दुनिया

अगर ट्रंप ने तत्काल इस्तीफ़ा नहीं दिया तो उनके ख़िलाफ़ महाभियोग लाया जाएगा: नैंसी पेलोसी

अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष नैंसी पेलोसी और डेमोक्रेट्स का मानना है कि कैपिटल बिल्डिंग में ट्रंप समर्थकों की हिंसा के बाद डोनाल्ड ट्रंप को तत्काल पद से हटाया जाना चाहिए. पेलोसी ने कहा कि अगर ट्रंप ऐसा नहीं करते हैं तो सांसद जेमी रस्किन के 25वें संशोधन और महाभियोग के प्रस्ताव के साथ आगे बढ़ा जाएगा.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप. (फोटो: रॉयटर्स)

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप. (फोटो: रॉयटर्स)

वाशिंगटन: अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष नैंसी पेलोसी ने कहा कि अगर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भीड़ को कैपिटल इमारत में घुसने के लिए भड़काने के मामले में ‘तत्काल’ इस्तीफा नहीं देते हैं तो सदन उन्हें हटाने के लिए महाभियोग लाने संबंधी प्रक्रिया के साथ आगे बढ़ेगी.

तीन नवंबर को आयोजित चुनाव में ट्रंप की हार के बाद जो बाइडेन 20 जनवरी को राष्ट्रपति पद की शपथ लेंगे.

पेलोसी और डेमोक्रेट नेता यह मानते हैं कि बुधवार को कैपिटल बिल्डिंग (संसद) में ट्रंप के समर्थकों के घुसने की घटना के बाद ट्रंप को तत्काल पद से हटाया जाना चाहिए.

पेलोसी ने शुक्रवार को एक बयान में कहा, ‘सदस्य उम्मीद करते हैं कि ट्रंप तत्काल इस्तीफा दे देंगे. लेकर अगर वह ऐसा नहीं करते हैं तो मैंने रूल्स कमेटी को निर्देश दिया है कि वे सांसद जेमी रस्किन के 25वें संशोधन और महाभियोग के प्रस्ताव के साथ आगे बढ़ें.’

हाउस डेमोक्रेटिक कॉकस की इस मुद्दे पर घंटों चली बातचीत के बाद उन्होंने कहा, ‘नियम के अनुसार सदन सभी विकल्पों को सुरक्षित रखेगा जिनमें 25वां संशोधन, महाभियोग का प्रस्ताव, महाभियोग के लिए विशेषाधिकार प्रस्ताव शामिल है.’

भारतीय-अमेरिकी सांसद प्रमिला जयपाल ने कहा कि महाभियोग प्रक्रिया तत्काल शुरू कर देनी चाहिए.

सांसद कइयालीई कहेले ने कहा कि वह ट्रंप को राष्ट्रपति पद से हटाने का पूरी तरह समर्थन करते हैं, चाहे वह 25 वां संशोधन के इस्तेमाल के जरिये हो या उनके खिलाफ महाभियोग का चौथा अनुच्छेद लाना हो.

उन्होंने कहा कि ट्रंप के व्हाइट हाउस में बने रहने से अमेरिका को असुरक्षा है.

विदेशी मामलों पर हाउस कमेटी के अध्यक्ष सांसद ग्रेगरी मीक्स ने कमेटी के डेमोक्रेटिक सांसदों द्वारा ट्रंप पर महाभियोग चलाने की मांग का नेतृत्व किया.

पेलोसी को लिखे पत्र में सांसदों ने कहा है कि लोकतंत्र के मामले में अमेरिका की वैश्विक नेतृत्व की स्थिति और कानून के शासन को बहाल करने के लिए उन्हें जिम्मेदार ठहराया जाना बेहद जरूरी है.

इससे पहले नैंसी पेलोसी ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को सैन्य कार्रवाई शुरू करने या परमाणु हमले करने से रोकने को लेकर शुक्रवार को ‘ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ’ के चेयरमैन से बात की.

पेलोसी ने प्रतिनिधि सभा के डेमोक्रेटिक सदस्यों को लिखे एक पत्र में कहा कि उन्होंने एक अस्थिर राष्ट्रपति को सैन्य शत्रुता शुरू करने या (परमाणु मिसाइल दागने के लिए) ‘लॉन्च कोड’ तक पहुंचने और परमाणु हमले का आदेश देने से रोकने के लिए उपलब्ध एहतियातों पर चर्चा करने के लिए जनरल मार्क मिले के साथ बात की.

राष्ट्रपति ट्रंप को उनके पद से हटाने की अपनी मांग को दोहराते हुए उन्होंने कहा, ‘इस अस्थिर राष्ट्रपति की स्थिति अब इससे अधिक खतरनाक क्या हो सकती है, और हमें वह सब कुछ करना चाहिए जो हम अमेरिकी लोगों और अपने देश और हमारे लोकतंत्र पर मनमाने हमले को रोकने के लिए कर सकते हैं.’

उन्होंने कहा, ‘आज, राष्ट्रपति के खतरनाक कृत्यों के बाद, संसद में रिपब्लिकन को ट्रंप को तुंरत अपना पद छोड़ने के लिए दबाव बनाने की आवश्यकता है. यदि राष्ट्रपति स्वेच्छा से पद नहीं छोड़ते हैं, तो कांग्रेस (संसद) आगे कार्रवाई करेगी.’

ट्रंप 20 जनवरी को पद छोड़ने वाले हैं, जब डेमोक्रेट जो बाइडेन राष्ट्रपति पद की शपथ लेंगे.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)