भारत

मध्य प्रदेश: मुरैना में ज़हरीली शराब पीने से 11 लोगों की मौत, कई बीमार

घटना मुरैना ज़िले के बागचीनी और सुमावली थाना क्षेत्र की है. पुलिस के अनुसार कुछ ग्रामीणों ने सफ़ेद रंग की शराब का सेवन किया, जिसके बाद उनकी तबियत बिगड़ी. मामले में संबंधित थाना प्रभारी को सस्पेंड कर दिया गया है.

Morena

मुरैना: मध्य प्रदेश के मुरैना जिले में जहरीली शराब पीने से करीब 11 लोगों की मौत हुई है और आठ लोग बीमार पड़ गए हैं, उनकी हालत गंभीर है. घटना बागचीनी थाना के मानपुर पृथ्वी गांव और सुमावली थाना के पहावली गांव की है.

मुरैना के पुलिस अधीक्षक अनुराग सुवानिया ने कहा कि प्रारंभिक रिपोर्टों के अनुसार कुछ ग्रामीणों ने सफेद रंग की शराब का सेवन किया था.

उन्होंने कहा, ‘सोमवार की रात मानपुर और पहवाली गांवों के ग्यारह लोगों की नकली शराब के सेवन के बाद मौत हो गई.’

उन्होंने बताया कि आठ अन्य गंभीर रूप से बीमार पड़ गए और उन्हें इलाज के लिए ग्वालियर रेफर कर दिया गया है.

साथ ही उन्होंने कहा कि शवों का पोस्टमॉर्टम चल रहा है. उनकी मौत जहरीली शराब से हुई है या कोई अन्य कारण है इसका पता पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही चलेगा.

अमर उजाला के मुताबिक, घटना की सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने बीमार लोगों को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया. वहीं मृतकों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है.

सोमवार सुबह सबसे पहले बागचीनी थाना क्षेत्र के मानपुर जहरीली शराब पीने से एक व्यक्ति की हालत बिगड़ गई थी, जिसके बाद परिजन गंभीर हालत में लेकर उसे ग्वालियर जाने लगे, जहां रास्ते में उसने दम तोड़ दिया.

व्यक्ति का शव लेकर जब परिजन गांव पहुंचे तो पता चला कि गांव में शराब पीने की वजह से कई और लोगों की तबियत बिगड़ गई है.

इसके कुछ देर बाद 6 और लोगों की भी मौत हो गई, जिसके बाद सूचना पर स्थानीय पुलिस भी पहुंच गई और बीमार को लोगों को मुरैना जिला अस्पताल में भर्ती कराया. जहां तीन और लोगों की इलाज के दौरान मौत हो गई.

मुरैना जिला अस्पताल के डॉ. राघवेंद्र सिंह ने बताया कि सभी लोगों की मौत जहरीली शराब पीने से हुई है. वहीं, कई की तबियत खराब है.

मरने वालों में सात मानपुर के पृथ्वी गांव और तीन सुमावली के पहवाली गांव के हैं. इस बीच मध्य प्रदेश के कैबिनेट मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने इस घटना पर दुख व्यक्त किया है.

उन्होंने कहा, ‘मुरैना में जहरीली शराब पीने से हुई मौतों की घटना बेहद दुखद और पीड़ादायक है. इस मामले में संबंधित थाना प्रभारी को सस्पेंड कर दिया गया है. जांच के लिए अलग से एक दल भी भेजा जा रहा है. घटना के लिए जिम्मेदार कोई भी दोषी बख्शा नहीं जाएगा’

उन्होंने कहा, ‘मुरैना में जहरीली शराब पीने से 10 लोगों की घटना से मैं बहुत दुखी हूं. एसएचओ को तत्काल निलंबित कर दिया गया है. वरिष्ठ अधिकारी घटना स्थल पर पहुंच गए हैं. एक टीम मामले की जांच करेगी. आरोपी को नहीं बख्शा जाएगा.’

 

बता दें इससे पहले बीते अक्टूबर महीने में मध्य प्रदेश के उज्जैन जिले में जहरीली शराब पीने से 14 लोगों की मौत हो गई थी. मरने वालों में 10 मजदूर हैं और एक व्यक्ति ठेला लगाता था. वहीं, तीन अज्ञात थे

तब मामले में लापरवाही के आरोप में चार पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया था और घटना की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया था.

मालूम हो कि तीन दिन पहले नौ जनवरी को उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले के सिकंदराबाद थानाक्षेत्र के गांव जीतगढ़ी में कथित तौर पर जहरीली शराब पीने से पांच व्यक्तियों की मौत हो गई और 16 लोग बीमार हो गए थे.