भारत

पश्चिम बंगालः कोविड-19 टीका लगने के बाद चार की हालत बिगड़ी, टीकाकरण अभियान रोका गया

मामला बर्द्धमान-दुर्गापुर क्षेत्र का है, जहां कोरोना का टीका लगाए जाने के पश्चात कुछ लोगों की तबीयत बिगड़ी. राज्य स्वास्थ्य विभाग द्वारा अब तक लोगों के बीमार होने के कारणों और टीकाकरण से इसके संबंध की पुष्टि नहीं की गई है, लेकिन टीकाकरण अभियान रोक दिया गया है.

(प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई)

(प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई)

कोलकाताः पश्चिम बंगाल के बर्द्धमान-दुर्गापुर क्षेत्र में कोरोना का टीका लगने से चार लोगों के बीमार पड़ने के बाद गुरुवार को कोविड-19 टीकाकरण अभियान रोक दिया गया.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक,  हालांकि, स्वास्थ्य विभाग के किसी अधिकारी ने इस घटना की पुष्टि नहीं की है लेकिन सूत्रों का कहना है कि दुर्गापुर के अस्पताल में चार लोगों को निरीक्षण में रखा गया है.

सूत्रों का कहना है कि इनमें से एक शख्स को उच्च रक्तचाप की समस्या थी और बाकी किसी को कोई बड़ी स्वास्थ्य समस्या नहीं थी.

राज्य स्वास्थ्य विभाग को अभी इन बीमारी के पीछे के कारणों और इसके टीकाकरण से किसी तरह के संबंधों की पुष्टि करनी है.

स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों के मुताबिक, हालांकि राज्य में टीकाकरण सोमवार, मंगलवार, शुक्रवार और शनिवार को किया जाता है लेकिन कुछ केंद्रों में अन्य दिनों पर भी टीके लगाए जाते हैं.

बता दें कि बुधवार को कुल 2,000 फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीके लगाए गए थे जबकि मंगलवार को यह संख्या 13,693 थे.

सूत्रों का कहना है कि केंद्र सरकार का कोविन ऐप की रफ्तार धीमी थी और इसमें कुछ गड़बड़ियां भी सामने आईं.

अधिकारी का कहना है, ‘टीकाकरण के बाद की प्रतिकूल प्रतिक्रिया (एईएफआई) की दर अभी भी कम है, जो सामान्य तौर पर अपेक्षित है और इससे सिद्ध होता है कि सर्विलांस सिस्टम सही से काम कर रहा है और 43,000 से अधिक डोज के बाद भी किसी तरह का कोई बड़ा दुष्प्रभाव सामने नहीं आया. यह एक बड़ी सफलता है और इससे हमारा विश्वास बढ़ने में मदद मिलेगी. हमें भविष्य में और अधिक वैक्सीन डोज मिलने की उम्मीद है.’

पश्चिम बंगाल में गुरुवार को कोरोना के 416 मामले सामने आए और इस दौरान नौ लोगों की मौत हुई. इसके बाद राज्य में कोरोना के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 5.67 लाख से अधिक हो गई है जबकि अब तक राज्य में कोरोना से कुल 10,089 लोगों की मौत हो गई है.