भारत

पश्चिम बंगाल: मंत्री पर बम से हमला, ममता का आरोप- दूसरी पार्टी में शामिल होने का दबाव था

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गुरुवार को आरोप लगाया कि राज्य के मंत्री जाकिर हुसैन पर रेलवे स्टेशन पर बम से हुआ हमला एक साज़िश का हिस्सा था और कुछ लोग उन पर दूसरी पार्टी में शामिल होने के लिए ‘दबाव’ बना रहे थे. सुरक्षा में चूक के लिए बनर्जी ने रेलवे पर भी निशाना साधा.

पश्चिम बंगाल के मंत्री जाकिर हुसैन.

पश्चिम बंगाल के मंत्री जाकिर हुसैन.

बहरामपुर (पश्चिम बंगाल): पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले में बुधवार रात को निमटीटा रेलवे स्टेशन पर अज्ञात हमलावरों द्वारा बम से किए गए हमले में राज्य के मंत्री जाकिर हुसैन गंभीर रूप से घायल हो गए.

पुलिस ने बताया कि मंत्री के साथ मौजूद कम से कम दो और लोग भी इस हमले में घायल हुए हैं.

पश्चिम बंगाल पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि श्रम राज्य मंत्री हुसैन स्टेशन के 2 नंबर प्लेटफॉर्म पर रात करीब 10 बजे कोलकाता जाने वाली ट्रेन का इंतजार कर रहे थे, तभी उन पर हमला हुआ.

उन्होंने बताया कि मुर्शिदाबाद जिले के जंगीपुरा से विधायक और दो अन्य लोगों को जंगीपुरा उप संभागीय अस्पताल ले जाया गया. अस्पताल के एक अधिकारी ने बताया कि मंत्री को पैरों और पेट के निचले हिस्से में चोटें आई है.

उन्होंने कहा, ‘हम उन्हें कोलकाता के किसी अस्पताल में भेजने से पहले स्थिर करने की कोशिश कर रहे हैं.’

तृणमूल के नेता एवं वरिष्ठ मंत्री मलय घटक ने इस हमले के लिए ‘पार्टी के राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों को’ जिम्मेदार ठहराया है, जबकि तृणमूल से निष्कासित किए गए एवं मुर्शिदाबाद जिला परिषद के सभाधिपति मुशर्रफ हुसैन ने दावा किया कि यह पार्टी के बीच आंतरिक कलह का नतीजा है.

बता दें कि पश्चिम बंगाल में इस साल अप्रैल-मई में चुनाव होने वाले हैं.

वहीं, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बृहस्पतिवार को आरोप लगाया कि राज्य के मंत्री जाकिर हुसैन पर बम से हुआ हमला एक साजिश का हिस्सा था और कुछ लोग उन पर दूसरी पार्टी में शामिल होने के लिए ‘दबाव’ बना रहे थे.

हुसैन से मिलने अस्पताल पहुंचीं, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने रेलवे पर भी निशाना साधा.

बनर्जी ने पत्रकारों से कहा, ‘मंत्री जाकिर हुसैन पर हमला एक सोची-समझी साजिश थी. कुछ (पार्टी के) लोग पिछले कुछ महीने से जाकिर हुसैन पर दबाव बना रहे थे, कि वह उनकी पार्टी में शामिल हों. मैं अधिक जानकारी नहीं दूंगी क्योंकि जांच जारी है.’

मुख्यमंत्री ने हमले में गंभीर रूप से घायल हुए लोगों को पांच-पांच लाख रुपये और मामूली रूप से घायल हुए लोगों को एक-एक लाख रुपये मुआवजा देने की घोषणा की है.

उन्होंने पूछा, ‘जब हमला रेलवे स्टेशन पर हुआ, तो रेलवे सुरक्षा में चूक की अपनी जिम्मेदारी से इनकार कैसे कर सकती है?’

बनर्जी ने बताया कि हमले में 26 लोग घायल हुए हैं. राज्य सरकर ने घटना की जांच अपराध जांच विभाग (सीआईडी) को सौंप दी है.

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘जांच सीआईडी का सौंप दी गई हैं. एक ‘फोरेंसिक’ दल सुबह घटनास्थल भी गया था.’

इस बीच भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा, ‘यह घटना दिखाती है कि पश्चिम बंगाल मंत्रियों के लिए भी सुरक्षित नहीं है. सरकार कानून एवं व्यवस्था कायम रखने में नाकाम है.’

इस बीच, भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी की रैली पर बुधवार की रात उत्तरी कोलकाता के बेालघटा इलाके में अज्ञात बदमाशों ने हमला किया था.

इस घटना में पार्टी के उत्तरी कोलकाता के जिला अध्यक्ष शिवाजी सिंघा रॉय सहित भाजपा के दो कार्यकर्ता घायल हो गए थे. दोनों अस्पताल में भर्ती हैं.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)