दुनिया

कोरोना वायरसः 24 घंटे के दौरान 14,849 नए मामले और 155 मरीज़ों की मौत

भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 10,654,533 हो गई है और मृतक संख्या 153,339 है. विश्व में संक्रमण के कुल मामले 9.88 करोड़ से ज़्यादा हो गए हैं और 21.22 लाख से अधिक लोगों की मौत हुई है.

Bikaner: A health-worker takes part in the final dry run for the administration of COVID-19 vaccine in Bikaner, Wednesday, Jan. 13, 2021. (PTI Photo)(PTI01 13 2021 000068B)

राजस्थान के बीकानेर शहर में कोरोना वायरस टीकाकरण अभियान में शामिल होता एक स्वास्थ्यकर्मी. (फोटोः पीटीआई)

नई दिल्ली: देश में कोविड-19 के 14,849 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 10,654,533 हो गई. वहीं अब तक 10,316,786 मरीज संक्रमण मुक्त हो चुके हैं.

स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से सुबह आठ बजे जारी अद्यतन आंकड़ों के मुताबिक, संक्रमण से 155 और मरीजों की मौत के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 153,339 हो गई.

देश में अब तक कुल 10,316,786 मरीज संक्रमण मुक्त हो चुके हैं, जिसके बाद स्वस्थ होने की दर बढ़कर 96.83 फीसदी हो गई, वहीं मृत्यु दर 1.44 फीसदी है.

देश में लगातार पांचवें दिन भी संक्रमण का इलाज करा रहे मरीजों की संख्या दो लाख से नीचे रही. अभी 184,408 मरीजों का उपचार चल रहा है, जो कि कुल मामलों का 1.73 फीसदी है.

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के आकंड़ों के अनुसार, अब तक देश में 191,766,871 नमूनों की जांच हो चुकी है, जिनमें से 781,752 नमूनों की जांच शनिवार को हुई.

आंकड़ों के मुताबिक, भारत में कोविड-19 संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 10 लाख से 20 लाख (सात अगस्त को) तक पहुंचने में 21 दिनों का समय लगा था, जबकि 20 से 30 लाख (23 अगस्त को) की संख्या होने में 16 और दिन लगे. हालांकि 30 लाख से 40 लाख (पांच सितंबर) तक पहुंचने में मात्र 13 दिनों का समय लगा है.

वहीं, 40 लाख के बाद 50 लाख (16 सितंबर को) की संख्या को पार करने में केवल 11 दिन लगे. मामलों की संख्या 50 लाख से 60 लाख (28 सितंबर को) होने में 12 दिन लगे थे. 60 से 70 लाख (11 अक्टूबर) होने में इसे 13 दिन लगे. 70 से 80 लाख (29 अक्टूबर को) होने में 19 दिन लगे और 80 से 90 लाख (20 नवंबर को) होने में 13 दिन लगे. 90 लाख से एक करोड़ (19 दिसंबर को) होने में 29 दिन लगे.

देश में 110 दिन में कोविड-19 के मामले एक लाख हुए थे और 59 दिनों में वह 10 लाख के पार चले गए थे.

वायरस के मामले और मौतें

24 घंटे में सामने आए नए मामलों की बात करें तो बीते 23 जनवरी को 14,256, 22 जनवरी को 14,545, 21 जनवरी को 15,223, 20 जनवरी को 13,823, 19 जनवरी को 10,064, 18 जनवरी को 13,788, 17 जनवरी को 15,144, 16 जनवरी को 15,158, 15 जनवरी को 15,590, 14 जनवरी को 16,946, 13 जनवरी को 15,968, 12 जनवरी को 12,584, 11 जनवरी को 16,311, 10 जनवरी को 18,645 नए मामले सामने आए थे.

इसी तरह 24 घंटे में मौत के मामलों की बात करें तो 23 जनवरी को 152, 22 जनवरी को 163, 21 जनवरी को 151, 20 जनवरी को 162, 19 जनवरी को 137, 18 जनवरी को 145, 17 जनवरी को 181, 16 जनवरी को 175, 15 जनवरी को 191, 14 जनवरी को 198, 13 जनवरी को 202, 12 जनवरी 167, 11 जनवरी को 161, 10 जनवरी को 201 लोगों ने संक्रमण से जान गंवाई थी.

इससे पहले दिसंबर महीने 24 घंटे के दौरान पांच दिसंबर को संक्रमण के अधिकतम 36,652 मामले सामने आए थे और चार दिसंबर को संक्रमण से अधिकतम 540 लोगों की मौत हुई थी. नवंबर महीने 24 घंटे के दौरान सात नवंबर को संक्रमण के अधिकतम 50,356 मामले सामने आए थे और पांच नवंबर को संक्रमण से अधिकतम 704 लोगों की मौत हुई थी.

अक्टूबर महीने की बात करें तो एक तारीख को अधिकतम 86,821 और 28 अक्टूबर को न्यूनतम 43,893 मामले 24 घंटे के दौरान सामने आए थे. अक्टूबर में 24 घंटे में मरने वालों की अधिकतम संख्या 1 अक्टूबर को 1,181 थी.

