भारत

जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे, गायक एसपी बालासुब्रमण्यम सहित सात को मिला पद्म विभूषण

राष्ट्रपति ने इस साल के लिए 119 पद्म पुरस्कार दिए जाने को मंज़ूरी दी है जिनमें सात पद्म विभूषण, 10 पद्म भूषण और 102 पद्मश्री हैं. हालांकि देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न के लिए किसी नाम की घोषणा नहीं की गई है.

The Prime Minister, Shri Narendra Modi and the Prime Minister of Japan, Mr. Shinzo Abe at Ground Breaking ceremony of Mumbai-Ahmedabad High Speed Rail Project, at Ahmedabad, Gujarat on September 14, 2017. The Governor of Gujarat, Shri O.P. Kohli, the Union Minister for Railways and Coal, Shri Piyush Goyal, the Chief Minister of Gujarat, Shri Vijay Rupani and the Chief Minister of Maharashtra, Shri Devendra Fadnavis are also seen.

जापान प्रधानमंत्री शिंजो आबे के साथ नरेंद्र मोदी. (फोटो साभारः पीबीआई)

नयी दिल्लीः जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे और दिवंगत गायक एसपी बालासुब्रमण्यम का नाम उन सात लोगों की सूची में शामिल हैं, जिन्हें इस साल का पद्म विभूषण पुरस्कार देने की घोषणा की गई.

केंद्रीय गृह मंत्रालय का कहना है कि राष्ट्रपति ने इस साल के लिए 119 पद्म पुरस्कार दिए जाने को मंजूरी दी है जिनमें सात पद्म विभूषण, 10 पद्म भूषण और 102 पद्मश्री हैं.

पद्म पुरस्कार विजेताओं में 29 महिलाएं हैं. इनमें 10 लोग विदेशी, प्रवासी भारतीय, पीआईओ और ओसीआई तथा एक व्यक्ति ट्रांसजेंडर श्रेणी से हैं. इनमें 16 लोगों को पद्म पुरस्कार मरणोपरांत दिए गए हैं.

हालांकि देश का सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न के लिए किसी नाम की घोषणा नहीं की गई है.

आबे भारत और जापान के बीच बीते आठ सालों में संबंधों में सुदृढ़ बदलावों के लिए जिम्मेदार हैं. दोनों देशों के बीच असैन्य परमाणु ऊर्जा से लेकर समुद्री सुरक्षा, बुलेट ट्रेन, एक्ट ईस्ट पॉलिसी से लेकर भारत प्रशांत रणनीति तक के मुद्दों पर संबंध मजबूत हुए.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, केंद्रीय गृह मंत्रालय की घोषणा के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जिन लोगों को सम्मानित किया गया है, वे जीवन के विभिन्न क्षेत्रों से जुड़े व्यक्ति हैं, जो दूसरों के जीवन में गुणावत्मक बदलाव लाए हैं.

कर्नाटक के प्रख्यात हृदय रोग विशेषज्ञ बी एम हेगड़े, भारतीय-अमेरिकी भौतिक विज्ञानी नरिन्दर सिंह कपानी (मरणोपरांत), इस्लामी विद्वान मौलाना वहीदुद्दीन खान, पुरातत्वविद बीबी लाल, ओडिशा के सैंड कलाकार सुदर्शन साहू, मणिपाल यूनिवर्सिटी के पूर्व वीसी बेले मोनापा समते सात लोगों को पद्म विभूषण से सम्मानित किया जाएगा.

वहीं, असम के पूर्व मुख्यमंत्री दिवंगत तरुण गोगोई और गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री दिवंगत केशुभाई पटेल, पूर्व केंद्रीय मंत्री दिवंगत राम विलास पासवान, ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के वरिष्ठ उपाध्यक्ष दिवंगत मौलाना कल्बे सादिक, पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन, प्रधानमंत्री के पूर्व प्रधान सचिव नृपेंद्र मिश्र, कर्नाटक की संगीतकार कृष्ण नायर शांता कुमारी चित्रा, कन्नड़ कवि और कन्नड़ यूनिवर्सिटी के संस्थापक चंद्रशेखर कांबरा, उद्योगपति रजनीकांत देवीदास श्रॉफ और पूर्व सांसद तरलोचन सिंह और धार्मिक नेता दिवंगत कल्बे सादिक को इस साल के पद्म भूषण पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा.

पद्मश्री से सम्मानित की जाने वाली हस्तियों की सूची में बांग्लादेश मुक्ति संग्राम में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले कर्नल काजी सज्जाद अली जहीर, उत्तर प्रदेश के कलाकार गुलफाम अहमद, तमिलनाडु की बास्केटबॉल खिलाड़ी पी अनीता, कर्नाटक की ट्रांसजेंडर लोक कलाकार माथा बी. मंजम्मा जोगती, भारतीय-अमेरिकी शिक्षाविद श्रीकांत दतार और पश्चिम बंगाल के साहित्यकार सुजित चट्टोपाध्याय का नाम शामिल है.

इसके साथ ही इनमें तमिलनाडु की पी. अनीता, पश्चिम बंगाल की मौमा दास, अरुणाचल प्रदेश से अंशू जमसेनपा, केरल के माधवन नम्बियार, उत्तर प्रदेश की सुधा सिंह, कर्नाटक के केवाई वेंकटेश और हरियाणा के वीरेंद्र सिंह को, पूर्व राज्यपाल दिवंगत मृदुला सिन्हा और पूर्व केंद्रीय मंत्री बिजोय चक्रवर्ती भी पद्मश्री पुरस्कार से अलंकृत होने वाली सूची में शामिल हैं.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)