भारत

गुजरात: फुटपाथ पर चढ़ा अनियंत्रित ट्रक, 13 प्रवासी मजदूरों समेत 15 की मौत

घटना सूरत से करीब 60 किलोमीटर दूर कोसांबा गांव के पास मंगलवार तड़के हुई, जहां एक ट्रैक्टर से टकराने के बाद बेक़ाबू हुआ ट्रक फुटपाथ पर सो रहे मज़दूरों पर चढ़ गया. मारे गए सभी मज़दूरों में से एक को छोड़कर बाकी सभी राजस्थान के रहने वाले थे.

(फोटो साभार: ट्विटर)

(फोटो साभार: ट्विटर)

सूरत: गुजरात के सूरत जिले में मंगलवार को सड़क के किनारे सो रहे राजस्थान के 13 प्रवासी मजदूरों और एक साल की बच्ची समेत 15 लोगों की ट्रक से कुचल कर मौत हो गई.

पुलिस ने बताया कि दुर्घटना में मारे गए 15 लोगों में आठ महिलाएं और मध्य प्रदेश का एक प्रवासी मजदूर भी है. मौके पर ही उनमें से 12 लोगों की मौत हो गई जबकि तीन अन्य ने इलाज के दौरान अस्पताल में दम तोड़ दिया.

पुलिस के मुताबिक मृतकों में मध्य प्रदेश के 19 वर्षीय मजदूर के अलावा सभी लोग दक्षिण राजस्थान में बांसवाड़ा जिले के गांवों के निवासी थे.

पुलिस ने बताया कि घटना सूरत से करीब 60 किलोमीटर दूर कोसांबा गांव के पास मंगलवार तड़के हुई. उन्होंने बताया कि मारे गए सभी प्रवासी मजदूर राजस्थान से थे.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक पुलिस ने कहा कि 12 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, आठ में से तीन घायलों की नजदीकी अस्पताल में मौत हो गई.

मृतकों की पहचान राहुल महिदा (19), मनीषा महिदा (19), वनिता महिदा (17), संगीता वसुनिया (27), चम्पा पंडा (16), नरेश पंडा (25), रजीला महिदा (25), विकेश महिदा (27), शाकन वसुनिया (21), मुकेश महिदा (25), लीला महिदा (22), अनिता महिदा (40), दिलीप वसुनिया (20), शोभा वसुनिया (23) और एक साल की बच्ची तेजल महिदा के रूप में हुई है.

पुलिस ने बताया कि मृतकों में सिर्फ राहुल महिदा मध्य प्रदेश का रहने वाला था जबकि अन्य सभी राजस्थान के रहने वाले थे.

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि गन्ने से भरे एक ट्रैक्टर से टक्कर के बाद ट्रक चालक वाहन पर नियंत्रण खो बैठा. भारतीय दंड संहिता और मोटर वाहन कानून की धाराओं के तहत ट्रक ड्राइवर के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. ट्रक चालक को गिरफ्तार कर लिया गया है.

सूरत एसपी ऊषा राडा ने बताया कि ट्रक आधी रात के बाद किम-मांडवी मार्ग पर प्रवासी निर्माण श्रमिकों के ऊपर से चला गया.

उन्होंने कहा कि एक ट्रैक्टर से टकराने का बाद ट्रक चालक ने अपनी गाड़ी पर नियंत्रण खो दिया और गाड़ी सड़क छोड़ फुटपाथ पर चली गई, जहां मजदूर सो रहे थे.

उन्होंने कहा, ‘ट्रक किम से मांडवी की ओर जा रही थी. विपरीत दिशा से आ रही गन्ने से लदी ट्रैक्टर ट्राली से टकराने के बाद चालक ने वाहन से नियंत्रण खो दिया. ट्रक के सामने की खिड़की फलक टूट गया, जिससे चालक को दिखने में दिक्कत हुई और ट्रक सड़क छोड़ फुटपाथ पर चली गई और ये दुर्घटना घटी.’

अमर उजाला के मुताबिक, ट्रक ने फुटपाथ पर सो रहे 18 लोगों को कुचल दिया जिसमें हादसे में 15 लोगों की मौत हो गई है. जबकि तीन की हालत गंभीर बताई जा रही है. घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

घटना में एक छह महीने की बच्ची को बचाया गया है लेकिन उसके माता-पिता की मौत हो गई है. सभी मृतक राजस्थान के बांसवाड़ा जिले के कुशलगढ़ के मूल निवासी हैं. मौके पर पहुंची पुलिस ने शवों को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को गुजरात के सूरत जिले में एक ट्रक की चपेट में आने से प्रवासी मजदूरों की मौत की घटना पर शोक जताया तथा मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख रुपये के मुआवजे की भी घोषण की.

प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से जारी एक ट्वीट में कहा गया, ‘सूरत में ट्रक हादसे में हुई मौतें दुखद हैं. मेरी संवेदनाएं पीड़ित परिवारों के साथ हैं. घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं.’

प्रधानमंत्री कार्यालय के मुताबिक, मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख रुपये और घायलों को 50 हजार रुपये की आर्थिक मदद प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से दी जाएगी.

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने इस घटना पर दुख प्रकट करते हुए मृतकों के परिवारों को सहायता राशि प्रदान करने का निर्देश दिया.

उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘सूरत में फुटपाथ पर सो रहे निर्दोष श्रमिकों की दर्दनाक हादसे से हुई दुःखद मृत्यु से व्यथित हूं. ईश्वर से दिवंगत आत्माओं की सद्गति तथा शोकाकुल परिजनों को संबल देने हेतु प्रार्थना. संवेदना के साथ सभी मृतकों को 2 लाख रुपये की सहायता और घायलों को शीघ्र इलाज कराने का निर्देश दिया है.’

वहीं, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दुर्घटना में मारे गए मजदूरों पर दुख व्यक्त किया है.

उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘बांसवाड़ा के कई मजदूरों की मौत की खबर सुनकर गहरा दुख हुआ. राजस्थान में एक ट्रक की चपेट में आने से उनकी जान चली गई, क्योंकि वे सूरत में सड़क के पास सो रहे थे. शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी संवेदना और उन घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ के लिए प्रार्थना करता हूं’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)