भारत

बिहारः मूक बधिर नाबालिग लड़की के साथ सामूहिक बलात्कार करने के बाद उसकी आंख फोड़ दी

बिहार के मधुबनी ज़िले के हरलाखी थाना क्षेत्र के एक गांव में मंगलवार को हुई घटना. मामले में तीन लोगों को गिरफ़्तार किया गया है बताया जा रहा है कि आरोपियों ने पहचान उजागर होने के डर से किसी नुकीली चीज़ से लड़की की दोनों आंखें क्षतिग्रस्त कर दीं.

Madhubani Bihar map

मधुबनीः बिहार के मधुबनी जिले में पंद्रह साल की नाबालिग लड़की से सामूहिक बलात्कार का मामला सामने आया है. लड़की बोल और सुन नहीं सकती है. बलात्कार के बाद अपराधियों ने लड़की की दोनों आंखें भी फोड़ दी है.

पीड़िता की हालत बेहद गंभीर बनी हुई है.

यह घटना मधुबनी के हरलाखी थाना क्षेत्र के एक गांव में मंगलवार दोपहर को उस समय हुई, जब नाबालिग अपनी बकरियों को चराने लेकर गई थी.

पुलिस का कहना है कि इस संबंध में तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है. सभी आरोपी उसी गांव के हैं.

गांव के मुखिया राम एकबाल मंडल ने बताया कि वह नाबालिग लड़की कुछ बच्चों के साथ गांव के बाहर बकरी चराने गई थी.

मंडल ने बताया कि पड़ोसी गांव मनोहरपुर के एक चौर में लड़की बेहोशी की हालत में मिली. इसके बाद एक बच्चे ने पीड़ित परिवार को घटना के बारे में बताया.

बताया जा रहा है कि गांव के बाहर पहले से मौजूद युवकों ने गेहूं के खेत में उसके साथ बलात्कार किया. विरोध करने पर खेत में ही किसी नुकीली चीज से उसकी दोनों आंखों पर हमला कर दिया.

लड़की बोल या सुन नहीं सकती है और संभावना है कि अपराधियों ने उसकी दोनों आंखें क्षतिग्रस्त कर दी ताकि वह उनकी पहचान न कर सके.

पुलिस का कहना है, इनमें से एक बच्चे ने इस घटना के बारे में पीड़िता के परिवार को जानकारी दी. लड़की पास के गांव के बंजर खेत से बेहोशी की हालत में मिली. लड़की को पास के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती किया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मधुबनी के अस्पताल में रेफर कर दिया. बाद में पीड़िता को मधुबनी सदर अस्पताल से भी दरभंगा के लिए रेफर कर दिया गया.

पीड़िता का इलाज करने वाले डॉक्टर अजीत कुमार सिंह के मुताबिक, पीड़िता की हालत गंभीर है. ऐसा लगता है कि उसकी एक आंख पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई है, जबकि दूसरी को गंभीर चोटें आई हैं.

इससे पहले हरलाखी पुलिस स्टेशन के एसएचओ प्रेम लाल पासवान ने बताया कि लक्ष्मी मुखिया के रूप में पहचाने गए संदिग्धों में से एक को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया था.

इस घटना के बाद गांव के लोगों में गुस्सा भरा हुआ है. पीड़िता के परिजनों की मांग है कि आरोपी को फांसी की सजा देने के साथ सरकार की ओर से पीड़िता के लिए बेहतर इलाज की व्यवस्था कराई जाए.

पुलिस ने कहा कि रेप पीड़िता 10वीं की छात्रा है और उसके पिता मजदूरी करते हैं.

मधुबनी के एसपी डॉ सत्यप्रकाश ने बताया कि घटना को लेकर पीड़िता के भाई के बयान पर मुख्य आरोपी को गिरफ्तार किया गया. पूछताछ की जा रही है. उसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी.

उन्होंने कहा कि पूरे मामले का स्पीडी ट्रायल कराया जाएगा. पीड़ित परिवार को सरकारी प्रावधान के मुताबिक मदद भी दी जाएगी.

(समाचार एजेंसी पीटीआई से इनपुट के साथ)