दुनिया

कोरोना वायरस: दिसंबर के बाद पहली बार 35 हज़ार से अधिक मामले सामने आए

भारत में कोरोना वायरस के बीते एक दिन में 35,871 नए मामले दर्ज किए जाने के बाद कुल मामलों की संख्या बढ़कर 1.14 करोड़ से अधिक हो गई है. इस दौरान 172 और लोगों के जान गंवाने से मृतक संख्या 159,216 हो चुकी है. विश्व में संक्रमण के मामले 12.12 करोड़ से ज़्यादा हैं और अब तक 26.80 लाख से अधिक लोगों की जान गई है.

Women wearing protective face mask commute in a suburban train after authorities resumed the train services for women passengers during non-peak hours, amidst the coronavirus disease outbreak, in Mumbai, India, October 21, 2020. Credit: Reuters

(फोटो: रॉयटर्स)

नई दिल्ली: भारत में बृहस्पतिवार को कोविड-19 के 35,871 नए मामले दर्ज किए गए जो 100 से अधिक दिनों में एक दिन में संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले हैं. इसके साथ ही संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 11,474,605 पर पहुंच गई है.

आंकड़ों के अनुसार, 172 और कोविड-19 से लोगों के जान गंवाने से मृतकों की संख्या बढ़कर 159,216 हो गई है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, लगातार आठवें दिन कोरोना वायरस के मामले बढ़ने से इलाज करा रहे लोगों यानी सक्रिय मामलों की संख्या 252,364 पर पहुंच गई है जो संक्रमण के कुल मामलों का 2.20 प्रतिशत है. सुबह आठ बजे तक जारी आंकड़ों के अनुसार, मरीजों के स्वस्थ होने की दर गिरकर 96.41 प्रतिशत हो गई है.

एक दिन में कोरोना वायरस के 35,871 मामले 102 दिन में संक्रमण के सर्वाधिक मामले हैं. दिसंबर के बाद से पहली बार एक दिन में 35 हजार से अधिक नए मामले सामने आए हैं.

इस बीमारी से ठीक होने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 11,063,025 हो गई है जबकि मृतकों की दर 1.39 प्रतिशत है.

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद के मुताबिक 17 मार्च तक 230,313,163 नमूनों की जांच की जा चुकी है.

अभी तक देश में इस वैश्विक महामारी से 159,216 लोगों की मौत हुई है. इनमें से महाराष्ट्र में 53,080, तमिलनाडु में 12,564, कर्नाटक में 12,407, दिल्ली में 10,948, पश्चिम बंगाल में 10,298, उत्तर प्रदेश में 8,751 और आंध्र प्रदेश में 7,186 लोगों की मौत हुई.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि जिन लोगों की मौत हुई उनमें से 70 प्रतिशत से अधिक लोगों को अन्य बीमारियां भी थीं.

आंकड़ों के मुताबिक, भारत में कोविड-19 संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 10 लाख से 20 लाख (सात अगस्त को) तक पहुंचने में 21 दिनों का समय लगा था, जबकि 20 से 30 लाख (23 अगस्त को) की संख्या होने में 16 और दिन लगे. हालांकि 30 लाख से 40 लाख (पांच सितंबर) तक पहुंचने में मात्र 13 दिनों का समय लगा है.

वहीं, 40 लाख के बाद 50 लाख (16 सितंबर को) की संख्या को पार करने में केवल 11 दिन लगे. मामलों की संख्या 50 लाख से 60 लाख (28 सितंबर को) होने में 12 दिन लगे थे. 60 से 70 लाख (11 अक्टूबर) होने में इसे 13 दिन लगे. 70 से 80 लाख (29 अक्टूबर को) होने में 19 दिन लगे और 80 से 90 लाख (20 नवंबर को) होने में 13 दिन लगे. 90 लाख से एक करोड़ (19 दिसंबर को) होने में 29 दिन लगे.

देश में 110 दिन में कोविड-19 के मामले एक लाख हुए थे और 59 दिनों में वह 10 लाख के पार चले गए थे.

वायरस के मामले और मौतें

24 घंटे में सामने आए संक्रमण के नए मामलों की बात करें तो 17 मार्च को 28,903, बीते 16 मार्च को 24,492, 15 मार्च को 26,624, 14 मार्च को 25,320, 13 मार्च को 24,882, 12 मार्च को 23,285, 11 मार्च को 22,854, 10 मार्च को 17,921, नौ मार्च को 15,388, आठ मार्च को 18,599, सात मार्च को 18,711, छह मार्च को 18,327, पांच मार्च को 16,838, चार मार्च को 17,407, तीन मार्च को 14,989, दो मार्च को 12,286, एक मार्च को 15,510 मामले सामने आए थे.

इसी तरह 24 घंटे में मौत के मामलों की बात करें तो 17 मार्च को 188, 16 मार्च को 131, 15 मार्च को 118, 14 मार्च को 161, 13 मार्च को 140, 12 मार्च को 117, 11 मार्च को 126, दस मार्च को 133, नौ मार्च को 77, आठ मार्च को 97, सात मार्च को 100, छह मार्च को 108, पांच मार्च को 113, चार मार्च को 89, तीन मार्च को 98, दो मार्च को 91, एक मार्च को 106 लोगों की मौत हुई है.

