दुनिया

कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामले 1.08 करोड़ से अधिक हुए, 1.54 लाख से ज़्यादा लोगों की मौत

भारत में बीते 24 घंटे के दौरान कोरोना वायरस के 12,408 नए मामले सामने आए हैं और इस अवधि में 120 लोगों की मौत हुई है. विश्व में संक्रमण के कुल मामले 10.49 करोड़ से ज़्यादा हो गए हैं और 22.86 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है.

A health worker conducts the dry run of COVID-19 vaccination at a healthcare center in Daryaganj, New Delhi | PTI

(फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: भारत में एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के 12,408 नए मामले सामने आए ,जिसके बाद संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 1.08 करोड़ से अधिक हो गए.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से शुक्रवार को जारी आंकड़ों के अनुसार, अब तक देश में कोविड-19 के 10,496,308 मरीज ठीक हो चुके हैं.

सुबह आठ बजे तक के आंकड़ों के अनुसार संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 10,802,591 हो गए.

एक दिन में 120 और मरीजों की कोविड-19 से मौत हो गई, जिसके बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 154,823 पर पहुंच गई.

मंत्रालय के अनुसार, ठीक होने वाले मरीजों की दर 97.16 प्रतिशत है और महामारी से मौत की दर 1.43 प्रतिशत है.

वर्तमान में देश में 151,460 मरीज उपचाराधीन हैं. आंकड़ों के अनुसार, ये संक्रमण के कुल मामलों का 1.40 प्रतिशत हैं.

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के अनुसार, चार फरवरी तक 199,931,795 नमूनों की जांच की जा चुकी है जिनमें से बृहस्पतिवार को 715,776 नमूनों की जांच की गई.

बीते 24 घंटे के दौरान कोविड-19 से मरने वाले 120 मरीजों में से 46 महाराष्ट्र, 17 केरल से तथा दिल्ली और पंजाब के 7-7 लोग थे.

देश में अब तक महामारी से 154,823 मौत हो चुकी है. इनमें से 51,215 महाराष्ट्र से, तमिलनाडु के 12,375, कर्नाटक के 12,227, दिल्ली के 10,871, पश्चिम बंगाल के 10,199, उत्तर प्रदेश के 8,680 और आंध्र प्रदेश के 7,157 मरीज थे.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि मृतकों में 70 प्रतिशत वह लोग थे जो पहले से किसी रोग से पीड़ित थे.

आंकड़ों के मुताबिक, भारत में कोविड-19 संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 10 लाख से 20 लाख (सात अगस्त को) तक पहुंचने में 21 दिनों का समय लगा था, जबकि 20 से 30 लाख (23 अगस्त को) की संख्या होने में 16 और दिन लगे. हालांकि 30 लाख से 40 लाख (पांच सितंबर) तक पहुंचने में मात्र 13 दिनों का समय लगा है.

वहीं, 40 लाख के बाद 50 लाख (16 सितंबर को) की संख्या को पार करने में केवल 11 दिन लगे. मामलों की संख्या 50 लाख से 60 लाख (28 सितंबर को) होने में 12 दिन लगे थे. 60 से 70 लाख (11 अक्टूबर) होने में इसे 13 दिन लगे. 70 से 80 लाख (29 अक्टूबर को) होने में 19 दिन लगे और 80 से 90 लाख (20 नवंबर को) होने में 13 दिन लगे. 90 लाख से एक करोड़ (19 दिसंबर को) होने में 29 दिन लगे.

देश में 110 दिन में कोविड-19 के मामले एक लाख हुए थे और 59 दिनों में वह 10 लाख के पार चले गए थे.

वायरस के मामले और मौतें

24 घंटे में सामने आए नए मामलों की बात करें तो बीते चार फरवरी को 12,899, तीन फरवरी को 11,039, दो फरवरी को 8,635, एक फरवरी को 11,427 नए मामले सामने आए थे.

इसी तरह 24 घंटे में मौत के मामलों की बात करें तो चार फरवरी को 107, तीन फरवरी को 110, दो फरवरी को 94, एक फरवरी को 118 लोगों ने संक्रमण से जान गंवा चुके हैं.

जनवरी में 24 घंटे के दौरान संक्रमण के सर्वाधिक 20,346 मामले बीते सात जनवरी को दर्ज किए गए थे. वहीं इस अवधि में सबसे अधिक 264 लोगों की मौत छह जनवरी को हुई थी.

31 जनवरी को 13,052, 30 जनवरी को 13,083, 29 जनवरी को 18,855, 28 जनवरी को 11,666, 27 जनवरी को 12,689, 26 जनवरी को 9,102, 25 जनवरी को 13,203, 24 जनवरी को 14,849, 23 जनवरी को 14,256, 22 जनवरी को 14,545, 21 जनवरी को 15,223, 20 जनवरी को 13,823 नए मामले सामने आए थे.

31 जनवरी को 127, 30 जनवरी को 137, 29 जनवरी को 163, 28 जनवरी को 123, 27 जनवरी को 137, 26 जनवरी को 117, 25 जनवरी को 131, 24 जनवरी को 155, 23 जनवरी को 152, 22 जनवरी को 163, 21 जनवरी को 151, 20 जनवरी को 162 लोगों ने संक्रमण से जान गंवाई थी.

