राजनीति

यूपी: आप विधायक पर स्याही फेंकने वाले को कांग्रेस विधायक ने सम्मानित करते हुए 51 हज़ार रुपये दिए

उत्तर प्रदेश के रायबरेली शहर में दिल्ली से आप विधायक सोमनाथ भारती पर स्याही फेंकी गई थी. स्याही फेंकने वाले को सम्मानित करने वाले राकेश सिंह कांग्रेस से विधायक हैं, लेकिन कांग्रेस से विधान परिषद के पूर्व सदस्य रहे उनके भाई दिनेश सिंह ने साल 2019 में जब सोनिया गांधी के ख़िलाफ़ भाजपा से चुनाव लड़ा, तब से वह भाजपा का समर्थन करने लगे.

**EDS: TWITTER IMAGE POSTED BY@AamAadmiParty ON MONDAY, JAN. 11, 2021**Rae Bareli: Aam Aadmi Party leader Somnath Bharti faced an ink attack in Rae Bareli where he had gone to inspect government schools. (PTI Photo)(PTI01 11 2021 000105B)

रायबरेली में पुलिस और लोगों से घिरे हुए आप विधायक सोमनाथ भारती. (फोटो: पीटीआई)

लखनऊ: हिंदू युवा वाहिनी के एक कार्यकर्ता द्वारा दिल्ली से आम आदमी पार्टी (आप) के विधायक सोमनाथ भारती पर रायबरेली में स्याही फेंकने के एक दिन बाद मंगलवार को हरचंदपुर (रायबरेली) से विधायक राकेश सिंह ने हमलावर की प्रशंसा की और उसे इनाम भी दिया.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, राकेश सिंह ने 34 वर्षीय जितेंद्र सिंह को रायबरेली स्थित अपने घर पर माला पहनाया और 51 हजार रुपये का नकद पुरस्कार दिया. जितेंद्र सिंह खुद के हिंदू युवा वाहिनी का जिला संयोजक होने का दावा करते हैं.

जितेंद्र सिंह ने दावा किया कि उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने के कारण भारती पर हमला किया. बता दें कि योगी आदित्यनाथ ने ही हिंदू युवा वाहिनी का गठन किया था.

मंगलवार को उन्होंने पत्रकारों को बताया, ‘आज विधायक राकेश सिंह के निमंत्रण पर मैं अपने संगठन के अन्य सदस्यों के साथ रायबरेली के सिविल लाइंस इलाके में स्थित उनके आवास पर पहुंचा. विधायक ने मुझे माला पहनाया और 51 हजार रुपये नकद दिया. उन्होंने रायबरेली में संगठन को मजबूत करने के लिए भी कहा.’

विधायक ने कहा, ‘आम आदमी पार्टी के पूर्व कानून मंत्री ने मुख्यमंत्री के बारे में अपमानजनक बयान दिए और इस युवक ने उन्हें उसी भाषा में मुंह काला करके जवाब दिया.’

आदित्यनाथ को देवतुल्य बताते हुए राकेश सिंह ने आगे कहा, ‘चूंकि उस आदमी ने आप नेता को उसी भाषा में जवाब दिया, जिसके वे हकदार थे. मैंने उसे 51,000 रुपये का नकद पुरस्कार देकर सम्मानित करने का फैसला किया. आदमी ने एक सही फैसला लिया, क्योंकि स्याही फेंकने से किसी को शारीरिक चोट नहीं लगती. साथ ही उन्होंने आप नेता को हमारे मुख्यमंत्री के बारे में अपमानजनक टिप्पणी करने का जवाब दिया.’

बता दें कि राकेश सिंह कांग्रेस की टिकट पर जीतकर विधायक बने थे, लेकिन कांग्रेस से विधान परिषद के पूर्व सदस्य और उनके भाई दिनेश सिंह ने जब साल 2019 में सोनिया गांधी के खिलाफ भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ा, उसके बाद से वह भाजपा का समर्थन करने लगे.

कुछ महीने पहले उत्तर प्रदेश विधान परिषद स्पीकर ने उन्हें अयोग्य घोषित करने की कांग्रेस की याचिका को खारिज कर दिया था.

रिपोर्ट के अनुसार, आप विधायक सोमनाथ भारती के खिलाफ विरोध तब शुरू हुआ, जब उन्होंने शनिवार को अमेठी में एक सार्वजनिक सभा के दौरान कथित रूप से महिलाओं के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी की और राज्य में अस्पतालों की आलोचना की.

सोमवार की सुबह दिल्ली के पूर्व कानून मंत्री के खिलाफ धरना देने के लिए रायबरेली के एक सरकारी गेस्ट हाउस पर हिंदू युवा वाहिनी के कार्यकर्ता पहुंच गए, जहां वह ठहरे थे.

एक सरकारी स्कूल देखने के लिए जाने के दौरान आप नेता को रास्ते में पुलिस द्वारा रोक लिया गया. इसी दौरान बहस में भारती ने कथित तौर पर आदित्यनाथ के खिलाफ टिप्पणी की, जिसके बाद जितेंद्र सिंह ने उन पर स्याही फेंक दी.

इसके बाद आप विधायक ने कथित तौर पुलिस अधिकारी से दुर्व्यवहार किया और उनका यूनिफॉर्म उतरवाने की धमकी दी. उन्हें अमेठी पुलिस ने कथित तौर महिलाओं और अस्पताल पर कई गई टिप्पणी के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया. शाम तक एक स्थानीय अदालत ने उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया.

मुख्यमंत्री के खिलाफ कथित टिप्पणी के आरोप में रायबरेली पुलिस ने आप नेता और 15 अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है.

उनके खिलाफ आरोपों में दंगा करना, दो समूहों के बीच दुश्मनी को बढ़ावा देना, स्वेच्छा से किसी लोक सेवक को अपने कर्तव्य का निर्वहन करने से रोकना और आपराधिक धमकी देना शामिल है.

पुलिस ने कहा कि भारती पर स्याही का हमला भी उनकी जांच का हिस्सा होगा. जांचकर्ता अब घटना के वीडियो और तस्वीरें एकत्र कर रहे हैं.