भारत

किसान आंदोलन में शामिल नेता राकेश टिकैत को मिली जान से मारने की धमकी

उत्तर प्रदेश की ग़ाज़ियाबाद पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. कृषि क़ानूनों के लेकर दिल्ली की सीमाओं पर हो रहे प्रदर्शन को समाप्त करने के लिए किसान संगठनों और केंद्र सरकार के बीच हो रही बातचीत में शामिल किसान नेताओं में से एक भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत भी हैं.

राकेश टिकैट. (फोटो: पीटीआई)

राकेश टिकैट. (फोटो: पीटीआई)

गाजियाबाद: कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन में शामिल भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू) के नेता राकेश टिकैत को जान से मारने की धमकी उनके फोन पर मिलने की शिकायत पर शनिवार को प्राथमिकी दर्ज की गई. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने यह जानकारी दी.

नगर पुलिस अधीक्षक (द्वितीय) ज्ञानेंद्र सिंह ने बताया कि टिकैत के निजी सहायक अर्जुन बालियान ने शिकायत दर्ज कराई कि एक अज्ञात कॉलर ने किसान नेता को जान से मारने की धमकी दी.

उन्होंने कहा कि शिकायत में उल्लेखित फोन नंबर को सर्विलांस पर डाला गया है और फोन करने वाले की पहचान करने के प्रयास जारी हैं. फोन कॉल शनिवार शाम को आई थी.

आज तक की रिपोर्ट के अनुसार, किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा, ‘बिहार से एक फोन आया था, जिसमें कहा गया हथियारों की जरूरत है क्या? बताओ कितने हथियार भिजवाने हैं, तुम्हें मारने का प्लान है.’

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार, यह एफआईआर उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद स्थित कौशांबी पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज की गई है.

यह मामला आईपीसी की धारा 507 के तहत दर्ज किया गया है, जो गुमनाम संचार द्वारा आपराधिक धमकी के आरोपों के लिए है.

टिकैत की सुरक्षा के लिए गाजीपुर बॉर्डर पर पर्याप्त व्यवस्था की गई है. मामले की आगे की जांच के लिए पुलिस ने एक विशेष दल का भी गठन किया है.

बता दें कि कृषि क़ानूनों के लेकर दिल्ली की सीमाओं पर हो रहे प्रदर्शन को समाप्त करने के लिए किसान संगठनों और केंद्र सरकार के बीच हो रही बातचीत में शामिल किसान नेताओं में से एक भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत भी हैं.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)