दुनिया

कोराना वायरस से सर्वाधिक प्रभावित देश अमेरिका में मरने वालों की संख्या पांच लाख के पार

भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 11,016,434 हो गई है, जबकि अब तक 156,463 अपनी जान गंवा चुके हैं. विश्व में संक्रमण के 11.13 करोड़ से ज़्यादा मामले हो चुके हैं और 24.66 लाख से अधिक लोगों की मौत हुई है.

(फोटो: रॉयटर्स)

(फोटो: रॉयटर्स)

नई दिल्ली: भारत में पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के 10,584 नए मामले सामने आने के साथ देश में संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 11,016,434 हो गई है. इनमें से 1.07 करोड़ से अधिक लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से मंगलवार सुबह आठ बजे जारी किए गए अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, 78 और मरीजों की मौत के बाद मृतकों कुल संख्या बढ़कर 156,463 हो गई है.

आकंड़ों के अनुसार, कुल 10,712,665 लोगों के संक्रमण मुक्त होने के साथ देश में मरीजों के ठीक होने की दर बढ़कर 97.24 प्रतिशत हो गई. वहीं, कोविड-19 से मृत्यु दर 1.42 प्रतिशत है.

मंत्रालय के अनुसार, देश में अभी 147,306 लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है, जो कुल मामलों का 1.34 प्रतिशत है.

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के अनुसार, देश में 22 फरवरी तक 212,230,431 नमूनों की कोविड-19 संबंधी जांच की जा चुकी है. इनमें से 678,685 नमूनों की जांच सोमवार को की गई थी.

आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटे में जिन 78 लोगों की मौत हुई, उनमें से महाराष्ट्र के 18, केरल के 16 और पंजाब के 15 मृतक शामिल हैं.

मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, देश में वायरस से अभी तक कुल 156,463 लोगों की मौत हुई है, जिनमें से महाराष्ट्र के 51,806, तमिलनाडु के 12,466, कर्नाटक के 12,299, दिल्ली के 10,901, पश्चिम बंगाल के 10,251, उत्तर प्रदेश के 8,716 और आंध्र प्रदेश के 7,167 मृतक शामिल हैं.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि अभी तक जिन लोगों की मौत हुई, उनमें से 70 प्रतिशत से ज्यादा मरीजों को अन्य बीमारियां भी थीं.

आंकड़ों के मुताबिक, भारत में कोविड-19 संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 10 लाख से 20 लाख (सात अगस्त को) तक पहुंचने में 21 दिनों का समय लगा था, जबकि 20 से 30 लाख (23 अगस्त को) की संख्या होने में 16 और दिन लगे. हालांकि 30 लाख से 40 लाख (पांच सितंबर) तक पहुंचने में मात्र 13 दिनों का समय लगा है.

वहीं, 40 लाख के बाद 50 लाख (16 सितंबर को) की संख्या को पार करने में केवल 11 दिन लगे. मामलों की संख्या 50 लाख से 60 लाख (28 सितंबर को) होने में 12 दिन लगे थे. 60 से 70 लाख (11 अक्टूबर) होने में इसे 13 दिन लगे. 70 से 80 लाख (29 अक्टूबर को) होने में 19 दिन लगे और 80 से 90 लाख (20 नवंबर को) होने में 13 दिन लगे. 90 लाख से एक करोड़ (19 दिसंबर को) होने में 29 दिन लगे.

देश में 110 दिन में कोविड-19 के मामले एक लाख हुए थे और 59 दिनों में वह 10 लाख के पार चले गए थे.

वायरस के मामले और मौतें

24 घंटे में सामने आए नए मामलों की बात करें तो बीते 22 जनवरी को 14,199, 21 फरवरी को 14,264, 20 फरवरी को 13,993, 19 फरवरी को 13,193, 18 फरवरी को 12,881, 17 फरवरी को 11,610, 16 फरवरी को 9,121, 15 फरवरी को 11,649, 14 फरवरी को 12,194, 13 फरवरी को 12,143, 12 फरवरी को 9,309, 11 फरवरी को 12,923, दस फरवरी को 11,067, नौ फरवरी को 9,110, आठ फरवरी को 11,831, सात फरवरी को 12,059, छह फरवरी को 11,713, पांच फरवरी को 12,408, चार फरवरी को 12,899, तीन फरवरी को 11,039, दो फरवरी को 8,635, एक फरवरी को 11,427 नए मामले सामने आए थे.