सात सितंबर को 90,802 और 30 सितंबर को 80,472 नए मामले दर्ज किए गए थे. सात से 30 सितंबर के बीच नए मामलों की संख्या घटती बढ़ती रही. इस अवधि में 22 सितंबर को 75,083 (न्यूनतम) और 17 सितंबर को 97,894 (अधिकतम) मामले दर्ज किए गए थे, जो अब तक का सर्वाधिक आंकड़ा भी है.

छह सितंबर को संक्रमण के नए मामले पहली बार 90 हजार (90,632) के पार हो गए थे. 28 अगस्त को पहली बार 70 हजार (75,760) के पार, सात अगस्त को पहली बार 60 हजार (62,538) के पार, 30 जुलाई को पहली बार 50 हजार के पार हो गए थे.

इसी तरह 20 जुलाई को यह पहली बार 40 हजार के पार, 16 जुलाई को पहली बार 30 हजार के पार, 10 जुलाई को पहली बार 25 हजार (26,506) के पार, तीन जुलाई को पहली बार 20 हजार के पार, 21 जून को पहली बार 15 हजार के पार और 20 जून को संक्रमण के नए मामलों की संख्या पहली बार 14 हजार के पार हुई थी.

सितंबर महीने में एक दिन में मरने वालों की बात करें तो एक सितंबर को इनकी संख्या 819 और 29 सितंबर को न्यूनतम 776 थी. इन दो तारीखों के अलावा पूरे महीने हर दिन मरने वालों की संख्या एक हजार से अधिक रही है. 16 सितंबर को 1290 लोगों की जान गई, जो एक दिन में मरने वालों का सर्वाधिक आंकड़ा है.

10 अगस्त से 31 अगस्त तक बीते 24 घंटे या एक दिन में मरने वालों की संख्या 1007 से अधिकतम 1,092 (19 अगस्त का आंकड़ा) के बीच रही. 24 जुलाई से नौ अगस्त के बीच एक दिन या 24 घंटे में मौत का आंकड़ा 700 से लेकर 933 (आठ अगस्त का आंकड़ा) के बीच रहा है. एक जुलाई से 23 जुलाई के बीच यह आंकड़ा 507 से 1,129 के बीच रहा.

11 जून से 30 जून के बीच मरने वालों की संख्या 300 से 500 के अंदर रही है. 22 जून को एक दिन में मरने वालों की संख्या पहली बार 400 से अधिक रही थी. और 11 जून को पहली बार मरने वालों की संख्या 300 के आंकड़े को पार कर गई थी.

दुनियाभर में मामले 9.88 करोड़ से ज़्यादा, 21.22 लाख से अधिक लोगों की मौत

अमेरिका की जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार, पूरी दुनिया में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 98,805,582 हो गए हैं और अब तक 2,122,010 लोगों की जान जा चुकी है.

दुनियाभर में कोरोना से अमेरिका सबसे अधिक प्रभावित देश है. यहां संक्रमण के अब तक 24,994,465 मामले सामने आए हैं, जबकि मरने वालों की संख्या 417,439 हो चुकी है.

भारत संक्रमण से सर्वाधिक प्रभावित दूसरा देश है. भारत के बाद तीसरे सर्वाधिक प्रभावित देश ब्राजील में संक्रमण के अब तक 8,816,254 मामले मिले हैं और 216,445 लोग दम तोड़ चुके हैं.

ब्राजील के बाद चौथे प्रभावित देश रूस में संक्रमण के 3,679,247 मामले आए हैं, जबकि 68,397 मरीजों की मौत दर्ज की जा चुकी है.

रूस के बाद पांचवें सर्वाधिक प्रभावित देश ब्रिटेन में संक्रमण के 3,627,789 मामले आए हैं, जबकि 97,518 मरीजों की मौत दर्ज की जा चुकी है.

ब्रिटेन के बाद छठे सर्वाधिक प्रभावित देश फ्रांस में संक्रमण के 3,093,619 मामले हैं और 73,018 लोगों ने जान गंवा दी है. फ्रांस के बाद सातवें सर्वाधिक प्रभावित स्पेन में संक्रमण के 2,499,560 मामले (शनिवार तक) सामने आए हैं और 55,441 मौतें हुई हैं.

स्पेन के बाद आठवें सर्वाधिक प्रभावित देश इटली में संक्रमण के 2,455,185 मामले दर्ज हुए हैं, जबकि 85,162 मौतें हुई हैं. इटली के बाद नौवें प्रभावित देश तुर्की में संक्रमण के 2,424,328 मामले सामने आए हैं और 24,933 मौतें हुई हैं.

तुर्की के बाद 10वें सर्वाधिक प्रभावित देश जर्मनी में संक्रमण के 2,144,214 मामले सामने आ चुके हैं, जबकि 52,097 लोगों की यह महामारी जान ले चुकी है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)