भारत

पश्चिम बंगाल सहित चार राज्यों, एक केंद्रशासित प्रदेश में विधानसभा चुनाव की तारीख़ का ऐलान

चुनाव आयोग ने इस साल पश्चिम बंगाल की 294 सीटों, तमिलनाडु की 234 सीटों, केरल की 140 सीटों, असम की 126 सीटों और केंद्रशासित प्रदेश पुदुचेरी की 30 सीटों पर विधानसभा चुनाव का ऐलान किया है. बंगाल में आठ चरणों, असम में तीन जबकि केरल, तमिलनाडु और पुदुचेरी में एक चरण में चुनाव होंगे. मतगणना दो मई को होगी.

 New Delhi: Chief Election Commissioner Sunil Arora (C) with Election Commissioners Sushil Chandra (L) and Rajiv Kumar addresses a press conference in New Delhi, Friday, Feb. 26, 2021. (PTI Photo/Manvender Vashist)

नई दिल्ली में शुक्रवार को प्रेस वार्ता के दौरान मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा (बीच में), चुनाव आयुक्त सुशील चंद्र (बाएं) और राजीव कुमार. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्लीः चुनाव आयोग ने इस साल चार राज्यों और एक केंद्रशासित प्रदेश में होने जा रहे विधानसभा चुनावों की तारीख का शुक्रवार को ऐलान कर दिया है.

पश्चिम बंगाल की 294 सीटों, तमिलनाडु की 234 सीटों, केरल की 140 सीटों, असम की 126 सीटों और केंद्रशासित प्रदेश पुदुचेरी की 30 सीटों पर इस साल विधानसभा चुनाव होंगे.

मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुनील अरोड़ा ने बताया कि पश्चिम बंगाल बंगाल में आठ चरणों में चुनाव होंगे.

पश्चिम बंगाल में पहले चरण के तहत 27 मार्च, दूसरे चरण के तहत एक अप्रैल, तीसरे चरण के तहत छह अप्रैल, चौथे चरण के तहत 10 अप्रैल, पांचवें चरण के तहत 17 अप्रैल, छठे चरण के तहत 22 अप्रैल, सातवें चरण के तहत 26 अप्रैल और आठवें चरण के तहत 29 अप्रैल को चुनाव होंगे, जबकि नतीजे दो मई को घोषित किए जाएंगे.

असम में तीन चरणों के तहत मतदान 27 मार्च से शुरू होंगे. एक अप्रैल को दूसरे चरण के तहत जबकि छह अप्रैल को तीसरे चरण के तहत मतदान होगा.

केरल, तमिलनाडु और पुदुचेरी में सिर्फ एक-एक चरण में छह अप्रैल को मतदान होगा. सभी चारों राज्यों और केंद्रशासित प्रदेश पुदुचेरी के नतीजे दो मई को घोषित किए जाएंगे.

सीईसी अरोड़ा ने कहा कि चुनावों की तारीखों के ऐलान के साथ ही आदर्श आचार संहिता तुरंत लागू हो गई है. उन्होंने बताया कि चुनाव के दौरान पर्याप्त सुरक्षाकर्मियों की तैनाती सुनिश्चित की जाएगी. सभी महत्वपूर्ण, संवेदनशील मतदान केंद्रों की पहचान कर वहां पर्याप्त संख्या में सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की जाएगी.

मालूम हो कि डोर-टू-डोर चुनाव प्रचार के लिए संख्या उम्मीदवार सहित सिर्फ पांच लोगों तक सीमित कर दी गई है. रोड-शो को मंजूरी दी गई है.

अरोड़ा ने बताया, ‘इन चुनावों के दौरान कुल 824 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों में वोट डाले जाएंगे. तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, केरल, असम और पुदुचेरी में 2.7 लाख मतदान केंद्रों पर 18.68 करोड़ मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे.’

जिन राज्यों में इस साल चुनाव होने हैं, वहां पर विभिन्न पार्टियों ने पहले ही चुनाव अभियान शुरू कर दिया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, कांग्रेस नेता राहुल गांधी और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी सार्वजनिक रैलियों को संबोधित कर रहे हैं.

मालूम हो कि विधानसभा चुनावों के साथ ही दो संसदीय सीटों कर्नाटक के बेलगाम और आंध्र प्रदेश के तिरुपति में भी चुनाव होंगे.

सुनील अरोड़ा ने प्रेस वार्ता के दौरान यह भी कहा, ‘मेर कार्यकाल में यह आखिरी चुनाव होगा. 13 अप्रैल (कार्यकाल का आखिरी दिन) को मैं अपना कार्यालय छोड़ दूंगा.’