इसी तरह 24 घंटे में मौत के मामलों की बात करें तो 22 जनवरी को 83, 21 फरवरी को 90, 20 फरवरी को 101, 19 फरवरी को 97, 18 फरवरी को 101, 17 फरवरी को 100, 16 फरवरी को 81, 15 फरवरी को 90, 14 फरवरी को 92, 13 फरवरी को 103, 12 फरवरी को 78, 11 फरवरी को 108, दस फरवरी को 94, नौ फरवरी को 78, आठ फरवरी को 84, सात फरवरी को 78, छह फरवरी को 95, पांच फरवरी को 120, चार फरवरी को 107, तीन फरवरी को 110, दो फरवरी को 94, एक फरवरी को 118 लोग संक्रमण से जान गंवा चुके हैं.

जनवरी में 24 घंटे के दौरान संक्रमण के सर्वाधिक 20,346 मामले बीते सात जनवरी को दर्ज किए गए थे. वहीं इस अवधि में सबसे अधिक 264 लोगों की मौत छह जनवरी को हुई थी.

31 जनवरी को 13,052, 30 जनवरी को 13,083, 29 जनवरी को 18,855, 28 जनवरी को 11,666, 27 जनवरी को 12,689, 26 जनवरी को 9,102, 25 जनवरी को 13,203, 24 जनवरी को 14,849, 23 जनवरी को 14,256, 22 जनवरी को 14,545, 21 जनवरी को 15,223, 20 जनवरी को 13,823 नए मामले सामने आए थे.

31 जनवरी को 127, 30 जनवरी को 137, 29 जनवरी को 163, 28 जनवरी को 123, 27 जनवरी को 137, 26 जनवरी को 117, 25 जनवरी को 131, 24 जनवरी को 155, 23 जनवरी को 152, 22 जनवरी को 163, 21 जनवरी को 151, 20 जनवरी को 162 लोगों ने संक्रमण से जान गंवाई थी.

इससे पहले दिसंबर महीने में 24 घंटे के दौरान पांच दिसंबर को संक्रमण के अधिकतम 36,652 मामले सामने आए थे और चार दिसंबर को संक्रमण से अधिकतम 540 लोगों की मौत हुई थी. नवंबर महीने 24 घंटे के दौरान सात नवंबर को संक्रमण के अधिकतम 50,356 मामले सामने आए थे और पांच नवंबर को संक्रमण से अधिकतम 704 लोगों की मौत हुई थी.

अक्टूबर महीने की बात करें तो एक तारीख को अधिकतम 86,821 और 28 अक्टूबर को न्यूनतम 43,893 मामले 24 घंटे के दौरान सामने आए थे. अक्टूबर में 24 घंटे में मरने वालों की अधिकतम संख्या 1 अक्टूबर को 1,181 थी.

सात सितंबर को 90,802 और 30 सितंबर को 80,472 नए मामले दर्ज किए गए थे. सात से 30 सितंबर के बीच नए मामलों की संख्या घटती बढ़ती रही. इस अवधि में 22 सितंबर को 75,083 (न्यूनतम) और 17 सितंबर को 97,894 (अधिकतम) मामले दर्ज किए गए थे, जो अब तक का सर्वाधिक आंकड़ा भी है.

छह सितंबर को संक्रमण के नए मामले पहली बार 90 हजार (90,632) के पार हो गए थे. 28 अगस्त को पहली बार 70 हजार (75,760) के पार, सात अगस्त को पहली बार 60 हजार (62,538) के पार, 30 जुलाई को पहली बार 50 हजार के पार हो गए थे.

