भारत

मध्य प्रदेश: महिला से सामूहिक बलात्कार के बाद प्राइवेट पार्ट में सरिया डाला

घटना मध्य प्रदेश के सीधी ज़िले के अमिलिया थाना क्षेत्र में बीते नौ जनवरी को हुई. पुलिस ने चारों आरोपियों को गिरफ़्तार कर लिया है. महिला को गंभीर हालत में रीवा शहर के संजय गांधी मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है.

(प्रतीकात्मक फोटोः रॉयटर्स)

(प्रतीकात्मक फोटोः रॉयटर्स)

इंदौर: मध्य प्रदेश के सीधी जिले में चार युवकों द्वारा 45 वर्षीय एक महिला से सामूहिक बलात्कार का मामला सामने आया है. इतना ही नहीं आरोपियों ने महिला के प्राइवेट पार्ट में लोहे की रॉड डाल दी थी.

पुलिस ने चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. उनकी उम्र 21 से 65 वर्ष बताई जा रही है. महिला के पति का कुछ वर्ष पहले ही निधन हो गया था. यह घटना बीते नौ जनवरी की रात मध्य प्रदेश के सीधी जिले के अमिलिया थाना क्षेत्र के एक गांव में हुई है.

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के अनुसार, महिला ने गांव के चौराहे पर चाय की एक दुकान खोली हुई थी. उनके 19 और 17 साल के दो बेटे गुजरात के सूरत शहर में काम करते हैं.

नौ जनवरी की रात महिला और उनकी छोटी बहन दुकान में थीं. चारों आरोपी महिला के गांव के ही रहने वाले हैं. आरोपियों ने उनकी दुकान पर पहुंच कर उनसे पानी और गुटका मांगा था.

रिपोर्ट के अनुसार, महिला के मना करने की वजह से चारों नाराज हो गए और बंधक बनाकर उनके साथ बलात्कार किया. इतना ही नहीं विरोध करने की वजह से उनके प्राइवेट पार्ट में सरिया डाल दिया. महिला को गंभीर हालत में रीवा शहर के संजय गांधी मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है.

गिरफ्तार किए गए चारों आरोपियों में से दो की पहचान लल्लू कोल और भाईलाल पटेल के रूप में हुई है.

बीते 10 जनवरी को जिला अस्पताल के डॉक्टरों ने ऑपरेशन के माध्यम से महिला के शरीर से सरिया निकाला था. हालत बिगड़ने के बाद उन्हें रीवा के संजय गांधी अस्पताल रिफर कर दिया गया.

आईजी रीवा उमेश जोगा ने बताया कि अमिलिया थाने में आईपीसी की धारा 376 (बलात्कार), 324 (जख्मी करना), 452 (बिना अनुमति घर में घुसना, चोट पहुंचाने के लिए हमले की तैयारी), 34 (सामान्य इरादे के साथ किया गया आपराधिक कृत्य) के तहत केस दर्ज कर लिया गया है.

घटना को लेकर कांग्रेस ने सरकार और पुलिस प्रशासन की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए हैं.

इस घटना पर मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर कहा, ‘सीधी जिले के अमिलिया थाना क्षेत्र में एक महिला के साथ घटित दरिंदगी व हैवानियत की घटना बेहद शर्मसार करने वाली है. प्रदेश में बहन-बेटियों के साथ अत्याचार व दरिंदगी की घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही है, सरकार इस दिशा में कड़े कदम उठाए सिर्फ कन्या पूजन से ही काम नहीं चलेगा.’

बता दें कि शिवराज सिंह चौहान ने महिलाओं के खिलाफ अपराध के प्रति जागरूकता फैलाने के लिए सोमवार को ही सम्मान अभियान शुरू करने का ऐलान किया है.

मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने घटना के बाद डीजीपी विवेक जौहरी से बात की. उन्होंने निर्देश दिए कि आरोपियों पर सख्त कार्रवाई की जाए. उनके अनुसार, पुलिस को निर्देश दिए गए हैं कि आरोपियों के खिलाफ तय समय सीमा में चार्जशीट तैयार करें. मिश्रा ने कहा कि मामला कोर्ट में स्पेशल ट्रायल कराकर आरोपियों को सख्त सजा दिलाई जाएगी.

मालूम हो कि बीते तीन जनवरी को ऐसी ही एक घटना उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले के एक गांव में घटी. महिला से मंदिर के पुजारी समेत तीन लोगों ने कथित तौर गैंगरेप किया और उनके भी प्राइवेट पार्ट में लोहे की रॉड डाल दी गई थी. घटना के बाद अत्यधिक रक्तस्राव से महिला की मौत हो गई थी.