भारत

दिल्ली कांग्रेस ने प्रस्ताव पारित कर राहुल गांधी से पार्टी अध्यक्ष बनने का अनुरोध किया

बीते दिनों कांग्रेस ने कांग्रेस कार्य समिति की बैठक के बाद कहा था कि इस जून में पार्टी का नया अध्यक्ष निर्वाचित होगा. अब दिल्ली कांग्रेस की बैठक में राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाने के अलावा दो अन्य प्रस्तावों में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के इस्तीफ़े की मांग की गई.

New Delhi: Congress President Sonia Gandhi along with Rahul Gandhi leaves Parliament House after attending proceedings during the Budget Session, in New Delhi, Tuesday, Feb. 11, 2020. (PTI Photo/Subhav Shukla) (PTI2_11_2020_000088B)

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: दिल्ली कांग्रेस ने राहुल गांधी से पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष पद स्वीकार करने का अनुरोध करने सहित रविवार को तीन प्रस्ताव पारित किए.

कांग्रेस द्वारा जारी बयान के अनुसार, पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की बैठक में पारित दो अन्य प्रस्तावों में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के इस्तीफों की मांग की गई.

बैठक में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव और दिल्ली के लिए पार्टी प्रभारी शक्तिसिंह गोहिल ने भी भाग लिया.

बयान के अनुसार, ‘पार्टी ने तीनों प्रस्ताव… राहुल गांधी से कांग्रेस का अध्यक्ष पद संभालने, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से उनकी असफलताओं के लिए इस्तीफा मांगने को लेकर आम सहमति से पारित किए.’

दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष अनिल कुमार ने प्रस्ताव पेश किए थे. कांग्रेस के प्रस्तावों पर भाजपा और आम आदमी पार्टी की ओर से फिलहाल कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है.

गोहिल ने कहा कि यह समय कांग्रेस कार्यकर्ताओं के लिए पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी के निर्देशों और दिशानिर्देशों का पालन करते हुए दिल्ली में एकजुट होकर पार्टी को मजबूत करने के लिए काम करने का है.

बैठक में पूर्व केंद्रीय मंत्रियों जगदीश टाइटलर और कृष्णा तीरथ, पूर्व सांसद रमेश कुमार और किरण वालिया, हारून यूसुफ आदि शामिल थे.

बता दें कि पिछले सप्ताह कांग्रेस ने अपनी शीर्ष नीति निर्धारण इकाई कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक के बाद कहा था कि इस साल जून में उसका नया निर्वाचित अध्यक्ष होगा.

गौरतलब है कि पिछले लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की हार के बाद राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था. इसके बाद सोनिया गांधी को अंतरिम अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपी गई थी.

बिहार विधानसभा चुनाव और कुछ राज्यों के उप चुनावों में कांग्रेस के निराशाजनक प्रदर्शन के बाद गुलाम नबी आजाद और कपिल सिब्बल जैसे कुछ वरिष्ठ नेताओं ने पार्टी के सक्रिय अध्यक्ष की नियुक्ति की मांग फिर उठाई.

वैसे, कांग्रेस नेताओं का एक बड़ा धड़ा लंबे समय से इस बात की पैरवी कर रहा है कि राहुल गांधी को फिर से कांग्रेस की कमान संभालनी चाहिए.

कांग्रेस महासचिव रणदीप सुरजेवाला ने हाल ही में कहा था कि कांग्रेस के 99.99 प्रतिशत लोग चाहते हैं कि राहुल गांधी फिर से उनका नेतृत्व करें.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)