भारत

महाराष्ट्र: ज़मानत पर छूटे बलात्कार आरोपी ने यौन उत्पीड़न के बाद तीन साल की बच्ची की हत्या की

मामला रायगढ़ ज़िले का है. पुलिस ने बताया कि 34 वर्षीय आदेश पाटिल ने बुधवार तड़के गांव के घर से एक बच्ची का अपहरण कर कथित तौर पर बलात्कार किया और फिर उसकी हत्या कर दी. पाटिल पर कई मामले दर्ज हैं और दस दिन पहले ही वह बलात्कार के एक मामले में ज़मानत पर बाहर आया था.

Raigad Maharashtra

मुंबई: महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले में जमानत पर बाहर आए बलात्कार के एक आरोपी ने तीन वर्षीय एक बालिका का कथित तौर पर यौन उत्पीड़न किया और उसकी हत्या कर दी. पुलिस ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी.

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि आदेश पाटिल (34) ने बुधवार को तड़के रायगढ़ जिले के एक गांव में अपने घर में माता-पिता के पास सो रही बालिका का अपहरण कर लिया था. पीड़ित परिवार एक आदिवासी समुदाय से है.

उन्होंने बताया कि पाटिल बालिका को एक स्कूल के पीछे एक सुनसान स्थान पर ले गया जहां उसने उससे कथित तौर पर बलात्कार किया और उसकी हत्या कर दी.

अधिकारी ने बताया कि उसकी दादी को बालिका मिली. उसे एक सरकारी अस्पताल ले जाया गया जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया.

उन्होंने बताया कि पाटिल को उसी समय इलाके में घूमते देखा गया था, इसलिए पुलिस को इस जघन्य अपराध में उसकी संलिप्तता का संदेह है.

उन्होंने बताया कि उसके खिलाफ कई मामले दर्ज हैं और दस दिन पहले ही वह बलात्कार के एक मामले में जमानत पर बाहर आया था.

अधिकारी ने बताया कि पाटिल का पता लगाने के लिए एक विशेष टीम गठित की गई थी. उन्होंने बताया कि उसे बुधवार की शाम गिरफ्तार कर लिया गया और एक अदालत ने उसे बृहस्पतिवार को आठ जनवरी तक पुलिस हिरासत में भेज दिया.

उन्होंने बताया कि उसके खिलाफ यौन अपराधों से बच्चों का संरक्षण करने संबंधी अधिनियम (पोक्सो) और अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार, घटना से नाराज स्थानीय लोगों ने धरना दिया और गुरुवार को बंद आयोजित किया.

महाराष्ट्र सरकार में मंत्री और रायगढ़ जिले की एक विधायक अदिति टटकरे ने एक ट्वीट कर अनिल देशमुख से आरोपी की त्वरित सुनवाई करवाकर सख्त सजा दिलवाने की मांग की.

उन्होंने पीड़ित परिवार के लिए सहायता राशि दिए जाने की भी मांग की.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)