भारत

तमिलनाडु: पटाखा कारखाने में विस्फोट में कम से कम 11 श्रमिकों की मौत

तमिलनाडु के विरुधुनगर ज़िले में सत्तूर के पास एक गांव में स्थिति पटाखा कारखाने में शुक्रवार दोपहर बाद हुए हादसे में तकरीबन 20 लोगों के घायल होने की सूचना है. घायलों को शिवकाशी और सत्तूर के सरकारी अस्पतालों में भर्ती कराया गया है.

Virudhunagar: Injured workers after an explosion ripped through a fireworks factory near Sattur, in Virudhunagar district, Friday, Feb. 12, 2021. At least 11 workers were killed and 36 injured. (PTI Photo)(PTI02 12 2021 000239B)

तमिलनाडु के विरुधुनगर जिले में स्थित पटाखा कारखाने में विस्फोट में घायल महिलाएं. (फोटो: पीटीआई)

विरुधुनगर: तमिलनाडु के विरुधुनगर जिले के सत्तूर में एक निजी आतिशबाजी कारखाने में शुक्रवार को हुए विस्फोट में कम से कम 11 श्रमिकों की मौत हो गई और तकरीबन 36 लोगों के घायल होने की सूचना है.

घायलों को शिवकाशी और सत्तूर के सरकारी अस्पतालों में भर्ती कराया गया है. हादसे में मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है.

पुलिस ने कहा कि यह घटना उस समय हुई जब आतिशबाजी बनाने के लिए कुछ रसायनों को मिलाया जा रहा था. इस दौरान आग लग गई, जिसके बाद कारखाने में लगातार कई बार ब्लास्ट हुए.

सत्तूर के पास अच्छानकुलम गांव स्थित कारखाने में लगी आग को बुझाने के लिए सत्तूर शिवकाशी और वेम्बाकोट्टई समेत कई स्थानों से दमकल की 10 गाड़ियों को रवाना किया गया.

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, घटना शुक्रवार दोपहर 1:30 बजे मरिअम्मल फायरवर्क्स नाम के कारखाने में हुई. इस कारखाने को पेट्रोलियम एंड एक्सप्लोसिव्स सेफ्टी ऑर्गनाइजेशन (पीईएसओ) की ओर से लाइसेंस मिला हुआ था.

रिपोर्ट के अनुसार, कारखाने में कम से कम 10 झोपड़ियां, जहां काम होता था, पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई हैं. इस हादसे में जिन लोगों की मौत हुई उनकी पहचान होनी अभी बाकी है.

जिला कलेक्टर आर. कन्नन और एसपी पी. पेरुमल ने घटनास्थल का दौरा कर जांच कर रहे हैं. हादसे के कारणों का पता लगाने के लिए पीईएसओ के अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए हैं. इलईरामपन्नई पुलिस भी जांच कर रही है.

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ई. पलानीस्वामी ने हादसे में जिन लोगों की मौत हुई उनके परिजनों को तीन लाख (प्रति परिवार) और घायलों (प्रति व्यक्ति) का एक लाख रुपये के मुआवजे की घोषणा की है.

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘मैंने जिला प्रशासन और चिकित्सा विशेषज्ञों को घायलों का बेहतर इलाज करने का निर्देश दिया है. स्थानीय प्रशासन से हादसे में मारे गए और घायलों के परिवारों को जानकारी सुनिश्चित करने को कहा है. नियमित तौर पर जिला प्रशासन को इस तरह के उद्योगों की जांच के लिए भी कहा है.’

तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारी पुरोहित ने कहा, ‘मैं उन लोगों के परिवारों के लिए अपनी शोक संवेदना प्रस्तुत करता हूं, जो अपने निकट संबंधियों के खो देने का शोक मना रहे हैं. मैं अस्पतालों में भर्ती घायलों के शीघ्र और पूर्ण स्वस्थ होने की प्रार्थना में तमिलनाडु के लोगों के साथ हूं.’

समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हादसे में जिन लोगों की जान गई उनके परिजनों के लिए दो लाख रुपये (प्रति परिवार) और गंभीर रूप से घायलों के लिए 50 हजार रुपये (प्रति व्यक्ति) की घोषणा की है.