दुनिया

कोरोना वायरस: देश में छह महीने बाद नए मामलों की संख्या 20 हज़ार से कम

भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 10,075,116 हो गए हैं. वहीं मृतक संख्या 146,111 हो गई है. विश्व में संक्रमण के मामले 7.7 करोड़ से ज़्यादा है, जबकि 17.02 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है.

Health workers collect personal data from a man as they prepare a list during a door-to-door survey for the first shot of COVID-19 vaccine for people above 50 years of age and those with comorbidities, in a village on the outskirts of Ahmedabad, India, December 14, 2020. REUTERS/Amit Dave##########x##########

कोरोना वायरस को लेकर गुजरात के अहमबदाबाद शहर के नजदीक एक गांव में घर घर जाकर लोगों का सर्वे करते स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी. (फोटो: रॉयटर्स)

नई दिल्ली: भारत में करीब छह महीने बाद 24 घंटे की अवधि में सामने आए कोविड-19 के नए मामलों की संख्या 20 हजार से कम रही. इससे पहले जून महीने में नए मामलों की संख्या 20 हजार से कम रही थी.

वहीं इलाज करा रहे लोगों यानी सक्रिय मामलों की संख्या भी अब तीन लाख से कम हो गई है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से सुबह आठ बजे जारी किए गए अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, कोविड-19 के 19,556 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमण के मामले बढ़कर 10,075,116 हो गए हैं. वहीं 301 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 146,111 हो गई है.

आंकड़ों के अनुसार, कुल 9,636,487 लोगों के संक्रमण मुक्त होने के साथ ही देश में मरीजों के ठीक होने की दर बढ़कर 95.65 प्रतिशत हो गई है. वहीं कोविड-19 से मृत्यु दर 1.45 प्रतिशत है.

देश में इलाज करा रहे लोगों की संख्या भी तीन लाख से कम हो गई है. अभी 292,518 लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है, जो कुल मामलों का 2.90 प्रतिशत है.

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के अनुसार देश में 21 दिसम्बर तक 163,170,557 नमूनों की कोविड-19 संबंधी जांच की गई, जिनमें से 1,072,228 नमूनों की जांच सोमवार को की गई.

आंकड़ों के मुताबिक, भारत में कोविड-19 संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 10 लाख से 20 लाख (सात अगस्त को) तक पहुंचने में 21 दिनों का समय लगा था, जबकि 20 से 30 लाख (23 अगस्त को) की संख्या होने में 16 और दिन लगे. हालांकि 30 लाख से 40 लाख (पांच सितंबर) तक पहुंचने में मात्र 13 दिनों का समय लगा है.

वहीं, 40 लाख के बाद 50 लाख (16 सितंबर को) की संख्या को पार करने में केवल 11 दिन लगे. मामलों की संख्या 50 लाख से 60 लाख (28 सितंबर को) होने में 12 दिन लगे थे. 60 से 70 लाख (11 अक्टूबर) होने में इसे 13 दिन लगे. 70 से 80 लाख (29 अक्टूबर को) होने में 19 दिन लगे और 80 से 90 लाख (20 नवंबर को) होने में 13 दिन लगे. 90 लाख से एक करोड़ (19 दिसंबर को) होने में 29 दिन लगे.

देश में 110 दिन में कोविड-19 के मामले एक लाख हुए थे और 59 दिनों में वह 10 लाख के पार चले गए थे.

वायरस के मामले और मौतें

24 घंटे में सामने आए नए मामलों की बात करें तो बीते 21 दिसंबर को 24,337, 20 दिसंबर को 26,624, 19 दिसंबर को 25,153, 18 दिसंबर 22,890, 17 दिसंबर को 24,010, 16 दिसंबर को 26,382, 15 दिसंबर को 22,065, 14 दिसंबर को 27,071, 13 दिसंबर को 30,254, 12 दिसंबर को 30,006, 11 दिसंबर को 29,398, 10 दिसंबर को 31,521, नौ दिसंबर को 32,080, आठ दिसंबर को 26,567, सात दिसंबर को 32,981, छह दिसंबर को 36,011, पांच दिसंबर को 36,652, चार दिसंबर को 36,595, तीन दिसंबर को 35,551, दो दिसंबर को 36,604 और एक दिसंबर को 31,118 नए मामले सामने आए थे.

इसी तरह बीते 24 घंटे के दौरान 21 दिसंबर को 333, 20 दिसंबर को 341, 19 दिसंबर को 347, 18 दिसंबर 338, 17 दिसंबर को 355, 16 दिसंबर को 387, 15 दिसंबर को 354, 14 दिसंबर को 336, 13 दिसंबर को 391, 12 दिसंबर को 442, 11 दिसंबर को 414, 10 दिसंबर को 412, नौ दिसंबर को 402, आठ दिसंबर को 385, सात दिसंबर को 391, छह दिसंबर को 482, पांच दिसंबर को 512, चार दिसंबर को 540, तीन दिसंबर को 526, दो दिसंबर को 501 और एक दिसंबर को 482 लोगों की मौत हुई.

नवंबर महीने 24 घंटे के दौरान सात नवंबर को संक्रमण के अधिकतम 50,356 मामले सामने आए थे और पांच नवंबर को संक्रमण से अधिकतम 704 लोगों की मौत हुई थी.

