दुनिया

कोरोना: देश में टीकाकरण की शुरुआत, बीते चौबीस घंटे में आए संक्रमण के 15,158 नए मामले

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कोविड-19 टीकाकरण अभियान की शुरुआत के बाद पहले दिन तीन लाख से अधिक स्वास्थ्यकर्मियों को टीके की खुराक देने का लक्ष्य है. भारत में अब तक कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामले डेढ़ करोड़ से अधिक हो चुके हैं और संक्रमण से जान गंवाने वालों की संख्या डेढ़ लाख से ज़्यादा है.

(फोटो साभार: ट्विटर/स्वास्थ्य मंत्रालय)

(फोटो साभार: ट्विटर/स्वास्थ्य मंत्रालय)

नई दिल्ली: देश में कोविड-19 के 15,158 नए मामले सामने आने के साथ देश में संक्रमण के मामले बढ़कर 1,05,42,841 हो गए, वहीं संक्रमण से उबरने वालों की संख्या भी बढ़कर 1,01,79,715 हो गई. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह जानकारी दी.

मंत्रालय की ओर से जारी सुबह आठ बजे के अपडेटेड आंकड़ों के अनुसार देश में 175 और संक्रमितों की मौत हुई जिससे मृतक संख्या बढ़कर 1,52,093 हो गई है.

इसमें बताया गया कि संक्रमणमुक्त होने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 1,01,79,715 हो गई है तथा ठीक होने वालों की दर बढ़कर 96.56 फीसदी हो गई है. देश में कोरोना वायरस से मृतक दर 1.44 फीसदी है.

शनिवार को कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या तीन लाख से कम बनी रही. आंकड़ों के मुताबिक देश में कोरोना वायरस के उपचाराधीन मरीजों की संख्या 2,11,033 है जो संक्रमण के कुल मामलों का दो फीसदी है.

भारत में सात अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितंबर को 40 लाख के पार चली गई थी. वहीं, संक्रमण के कुल मामले 16 सितंबर को 50 लाख, 28 सितंबर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख और 20 नवंबर को 90 लाख और 19 दिसंबर को एक करोड़ के पार चले गए थे.

भारतीय आयुर्विज्ञान परिषद (आईसीएमआर) के अनुसार देश में 15 जनवरी तक कुल 18,57,65,491 नमूनों की कोविड-19 संबंधी जांच की गई. उनमें से 8,03,090 नमूनों की जांच शुक्रवार को की गई.

टीकाकरण की हुई शुरुआत

इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कोविड-19 के खिलाफ टीकाकरण अभियान की शुरुआत की और कहा कि वैज्ञानिकों और विशेषज्ञों के ‘मेड इन इंडिया’ टीकों की सुरक्षा के प्रति आश्वस्त होने के बाद ही इसके उपयोग की अनुमति दी गई है.

अभियान की शुरुआत से पहले राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि टीके की दो खुराक लेनी बहुत जरूरी है और इन दोनों के बीच लगभग एक महीने का अंतर होना चाहिए.

उन्होंने टीका लेने के बाद भी लोगों से कोरोना संबंधी सभी दिशा-निर्देशों का पालन करने का आग्रह किया और ‘दवाई भी, कड़ाई भी’ का मंत्र दिया.

 

वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से आयोजित कार्यक्रम में प्रधानमंत्री के साथ भारत के सभी राज्‍यों और केंद्रशासित प्रदेशों के 3006 टीकाकरण केंद्र आपस में जुड़ें.

ज्ञात हो कि पहले चरण के लिए सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में इसके लिए कुल 3006 टीकाकरण केंद्र बनाए गए हैं. पहले दिन तीन लाख से ज्यादा स्वास्थ्यकर्मियों को कोविड-19 के टीके की खुराक दी जाएगी.

सरकार के मुताबिक, सबसे पहले एक करोड़ स्वास्थ्यकर्मियों, अग्रिम मोर्चे पर काम करने वाले करीब दो करोड़ कर्मियों और फिर 50 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को टीके की खुराक दी जाएगी. बाद के चरण में गंभीर रूप से बीमार 50 साल से कम उम्र के लोगों का टीकाकरण होगा.

स्वास्थ्यकर्मियों और अग्रिम मोर्चे पर तैनात कर्मियों पर टीकाकरण का खर्च सरकार वहन करेगी.

वायरस के मामले और मौतें

24 घंटे में सामने आए नए मामलों की बात करें तो बीते 15 जनवरी को 15,590, 14 जनवरी को 16,946, 13 जनवरी को 15,968, 12 जनवरी को 12,584, 11 जनवरी को 16,311, 10 जनवरी को 18,645, नौ जनवरी को 18,222, आठ जनवरी को 18,139, सात जनवरी को 20,346, छह जनवरी को 18,088, पांच जनवरी को 16,375, चार जनवरी को 16,504, तीन जनवरी को 18,177, दो जनवरी को 19,079 और एक जनवरी को 20,035 नए मामले सामने आए थे.

इसी तरह 24 घंटे में मौत के मामलों की बात करें तो 15 जनवरी को 191, 14 जनवरी को 198, 13 जनवरी को 202, 12 जनवरी 167, 11 जनवरी को 161, 10 जनवरी को 201, नौ जनवरी को 228, आठ जनवरी को 234, सात जनवरी को 222, छह जनवरी को 264, पांच जनवरी 201, चार जनवरी को 214, तीन जनवरी 217, दो जनवरी को 224 और एक जनवरी को 20,035 मामले आए थे.