इसी तरह 20 जुलाई को यह पहली बार 40 हजार के पार, 16 जुलाई को पहली बार 30 हजार के पार, 10 जुलाई को पहली बार 25 हजार (26,506) के पार, तीन जुलाई को पहली बार 20 हजार के पार, 21 जून को पहली बार 15 हजार के पार और 20 जून को संक्रमण के नए मामलों की संख्या पहली बार 14 हजार के पार हुई थी.

सितंबर महीने में एक दिन में मरने वालों की बात करें तो एक सितंबर को इनकी संख्या 819 और 29 सितंबर को न्यूनतम 776 थी. इन दो तारीखों के अलावा पूरे महीने हर दिन मरने वालों की संख्या एक हजार से अधिक रही है. 16 सितंबर को 1290 लोगों की जान गई, जो एक दिन में मरने वालों का सर्वाधिक आंकड़ा है.

10 अगस्त से 31 अगस्त तक बीते 24 घंटे या एक दिन में मरने वालों की संख्या 1007 से अधिकतम 1,092 (19 अगस्त का आंकड़ा) के बीच रही. 24 जुलाई से नौ अगस्त के बीच एक दिन या 24 घंटे में मौत का आंकड़ा 700 से लेकर 933 (आठ अगस्त का आंकड़ा) के बीच रहा है. एक जुलाई से 23 जुलाई के बीच यह आंकड़ा 507 से 1,129 के बीच रहा.

11 जून से 30 जून के बीच मरने वालों की संख्या 300 से 500 के अंदर रही है. 22 जून को एक दिन में मरने वालों की संख्या पहली बार 400 से अधिक रही थी. और 11 जून को पहली बार मरने वालों की संख्या 300 के आंकड़े को पार कर गई थी.

दुनियाभर में मामले 11.13 करोड़ से ज़्यादा, 24.66 लाख से अधिक लोगों की मौत

अमेरिका की जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार, पूरी दुनिया में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 111,757,691 हो गए हैं और अब तक 2,475,283 लोगों की जान जा चुकी है.

दुनियाभर में कोरोना से अमेरिका सबसे अधिक प्रभावित देश है. यहां संक्रमण के अब तक 28,190,403 मामले सामने आए हैं, जबकि मरने वालों की संख्या 500,310 हो चुकी है.

भारत संक्रमण से सर्वाधिक प्रभावित दूसरा देश है. भारत के बाद तीसरे सर्वाधिक प्रभावित देश ब्राजील में संक्रमण के अब तक 10,195,160 मामले मिले हैं और 247,143 लोग दम तोड़ चुके हैं.

ब्राजील के बाद ब्रिटेन को पछाड़कर रूस चौथा सर्वाधिक प्रभावित देश बन गया है. यहां संक्रमण के 4,142,126 मामले आए हैं, जबकि 82,866 मरीजों की मौत दर्ज की जा चुकी है.

रूस के बाद पांचवें सर्वाधिक प्रभावित देश ब्रिटेन में संक्रमण के 4,138,233 मामले आए हैं, जबकि 120,988 मरीजों की मौत के मामले सामने आए हैं.

ब्रिटेन के बाद छठे सर्वाधिक प्रभावित देश फ्रांस में संक्रमण के 3,669,354 मामले आए हैं और 84,764 लोगों ने जान गंवा दी है. फ्रांस के बाद सातवें सर्वाधिक प्रभावित स्पेन में संक्रमण के 3,153,971 मामले सामने आए हैं और 67,636 मौतें हुई हैं.

स्पेन के बाद आठवें सर्वाधिक प्रभावित देश इटली में संक्रमण के 2,818,863 मामले दर्ज हुए हैं, जबकि 95,992 मौतें हुई हैं. इटली के बाद नौवें प्रभावित देश तुर्की में संक्रमण के 2,646,526 मामले सामने आए हैं और 28,138 मौतें हुई हैं.

तुर्की के बाद 10वें सर्वाधिक प्रभावित देश जर्मनी में संक्रमण के 2,399,499 मामले सामने आ चुके हैं, जबकि 68,365  लोगों की यह महामारी जान ले चुकी है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)