भारत

मीडिया बोल, एपिसोड 10: गोरखपुर में बच्चों की मौत और लोक स्वास्थ्य का सवाल

मीडिया बोल की 10वीं कड़ी में वरिष्ठ पत्रकार उर्मिलेश, टीवी पत्रकार अरफ़ा ख़ानम शेरवानी और द वायर हिंदी के कृष्णकांत के साथ गोरखपुर में बच्चों की मौत के मीडिया कवरेज पर चर्चा कर रहे हैं.

 

  • Abhishek Singh

    Sir, the news paper you are mentioning,”The Indian Express “in your discussion is showing double standard.I am surprised and highly disappointed that there was not a single information of the gorkahpur child death incident in print edition of Lucknow in the The Indian express on 12th August,2017.All other newspapers have published the news.However in epaper edition of Lucknow it has fully reported the incident. But in print edition of Lucknow it is not available. Gorakhpur is not too far from Lucknow.But the incident was not reported.On 13th August the incident was reported half-heartedly in Lucknow print edition. I do not know about the print edition of Delhi what they have published because I am reader of Lucknow edition.

  • Sheeba Aslam Fehmi

    भारत के बहुसंख्यक अवाम सरकार से मंदिर, मुस्लमान-वध और गौरक्षा मांग रहे हैं. वो बेहतर अस्पताल, स्कूल, सड़कें और बिजली आदि मांग ही नहीं रहे हैं. सरकार उन्हें वही देगी जो बहुसंख्यकों के लिए ज़रूरी हैं. भागवत चाहते हैं की प्रोटीन और खून की कमी से ग्रस्त हिन्दू महिलाऐं 10 बलिष्ठ हिन्दू लड़के जने और आप हैं की नागरिक सुविधाओ की कमी गिना रहे हैं.