अक्टूबर महीने की बात करें तो एक तारीख को अधिकतम 86,821 और 28 अक्टूबर को न्यूनतम 43,893 मामले 24 घंटे के दौरान सामने आए थे. अक्टूबर में 24 घंटे में मरने वालों की अधिकतम संख्या 1 अक्टूबर को 1,181 थी.

सात सितंबर को 90,802 और 30 सितंबर को 80,472 नए मामले दर्ज किए गए थे. सात से 30 सितंबर के बीच नए मामलों की संख्या घटती बढ़ती रही. इस अवधि में 22 सितंबर को 75,083 (न्यूनतम) और 17 सितंबर को 97,894 (अधिकतम) मामले दर्ज किए गए थे, जो अब तक का सर्वाधिक आंकड़ा भी है.

छह सितंबर को संक्रमण के नए मामले पहली बार 90 हजार (90,632) के पार हो गए थे. 28 अगस्त को पहली बार 70 हजार (75,760) के पार, सात अगस्त को पहली बार 60 हजार (62,538) के पार, 30 जुलाई को पहली बार 50 हजार के पार हो गए थे.

इसी तरह 20 जुलाई को यह पहली बार 40 हजार के पार, 16 जुलाई को पहली बार 30 हजार के पार, 10 जुलाई को पहली बार 25 हजार (26,506) के पार, तीन जुलाई को पहली बार 20 हजार के पार, 21 जून को पहली बार 15 हजार के पार और 20 जून को संक्रमण के नए मामलों की संख्या पहली बार 14 हजार के पार हुई थी.

सितंबर महीने में एक दिन में मरने वालों की बात करें तो एक सितंबर को इनकी संख्या 819 और 29 सितंबर को न्यूनतम 776 थी. इन दो तारीखों के अलावा पूरे महीने हर दिन मरने वालों की संख्या एक हजार से अधिक रही है. 16 सितंबर को 1290 लोगों की जान गई, जो एक दिन में मरने वालों का सर्वाधिक आंकड़ा है.

10 अगस्त से 31 अगस्त तक बीते 24 घंटे या एक दिन में मरने वालों की संख्या 1007 से अधिकतम 1,092 (19 अगस्त का आंकड़ा) के बीच रही. 24 जुलाई से नौ अगस्त के बीच एक दिन या 24 घंटे में मौत का आंकड़ा 700 से लेकर 933 (आठ अगस्त का आंकड़ा) के बीच रहा है. एक जुलाई से 23 जुलाई के बीच यह आंकड़ा 507 से 1,129 के बीच रहा.

11 जून से 30 जून के बीच मरने वालों की संख्या 300 से 500 के अंदर रही है. 22 जून को एक दिन में मरने वालों की संख्या पहली बार 400 से अधिक रही थी. और 11 जून को पहली बार मरने वालों की संख्या 300 के आंकड़े को पार कर गई थी.

दुनियाभर में मामले 7.7 करोड़ से ज़्यादा, 17.02 लाख से अधिक लोगों की मौत

अमेरिका की जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार, पूरी दुनिया में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 77,364,641 हो गए हैं और अब तक 1,702,596 लोगों की जान जा चुकी है.

दुनियाभर में कोरोना से अमेरिका सबसे अधिक प्रभावित देश है. यहां संक्रमण के अब तक 17,844,839 मामले सामने आए हैं, जबकि मरने वालों की संख्या 317,670 हो चुकी है.

भारत संक्रमण से सर्वाधिक प्रभावित दूसरा देश है. भारत के बाद तीसरे सर्वाधिक प्रभावित देश ब्राजील में संक्रमण के अब तक 7,263,619 मामले मिले हैं और 187,291 लोग दम तोड़ चुके हैं.

ब्राजील के बाद चौथे प्रभावित देश रूस में संक्रमण के 2,850,042 मामले आए हैं, जबकि 50,723 मरीजों की मौत दर्ज की जा चुकी है.

रूस के बाद पांचवें सर्वाधिक प्रभावित फ्रांस में संक्रमण के 2,535,716 मामले आए हैं, जबकि 61,019 मरीजों की मौत दर्ज की जा चुकी है.

फ्रांस के बाद छठे सर्वाधिक प्रभावित देश ब्रिटेन में संक्रमण के 2,079,678 मामले हैं और 67,718 लोगों ने जान गंवा दी है. ब्रिटेन के बाद सातवें सर्वाधिक प्रभावित देश तुर्की में संक्रमण के 2,043,704 मामले सामने आए हैं और 18,351 मौतें हुई हैं.

तुर्की के बाद आठवें सर्वाधिक प्रभावित देश इटली में संक्रमण के 1,964,054 मामले दर्ज हुए हैं, जबकि 69,214 मौतें हुई हैं. इटली के बाद नौवें प्रभावित देश स्पेन में संक्रमण के 1,819,249 मामले सामने आए हैं और 49,260 मौतें हुई हैं.

स्पेन के बाद 10वें सर्वाधिक प्रभावित देश अर्जेंटीना में 1,547,138 मामले सामने आ चुके हैं, जबकि 41,997 लोगों की यह महामारी जान ले चुकी है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)