दिसंबर महीने 24 घंटे के दौरान पांच दिसंबर को संक्रमण के अधिकतम 36,652 मामले सामने आए थे और चार दिसंबर को संक्रमण से अधिकतम 540 लोगों की मौत हुई थी. नवंबर महीने 24 घंटे के दौरान सात नवंबर को संक्रमण के अधिकतम 50,356 मामले सामने आए थे और पांच नवंबर को संक्रमण से अधिकतम 704 लोगों की मौत हुई थी.

अक्टूबर महीने की बात करें तो एक तारीख को अधिकतम 86,821 और 28 अक्टूबर को न्यूनतम 43,893 मामले 24 घंटे के दौरान सामने आए थे. अक्टूबर में 24 घंटे में मरने वालों की अधिकतम संख्या 1 अक्टूबर को 1,181 थी.

सात सितंबर को 90,802 और 30 सितंबर को 80,472 नए मामले दर्ज किए गए थे. सात से 30 सितंबर के बीच नए मामलों की संख्या घटती बढ़ती रही. इस अवधि में 22 सितंबर को 75,083 (न्यूनतम) और 17 सितंबर को 97,894 (अधिकतम) मामले दर्ज किए गए थे, जो अब तक का सर्वाधिक आंकड़ा भी है.

छह सितंबर को संक्रमण के नए मामले पहली बार 90 हजार (90,632) के पार हो गए थे. 28 अगस्त को पहली बार 70 हजार (75,760) के पार, सात अगस्त को पहली बार 60 हजार (62,538) के पार, 30 जुलाई को पहली बार 50 हजार के पार हो गए थे.

इसी तरह 20 जुलाई को यह पहली बार 40 हजार के पार, 16 जुलाई को पहली बार 30 हजार के पार, 10 जुलाई को पहली बार 25 हजार (26,506) के पार, तीन जुलाई को पहली बार 20 हजार के पार, 21 जून को पहली बार 15 हजार के पार और 20 जून को संक्रमण के नए मामलों की संख्या पहली बार 14 हजार के पार हुई थी.

सितंबर महीने में एक दिन में मरने वालों की बात करें तो एक सितंबर को इनकी संख्या 819 और 29 सितंबर को न्यूनतम 776 थी. इन दो तारीखों के अलावा पूरे महीने हर दिन मरने वालों की संख्या एक हजार से अधिक रही है. 16 सितंबर को 1290 लोगों की जान गई, जो एक दिन में मरने वालों का सर्वाधिक आंकड़ा है.

10 अगस्त से 31 अगस्त तक बीते 24 घंटे या एक दिन में मरने वालों की संख्या 1007 से अधिकतम 1,092 (19 अगस्त का आंकड़ा) के बीच रही. 24 जुलाई से नौ अगस्त के बीच एक दिन या 24 घंटे में मौत का आंकड़ा 700 से लेकर 933 (आठ अगस्त का आंकड़ा) के बीच रहा है. एक जुलाई से 23 जुलाई के बीच यह आंकड़ा 507 से 1,129 के बीच रहा.

11 जून से 30 जून के बीच मरने वालों की संख्या 300 से 500 के अंदर रही है. 22 जून को एक दिन में मरने वालों की संख्या पहली बार 400 से अधिक रही थी. और 11 जून को पहली बार मरने वालों की संख्या 300 के आंकड़े को पार कर गई थी.

दुनियाभर में मामले 9.38 करोड़ से ज़्यादा, 20 लाख से अधिक लोगों की मौत

अमेरिका की जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार, पूरी दुनिया में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 93,850,637 हो गए हैं और अब तक 2,009,217 लोगों की जान जा चुकी है.

दुनियाभर में कोरोना से अमेरिका सबसे अधिक प्रभावित देश है. यहां संक्रमण के अब तक 23,530,463 मामले सामने आए हैं, जबकि मरने वालों की संख्या 392,106 हो चुकी है.

भारत संक्रमण से सर्वाधिक प्रभावित दूसरा देश है. भारत के बाद तीसरे सर्वाधिक प्रभावित देश ब्राजील में संक्रमण के अब तक 8,393,492 मामले मिले हैं और 208,246 लोग दम तोड़ चुके हैं.

ब्राजील के बाद चौथे प्रभावित देश रूस में संक्रमण के 3,483,531 मामले आए हैं, जबकि 63,558 मरीजों की मौत दर्ज की जा चुकी है.

रूस के बाद पांचवें सर्वाधिक प्रभावित देश ब्रिटेन में संक्रमण के 3,325,642 मामले आए हैं, जबकि 87,448 मरीजों की मौत दर्ज की जा चुकी है.

ब्रिटेन के बाद छठे सर्वाधिक प्रभावित देश फ्रांस में संक्रमण के 2,931,396 मामले हैं और 70,090 लोगों ने जान गंवा दी है. फ्रांस के बाद सातवें सर्वाधिक प्रभावित देश तुर्की में संक्रमण के 2,373,115 मामले सामने आए हैं और 23,664 मौतें हुई हैं.

तुर्की के बाद आठवें सर्वाधिक प्रभावित देश इटली में संक्रमण के 2,352,423 मामले दर्ज हुए हैं, जबकि 81,325 मौतें हुई हैं. इटली के बाद नौवें प्रभावित देश स्पेन में संक्रमण के 2,252,164 मामले सामने आए हैं और 53,314 मौतें हुई हैं.

स्पेन के बाद 10वें सर्वाधिक प्रभावित देश जर्मनी में संक्रमण के 2,023,828 मामले सामने आ चुके हैं, जबकि 46,222 लोगों की यह महामारी जान ले चुकी है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)