इससे पहले दिसंबर महीने में 24 घंटे के दौरान पांच दिसंबर को संक्रमण के अधिकतम 36,652 मामले सामने आए थे और चार दिसंबर को संक्रमण से अधिकतम 540 लोगों की मौत हुई थी. नवंबर महीने 24 घंटे के दौरान सात नवंबर को संक्रमण के अधिकतम 50,356 मामले सामने आए थे और पांच नवंबर को संक्रमण से अधिकतम 704 लोगों की मौत हुई थी.

अक्टूबर महीने की बात करें तो एक तारीख को अधिकतम 86,821 और 28 अक्टूबर को न्यूनतम 43,893 मामले 24 घंटे के दौरान सामने आए थे. अक्टूबर में 24 घंटे में मरने वालों की अधिकतम संख्या 1 अक्टूबर को 1,181 थी.

सात सितंबर को 90,802 और 30 सितंबर को 80,472 नए मामले दर्ज किए गए थे. सात से 30 सितंबर के बीच नए मामलों की संख्या घटती बढ़ती रही. इस अवधि में 22 सितंबर को 75,083 (न्यूनतम) और 17 सितंबर को 97,894 (अधिकतम) मामले दर्ज किए गए थे, जो अब तक का सर्वाधिक आंकड़ा भी है.

छह सितंबर को संक्रमण के नए मामले पहली बार 90 हजार (90,632) के पार हो गए थे. 28 अगस्त को पहली बार 70 हजार (75,760) के पार, सात अगस्त को पहली बार 60 हजार (62,538) के पार, 30 जुलाई को पहली बार 50 हजार के पार हो गए थे.

इसी तरह 20 जुलाई को यह पहली बार 40 हजार के पार, 16 जुलाई को पहली बार 30 हजार के पार, 10 जुलाई को पहली बार 25 हजार (26,506) के पार, तीन जुलाई को पहली बार 20 हजार के पार, 21 जून को पहली बार 15 हजार के पार और 20 जून को संक्रमण के नए मामलों की संख्या पहली बार 14 हजार के पार हुई थी.

सितंबर महीने में एक दिन में मरने वालों की बात करें तो एक सितंबर को इनकी संख्या 819 और 29 सितंबर को न्यूनतम 776 थी. इन दो तारीखों के अलावा पूरे महीने हर दिन मरने वालों की संख्या एक हजार से अधिक रही है. 16 सितंबर को 1290 लोगों की जान गई, जो एक दिन में मरने वालों का सर्वाधिक आंकड़ा है.

10 अगस्त से 31 अगस्त तक बीते 24 घंटे या एक दिन में मरने वालों की संख्या 1007 से अधिकतम 1,092 (19 अगस्त का आंकड़ा) के बीच रही. 24 जुलाई से नौ अगस्त के बीच एक दिन या 24 घंटे में मौत का आंकड़ा 700 से लेकर 933 (आठ अगस्त का आंकड़ा) के बीच रहा है. एक जुलाई से 23 जुलाई के बीच यह आंकड़ा 507 से 1,129 के बीच रहा.

11 जून से 30 जून के बीच मरने वालों की संख्या 300 से 500 के अंदर रही है. 22 जून को एक दिन में मरने वालों की संख्या पहली बार 400 से अधिक रही थी. और 11 जून को पहली बार मरने वालों की संख्या 300 के आंकड़े को पार कर गई थी.

दुनियाभर में मामले 10.49 करोड़ से ज़्यादा, 22.86 लाख से अधिक लोगों की मौत

अमेरिका की जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार, पूरी दुनिया में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 104,947,762 हो गए हैं और अब तक 2,286,252 लोगों की जान जा चुकी है.

दुनियाभर में कोरोना से अमेरिका सबसे अधिक प्रभावित देश है. यहां संक्रमण के अब तक 26,679,634 मामले सामने आए हैं, जबकि मरने वालों की संख्या 455,875 हो चुकी है.

भारत संक्रमण से सर्वाधिक प्रभावित दूसरा देश है. भारत के बाद तीसरे सर्वाधिक प्रभावित देश ब्राजील में संक्रमण के अब तक 9,396,293 मामले मिले हैं और 228,795 लोग दम तोड़ चुके हैं.

ब्राजील के बाद चौथे सबसे प्रभावित देश ब्रिटेन में संक्रमण के 3,903,706 मामले आए हैं, जबकि 110,462 मरीजों की मौत दर्ज की जा चुकी है.

ब्रिटेन के बाद पांचवें सर्वाधिक प्रभावित देश रूस में संक्रमण के 3,891,274 मामले आए हैं, जबकि 74,520 मरीजों की मौत के मामले सामने आए हैं.

रूस के बाद छठे सर्वाधिक प्रभावित देश फ्रांस में संक्रमण के 3,310,071 मामले हैं और 77,741 लोगों ने जान गंवा दी है. फ्रांस के बाद सातवें सर्वाधिक प्रभावित स्पेन में संक्रमण के 2,913,425 मामले सामने आए हैं और 60,802 मौतें हुई हैं.

स्पेन के बाद आठवें सर्वाधिक प्रभावित देश इटली में संक्रमण के 2,597,446 मामले दर्ज हुए हैं, जबकि 90,241 मौतें हुई हैं. इटली के बाद नौवें प्रभावित देश तुर्की में संक्रमण के 2,508,988 मामले सामने आए हैं और 26,467 मौतें हुई हैं.

तुर्की के बाद 10वें सर्वाधिक प्रभावित देश जर्मनी में संक्रमण के 2,267,705 मामले सामने आ चुके हैं, जबकि 60,634 लोगों की यह महामारी जान ले चुकी है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)