भारत

पिछले पांच वर्षों में 6.76 लाख से अधिक लोगों ने भारतीय नागरिकता छोड़ी: गृह मंत्रालय

गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने लोकसभा में बताया कि 2015 से 2019 के बीच 6.76 लाख से अधिक लोगों ने भारतीय नागरिकता छोड़ी और दूसरे देशों की नागरिकता ले ली. विदेश में 1.25 करोड़ भारतीय नागरिक रह रहे हैं.

प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो: रॉयटर्स)

प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो: रॉयटर्स)

नई दिल्ली: गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने मंगलवार को लोकसभा को बताया कि साल 2015 से 2019 के बीच 6.76 लाख से अधिक लोगों ने भारतीय नागरिकता छोड़ी और दूसरे देशों की नागरिकता ले ली.

राय ने लोकसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि विदेश मंत्रालय के पास उपलब्ध जानकारी के अनुसार कुल 1,24,99,395 भारतीय नागरिक दूसरे देशों में रह रहे हैं.

मंत्री ने कहा कि 2015 से 2019 के बीच 6.76 लाख से अधिक लोगों ने भारतीय नागरिकता छोड़ी.

citizenship

(स्रोत: लोकसभा)

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक राय ने कहा कि 2015 में 1,41,656 लोगों को भारतीय नागरिकता छोड़कर अन्य देशों की नाकरिकता ले ली.

इसी तरह 2016 में 1,44,942, 2017 में 1,27,905, 2018 में 1,25,130 और 2019 में 1,36,441 लोगों ने भारतीय राष्ट्रीयता को त्याग दिया.

आजतक के मुताबिक गृह मंत्रालय ने बताया कि  2005 से 2020 के बीच 37 लाख विदेशियों को ओसीआई (ओवरसीज सिटिजन ऑफ इंडिया) कार्ड दिया गया. गृह मंत्रालय के अनुसार, विदेश में 1.25 करोड़ भारतीय नागरिक रह रहे हैं जिसमें 37 लाख लोग ओसीआई कार्डधारक हैं.

मंत्रालय ने लिखित जवाब में यह भी कहा कि सरकार दोहरी नागरिकता के किसी प्रस्ताव पर विचार नहीं कर रही है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)