भारत

यूपी: संदिग्ध अवस्था में खेत में अचेत मिली तीन युवतियों में से दो की मौत, एक की हालत गंभीर

घटना उन्नाव ज़िले के बबुरहा गांव की है, जहां चारा लेने गई एक परिवार की तीन युवतियों के घर न लौटने पर परिवार ने खोजबीन के दौरान उन्हें एक खेत में अचेत पाया. उनके हाथ भी बंधे थे. पुलिस का कहना है कि प्रथमदृष्टया मामला ज़हर खाने का लग रहा है. जांच के लिए छह टीमें बनाई गई हैं.

Jammu: Youngsters hold placards to create awareness on gender equality, ahead of the International Day of the Girl Child on Oct.11, in Jammu district, Saturday, Oct. 10, 2020. (PTI Photo)(PTI10-10-2020 000024B)

(फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले के असोहा इलाके के बबुरहा गांव के बाहर बीते बुधवार को दलित बिरादरी की तीन युवतियां बेसुध मिली. अस्पताल ले जाने पर उनमें से दो को मृत घोषित कर दिया गया.

पुलिस अधीक्षक आनंद कुलकर्णी ने बताया कि बबुरहा गांव में एक ही परिवार की तीन लड़कियां दोपहर करीब तीन बजे जानवरों के लिए चारा लेने घर से निकली थीं. देर शाम तक वापस न आने पर परिजनों ने उनकी तलाश की तो वे तीनों गांव के बाहर खेत में अचेत मिली और वे एक दुपट्टे से बंधी हुई थीं.

जिन दो लड़कियों की मौत हुई है, उसमें से एक की उम्र 13 और दूसरे की 16 साल थी. वहीं तीसरी लड़की 17 साल की है. मृत युवतियां बुआ-भतीजी थीं, 13 वर्षीय लड़की चचेरी बहन थी.

उन्होंने बताया कि सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने तीनों लड़कियों को पास के ही सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने दो को मृत घोषित कर दिया.

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि एक अन्य लड़की को गंभीर हालत में उन्नाव जिला अस्पताल लाया गया, जहां प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें कानपुर रेफर कर दिया गया.

कुलकर्णी ने बताया कि डॉक्टरों के मुताबिक, प्रथम दृष्टया यह मामला जहर खाने का लग रहा है. मौके पर झाग मिलने की भी जानकारी मिली है. प्रत्यक्षदर्शियों के बयान लेकर जांच की जा रही है. जल्द ही मामला स्पष्ट हो जाएगा.

उन्होंने बताया कि पुलिस ने जांच शुरू कर दी है. लड़कियों के पोस्टमार्टम की रिपोर्ट का इंतजार है. उसी के आधार पर मौत का कारण स्पष्ट किया जा सकेगा.

अमर उजाला के अनुसार, बबुरहा गांव छावनी में तब्दील हो गया है, जहां जगह-जगह बैरिकेड लगे हैं. इस बीच बताया गया कि मीडिया को मृतकों के परिजनों से नहीं मिलने दिया जा रहा.

उन्नाव की घटना दिल दहला देने वाली, तीसरी लड़की को इलाज के लिए दिल्ली पहुंचाया जाए: प्रियंका

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने इस घटना को ‘दिल दहला देने वाली’ करार दिया और कहा कि तीसरी लड़की को उपचार के लिए दिल्ली पहुंचाया जाए.

उन्होंने अपने फेसबुक पर लिखा, ‘उन्नाव की घटना दिल दहला देने वाली है. लड़कियों के परिवार की बात सुनना एवं तीसरी बच्ची को तुरंत अच्छा इलाज मिलना जांच-पड़ताल एवं न्याय की प्रक्रिया के लिए बेहद जरूरी है.’

कांग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी ने कहा, ‘खबरों के अनुसार पीड़ित परिवार को नजरबंद कर दिया गया है. यह न्याय के कार्य में बाधा डालने वाला काम है. आखिर परिवार को नजरबंद करके सरकार को क्या हासिल होगा?’

प्रियंका ने कहा, ‘उत्तर प्रदेश सरकार से निवेदन है कि परिवार की पूरी बात सुनें एवं त्वरित प्रभाव से तीसरी बच्ची को इलाज के लिए दिल्ली शिफ्ट किया जाए.’

इस मामले को लेकर बबुरहा गांव के लोग धरने पर बैठे हैं और पीड़ित के परिवार बीती रात से ही थाने में बिठाए गए हैं.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)