राजनीति

गिरिराज सिंह ने कहा- अधिकारी बात नहीं सुनते तो उन्हें ‘बांस से मारिए’

बेगूसराय में एक कार्यक्रम के दौरान भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने लोगों से कहा था कि सांसद, विधायक, गांव के मुखिया, डीएम, एसडीएम, बीडीओ- इन सभी का कर्तव्य जनता की सेवा करना है. अगर वे आपकी बात नहीं सुनते हैं तो दोनों हाथों से बांस उठाइए और उनके सिर पर दे मारिए.

Deoghar: Union Minister and BJP senior leader Giriraj Singh speaks during a campaign for party's candidate from Godda constituency, Nishikant Dubey, during an election rally ahead of the last phase of the Lok Sabha polls, in Deoghar district, Monday, May 13, 2019. (PTI Photo)(PTI5_13_2019_000101B)

गिरिराज सिंह. (फोटो: पीटीआई)

बेगूसराय (बिहार): केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह एक टिप्पणी कर एक बार फिर विवादों में आ गए हैं. शनिवार को अपने लोकसभा क्षेत्र बेगूसराय के लोगों से उन्होंने कहा कि अगर अधिकारी उनकी बात नहीं सुनते हैं तो उन्हें ‘बांस से मारिए.’

अपने मुखर बयानों को लेकर अक्सर चर्चा में रहने वाले भाजपा नेता अपने संसदीय क्षेत्र बेगूसराय में एक कृषि संस्थान द्वारा आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे.

मत्स्य पालन, पशुपालन और डेयरी मंत्री सिंह ने कहा कि उन्हें अक्सर शिकायतें मिलती हैं कि अधिकारी जनता की शिकायतों को सुनते ही नहीं हैं.

सिंह ने कहा, ‘मैं उनसे कहना चाहता हूं कि इतनी छोटी बात के लिए मेरे पास क्यों आते हैं. सांसद, विधायक, गांव के मुखिया, डीएम, एसडीएम, बीडीओ- इन सभी का कर्तव्य जनता की सेवा करना है. अगर वे आपकी बात नहीं सुनते हैं तो दोनों हाथों से बांस उठाइए और उनके सिर पर दे मारिए.’

उन्होंने कहा, ‘अगर इससे भी काम नहीं होता है तो गिरिराज आपके साथ है.’ केंद्रीय मंत्री की इस बात पर सभा में उपस्थित लोगों ने तालियां बजाईं.

इसके बाद रविवार को बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर कहा था, ‘केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह जी कह रहे हैं कि बिहार में अराजकता फैली हुई है. अधिकारी किसी की भी नहीं सुनते. मुख्यमंत्री कमजोर हैं, इसलिए बांस उठाकर जब मर्जी अधिकारियों को पीटो. गलती उजागर करने वाले पत्रकारों पर नीतीश सरकार एफआईआर (कर देती है) लेकिन हिंसा फैलाने वालों मंत्रियों को पुरस्कृत करती है.’

पटना में भाजपा के एक नेता ने नाम जाहिर नहीं होने की शर्त पर कहा, ‘गिरिराज सिंह जन नेता हैं, जिन्हें जनाक्रोश के प्रति जवाबदेही दिखानी होती है. हमें उनके बयान को शब्दश: नहीं लेना चाहिए और भावना को समझना चाहिए.’

हालांकि, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के विवादित बयान को लेकर असहमति जताई है.

कुमार से जब सिंह के बयान के बारे में पत्रकारों ने पूछा तो उन्होंने कहा, ‘आपको गिरिराज से जाकर पूछना चाहिए कि क्या इस तरह की भाषा का उपयोग करना न्यायसंगत है.’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)