकी कार के शीशे टूट गए हैं और एक एसपीजी के व्यक्ति को मामूली चोट लगी है. उन्होंने कहा, यह सब इसलिए हुआ क्योंकि कांग्रेस उपाध्यक्ष एक बाढ़ प्रभावित क्षेत्र में गए.

इस हमले के बाद राहुल गांधी और अजय माकन के ट्विटर अकाउंट से एक वीडियो शेयर हुआ जिसमें राहुल गांधी काला झंडा दिखाने और पथराव करने वालों का स्वागत करते हुए कह रहे हैं कि जो सत्य को पहचानता है और सच को समझता है, उसे डरने की कोई जरूरत नहीं होती, ऐसा महात्मा गांधी ने पूरे देश को दिखाया था. इसलिए हम झंडों, मोदी के नारों और पत्थरों से पीछे हटने वाले नहीं हैं. राहुल पर इस हमले के विरोध में यूथ कांग्रेस ने दिल्ली में प्रदर्शन किया.

कांग्रेस ने कहा, ओछी, घटिया और अलोकतांत्रिक हरकत

बाढ़ पीड़ितों से मिलने गए राहुल गांधी की कार पर हुए पथराव की कड़ी भर्त्सना करते हुए कांग्रेस ने इसे भाजपा के गुंडों द्वारा की गई ओछी, घटिया एवं अलोकतांत्रिक हरकत करार दिया है.

कांग्रेस प्रवक्ता अभिषक मनु सिंघवी ने घटना पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा, यह घटना भारत के गणतांत्रिक संस्कारों एवं संस्कृति और इतिहास के बिल्कुल विरुद्ध है. राहुल गांधी की गाड़ियों पर पत्थरों से केन्द्र एवं भाजपा शासित राज्य के गुंडों, असामाजिक तत्वों ने घृणात्मक रूप से हमला किया.

उन्होंने कहा कि यह हमला पूरी तरह से पूर्व नियोजित था और सोच समझाकर किया गया. उन्होंने कहा कि ओछी, घटिया और गैरकानूनी हरकत है.

उन्होंने कहा, मूल मुद्दा दूसरा है. अकेले बनासकांठा में 70 लोगों की मृत्यु हुई है. गुजरात में बाढ़ से 200 लोगों की जान गई है और करोड़ों रूपये की संपत्ति का नुकसान हुआ है. इस जिले में हजारों लोग बेघर हुए हैं. प्रदेश के मुख्यमंत्री पांच-छह दिन तक वहां गए नहीं. उसी प्रदेश से आने वाले प्रधानमंत्री भी वहां नहीं गए.

सिंघवी ने कहा, जब विपक्षी दल का कोई नेता वहां जाने का प्रयास करता है तो देश की संस्कृति ऐसी नहीं है कि हम उस पर पत्थरों से आक्रमण करें. सरकार और भाजपा को शायद इस बात का इल्म नहीं है कि यह लोकतंत्र की प्रथा के विरुद्ध है.

राजस्थान में भी बाढ़ से काफी नुकसान

राहुल गांधी इसके पहले राजस्थान में भी बाढ़ प्रभावित इलाकों में पहुंचे और कहा कि प्रदेश में बाढ़ से काफी नुकसान हुआ है, कांग्रेस बाढग्रस्त प्रभावितों की मदद करेगी.

राहुल शुक्रवार को राजस्थान के बाढ़ प्रभावित जालौर जिले के सांचौर समेत अन्य स्थानों का जायजा लेने के बाद संवाददाताओं से बातचीत कर रहे थे. उन्होंने कहा कि उन्होंने सचिन पायलट और अशोक गहलोत को बाढ़ प्रभावितों की मदद करने के लिए कहा है. कांग्रेस बाढ़ प्रभावितों की मदद कर रही है और आगे भी करेगी.

उन्होंने कहा कि राजस्थान सरकार ने राहत कार्यों में थोड़ी कमी की है. अभी भी कई स्थानों पर पानी जमा है, जमा पानी को निकालने का काम शुरू नहीं हुआ है. राहुल ने यहां बाढ़ प्रभावित गावों का जायजा लिया और लोगों से बातचीत की. उन्होंने प्रभावित लोगों को पार्टी की ओर से राहत सामग्री भी वितरित की.

(समाचार एजेंसी भाषा और एएनआई से इनपुट के साथ)