भारत

यूपी: परिवार की मर्ज़ी के बिना शादी करने पर भाइयों ने बहन की हत्या कर खेत में दफ़नाया

मामला मैनपुरी के फरंजी का है, जहां बीते जून में 24 वर्षीय चांदनी ने परिवार की इच्छा के ख़िलाफ़ प्रतापगढ़ के अर्जुन जाटव से मंदिर में विवाह किया था. पुलिस ने बताया कि बीते शुक्रवार चांदनी का शव फरंजी में परिवार के खेत में दफ़न मिला. हत्या के आरोप में उनके दो भाइयों और मां को हिरासत में लिया गया है.

Screenshot (403)

मैनपुरी (यूपी): उत्तर प्रदेश के मैनपुरी जिले में कथित ऑनर किलिंग का मामला सामने आया है जहां भाइयों ने ही बहन की कथित तौर पर हत्याकर शव खेत में दफना दिया था. पुलिस ने शव को बाहर निकाल दोनों आरोपियों को हिरासत में ले लिया है.

पुलिस ने बताया कि शुक्रवार को किशनी थाना क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम फरंजी में एक खेत में दफन अर्जुन जाटव की पत्नी चांदनी कश्यप (24) का शव निकाला गया. मामले में आरोपी चांदनी के दोनों भाइयों और मां को हिरासत में ले लिया गया है.

उन्होंने बताया कि पीड़िता की शादी से दोनों भाई नाराज थे, जिसकी वजह से उन्होंने यह कदम उठाया.

पुलिस के मुताबिक, प्रतापगढ़ जिले के थाना लालगंज के ग्राम टोडरपुर के अर्जुन जाटव (26) और चांदनी ने अपने माता-पिता की इच्छा के विरुद्ध 12 जून, 2020 को एक मंदिर में प्रेम विवाह किया था.

उन्होंने बताया कि चांदनी मैनपुरी में किशनी थाना क्षेत्र के अंतर्गत फरंजी गांव की रहने वाली थी, जबकि अर्जुन दिल्ली में एक फैक्ट्री में कार्यरत था ,जहां कुछ वर्ष पहले चांदनी अपने रिश्तेदारों के साथ रहने गई थी और इसी दौरान दोनों के बीच प्रेम संबंध शुरू हो गया.

पुलिस ने बताया कि दोनो ने चांदनी के परिवार की इच्छा के खिलाफ 12 जून, 2020 को प्रतापगढ़ के एक मंदिर में शादी कर ली और दिल्ली में रहने लगे.

पुलिस ने बताया कि 17 नवंबर, 2020 को चांदनी अपने भाई सुधीर और सुनील के फोन करने पर दिल्ली से अपने गांव आई, इस बीच अर्जुन ने कई बार फोन से चांदनी से संपर्क करने का प्रयास किया लेकिन कोई जवाब नहीं मिला.

उन्होंने बताया कि 23 नवंबर, 2020 को अर्जुन अपनी मां और परिवार के सदस्यों के साथ गांव फरंजी पहुंचा और परिवार के सदस्यों से चांदनी के बारे में पूछताछ की, लेकिन उन्होंने बताया कि वह वापस दिल्ली चली गई है.

पुलिस ने बताया कि इसके बाद अर्जुन ने चांदनी के भाइयों सुधीर और सुनील के खिलाफ दिल्ली के मयूर विहार पुलिस थाने में अपहण की प्राथमिकी दर्ज कराई जिसके आधार पर दिल्ली पुलिस ने गांव फरंजी पहुंचकर चांदनी के बारे में पूछताछ की.

उन्होंने बताया कि सुधीर और सुनील से कड़ाई से पूछताछ करने पर पता चला कि चांदनी की हत्या कर शव एक खेत में दफना दिया गया है.

स्थानीय पुलिस ने बताया कि दिल्ली पुलिस ने किशनी पुलिस के साथ गुरुवार को को पीड़िता के भाइयों की निशानदेही पर खेत में खुदाई शुरू की लेकिन आठ घंटे खुदाई करने के बाद भी शव का पता नहीं चला.

पुलिस ने बताया कि शुक्रवार को सुखरानी (चांदनी की मां) द्वारा बताई गई जगह पर खुदाई की गई तो आठ फिट की गहराई में चांदनी का शव मिला.

पुलिस अधीक्षक अविनाश पांडे ने शनिवार को बताया कि भाइयों सुधीर, सुनील और सुखरानी को हिरासत में ले लिया गया है और दिल्ली पुलिस ने मामले को अपहरण से हत्या में बदल दिया है.

पुलिस अधीक्षक ने कहा कि एक पूर्व नियोजित साजिश के तहत चांदनी को दिल्ली से बुलाया गया था और गोली मारकर उसकी हत्या की गई थी और शव खेत में दफना दिया गया था. उन्होंने बताया कि शव को बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है.