भारत

बजट 2021: चुनावी राज्यों को मिलीं 2.27 लाख करोड़ रुपये की विशेष परियोजनाएं

2021-22 के आम बजट में तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, असम, केरल जैसे देश के उन राज्यों के लिए राजमार्ग, एक्सप्रेस वे, कॉरिडोर से लेकर टेक्सटाइल पार्क जैसी विशेष घोषणाएं की गई हैं जहां इस साल विधानसभा चुनाव होने हैं.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर (फोटो: पीटीआई)

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: केंद्र सरकार के वर्ष 2021-22 के आम बजट में तमिलनाडु , पश्चिम बंगाल, असम, केरल जैसे देश के उन राज्यों के लिए राजमार्ग, एक्सप्रेस वे, गलियारे से लेकर टेक्सटाइल पार्क जैसी विशेष घोषणाएं की गई हैं जहां इस साल विधानसभा चुनाव होने हैं.

बजट में इन प्रदेशों के लिए केवल राजमार्ग आधारभूत ढांचा क्षेत्र में 2.27 लाख करोड़ रुपये की परियोजनाओं का प्रस्ताव किया गया है.

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा पेश आम बजट में तमिलनाडु में 1.03 लाख करोड़ रुपये के निवेश से 3,500 किलोमीटर लंबे राष्ट्रीय राजमार्ग बनाने का प्रस्ताव किया गया है.

इसमें मदुरई-कोल्लम गलियारा और चित्तूर-थाच्चूर गलियारा शामिल है. इनका निर्माण कार्य अगले वर्ष शुरू होगा.

केरल में 65,000 करोड़ रुपये के निवेश से 1,100 किलोमीटर के राष्ट्रीय राजमार्ग का निर्माण किया जायेगा जिसमें 600 किलोमीटर लंबा बुम्बई से केरल में कन्याकुमारी तक का गलियारा शामिल है.

वहीं, पश्चिम बंगाल में 25,000 करोड़ रुपये लागत का 675 किलोमीटर का राजमार्ग निर्माण कार्य पूरा किया जाएगा, जिसमें मौजूदा कोलकाता-सिलिगुड़ी सड़क का सुधार कार्य शामिल है.

सीतारमण ने कहा कि असम में 19,000 करोड़ रुपये लागत का राष्ट्रीय राजमार्ग कार्य इस समय जारी है. राज्य में अगले तीन वर्षों में 34,000 करोड़ रुपये लागत के 1,300 किलोमीटर लंबे राष्ट्रीय राजमार्ग का निर्माण कार्य किया जाएगा।

तमिलनाडु को बजट में एक्सप्रेस वे और गलियारा निर्माण परियोजनाओं से जुड़े प्रस्तावों में भी तवज्जो दी गई है. इसके तहत बेंगलुरु-चेन्नई एक्सप्रेस-वे के 278 किलोमीटर का कार्य मौजूदा वित्त वर्ष में शुरू हो जाएगा.

वहीं चेन्नई-सेलम गलियारा के 277 किलोमीटर लंबे एक्सप्रेस-वे का निर्माण कार्य 2021-22 में आरंभ होगा.

बजट प्रस्ताव में भविष्य के लिए समर्पित कई मालढुलाई गलियारे शुरु करने की बात कही गई है. इनमें से पूर्वी तटीय गलियारा खड़गपुर से विजयवाड़ा तक, पूर्वी-पश्चिमी गलियारा भुसावल से खड़गपुर होते हुए दनकुनी तक जाएगा तथा उत्तरी-दक्षिणी गलियारा इटारसी से विजयवाड़ा तक होगा.

वित्‍त मंत्री ने असम और पश्चिम बंगाल में चाय मजदूरों, विशेष रूप से महिलाओं और उनके बच्‍चों के लिए 1000 करोड़ रुपये उपलब्‍ध कराने का प्रस्‍ताव किया है. इसके लिए एक विशेष योजना तैयार की जाएगी

बजट में प्रस्ताव किया गया कि भविष्य में कई मालढुलाई गलियारे शुरु होंगे. इनमें से पूर्वी तटीय गलियारा खड़गपुर से विजयवाड़ा तक, पूर्वी-पश्चिमी गलियारा भुसावल से खड़गपुर होते हुए दनकुनी तक जाएगा तथा उत्तरी-दक्षिणी गलियारा इटारसी से विजयवाड़ा तक होगा. विस्तृत परियोजना रिपोर्ट पहले चरण में प्रस्तुत की जाएगी.

बजट प्रस्ताव में मेट्रो परियोजनाओं पर भी ध्यान दिया गया है. इसके तहत तमिलनाडु और केरल में मेट्रो परियोजनाओं के विस्तार पर जोर दिया गया है .

इसमें कहा गया है कि 1,957.05 करोड़ रुपये की लागत से 11.5 किलोमीटर लंबा कोच्चि मेट्रो रेलवे फेज-3 और 63,246 करोड़ रुपये की लागत से 118.9 किलोमीटर लंबा चेन्‍नई मेट्रो रेलवे फेज-2 का कार्य किया जायेगा .

सीतारमण ने कहा कि कहा गया कि पांच मत्स्य बंदगाह को आर्थिक गतिविधि के केंद्र के रूप में तैयार किया जाएगा. इसके तहत कोच्चि, चेन्नई, विशाखापत्तनम, पारादीप, पेटुआघट में पांच मत्स्य बंदरगाह को आर्थिक क्रियाकलाप के रूप में विकसित किया जायेगा .

वित्त मंत्री ने कहा कि उत्पादन से जुड़ी प्रोत्साहन योजना (पीएलआई) के अतिरिक्त देश में बड़े टेक्सटाइल पार्क बनाने की योजना पेश की जायेगी.

उन्होंने कहा कि इस योजना के तहत अगले तीन साल में सात बड़े टेक्सटाइल पार्क बनाये जायेंगे. इन पार्कों में एकीकृत सुविधाएं होंगी तथा परिवहन में होने वाले नुकसान को न्यूनतम करने की व्यवस्थाएं होंगी. इसका उद्देश्य कपड़ा क्षेत्र में बड़े निवेश लाना है.

समझा जाता है कि इसका फायदा तमिलनाडु और गुजराज जैसे राज्यों को होगा .

इसके अलावा तमिलनाडु में बहुउद्देयीय समुद्री शैवाल पार्क (मल्टी पर्सा सीवीड पार्क) स्थापित करने का भी प्रस्ताव किया गया है .

गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल, असम, तमिलनाडु, केरल और पुडुचेरी में विधानसभा चुनाव की राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो गई हैं.

पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी के नेतृत्व में तृणमूल कांग्रेस पार्टी की सरकार है जबकि असम में सर्वानंद सोनोवाल के नेतृत्व में भाजपा की.

तमिलनाडु में के. पलानीस्वामी के नेतृत्व में अन्नाद्रमुक की सरकार और केरल में पिनरायी विजयन के नेतृत्व में वामदलों की सरकार है . पुदुचेरी में नारायण सामी के नेतृत्व में कांग्रेस की सरकार है .