फरवरी माह में संक्रमण के सर्वाधिक 16738 मामले 25 फरवरी को सामने आए थे और इस महीने सर्वाधिक 138 लोगों की मौतें भी इसी तारीख में दर्ज है.

जनवरी में 24 घंटे के दौरान संक्रमण के सर्वाधिक 20,346 मामले बीते सात जनवरी को दर्ज किए गए थे. वहीं इस अवधि में सबसे अधिक 264 लोगों की मौत छह जनवरी को हुई थी.

इससे पहले दिसंबर महीने में 24 घंटे के दौरान पांच दिसंबर को संक्रमण के अधिकतम 36,652 मामले सामने आए थे और चार दिसंबर को संक्रमण से अधिकतम 540 लोगों की मौत हुई थी.

नवंबर महीने 24 घंटे के दौरान सात नवंबर को संक्रमण के अधिकतम 50,356 मामले सामने आए थे और पांच नवंबर को संक्रमण से अधिकतम 704 लोगों की मौत हुई थी.

अक्टूबर महीने की बात करें तो एक तारीख को अधिकतम 86,821 और 28 अक्टूबर को न्यूनतम 43,893 मामले 24 घंटे के दौरान सामने आए थे. अक्टूबर में 24 घंटे में मरने वालों की अधिकतम संख्या 1 अक्टूबर को 1,181 थी.

सात सितंबर को 90,802 और 30 सितंबर को 80,472 नए मामले दर्ज किए गए थे. सात से 30 सितंबर के बीच नए मामलों की संख्या घटती बढ़ती रही. इस अवधि में 22 सितंबर को 75,083 (न्यूनतम) और 17 सितंबर को 97,894 (अधिकतम) मामले दर्ज किए गए थे, जो अब तक का सर्वाधिक आंकड़ा भी है.

छह सितंबर को संक्रमण के नए मामले पहली बार 90 हजार (90,632) के पार हो गए थे. 28 अगस्त को पहली बार 70 हजार (75,760) के पार, सात अगस्त को पहली बार 60 हजार (62,538) के पार, 30 जुलाई को पहली बार 50 हजार के पार हो गए थे.

इसी तरह 20 जुलाई को यह पहली बार 40 हजार के पार, 16 जुलाई को पहली बार 30 हजार के पार, 10 जुलाई को पहली बार 25 हजार (26,506) के पार, तीन जुलाई को पहली बार 20 हजार के पार, 21 जून को पहली बार 15 हजार के पार और 20 जून को संक्रमण के नए मामलों की संख्या पहली बार 14 हजार के पार हुई थी.

सितंबर महीने में एक दिन में मरने वालों की बात करें तो एक सितंबर को इनकी संख्या 819 और 29 सितंबर को न्यूनतम 776 थी. इन दो तारीखों के अलावा पूरे महीने हर दिन मरने वालों की संख्या एक हजार से अधिक रही है. 16 सितंबर को 1290 लोगों की जान गई, जो एक दिन में मरने वालों का सर्वाधिक आंकड़ा है.

10 अगस्त से 31 अगस्त तक बीते 24 घंटे या एक दिन में मरने वालों की संख्या 1007 से अधिकतम 1,092 (19 अगस्त का आंकड़ा) के बीच रही. 24 जुलाई से नौ अगस्त के बीच एक दिन या 24 घंटे में मौत का आंकड़ा 700 से लेकर 933 (आठ अगस्त का आंकड़ा) के बीच रहा है. एक जुलाई से 23 जुलाई के बीच यह आंकड़ा 507 से 1,129 के बीच रहा.

11 जून से 30 जून के बीच मरने वालों की संख्या 300 से 500 के अंदर रही है. 22 जून को एक दिन में मरने वालों की संख्या पहली बार 400 से अधिक रही थी. और 11 जून को पहली बार मरने वालों की संख्या 300 के आंकड़े को पार कर गई थी.

दुनियाभर में मामले 12.12 करोड़ से ज़्यादा, 26.80 लाख से अधिक लोगों की मौत

अमेरिका की जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार, पूरी दुनिया में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 121,212,956 हो गए हैं और अब तक 2,680,712 लोगों की जान जा चुकी है.

दुनियाभर में महामारी से अमेरिका सबसे अधिक प्रभावित देश है. यहां संक्रमण के अब तक 29,607,483 मामले सामने आए हैं, जबकि मरने वालों की संख्या 538,087 हो चुकी है.

वायरस से सर्वाधिक प्रभावित दूसरे देश ब्राजील में संक्रमण के अब तक 11,693,838 मामले मिलें हैं और 284,755 लोग दम तोड़ चुके हैं.

उसके बाद भारत दुनिया में तीसरा सर्वाधिक प्रभावित देश है. भारत के बाद चौथे सर्वाधिक प्रभावित देश रूस में संक्रमण के 4,368,943 मामले आए हैं, जबकि 91,815 मरीजों की मौत दर्ज की जा चुकी है.

रूस के बाद पांचवें सर्वाधिक प्रभावित देश ब्रिटेन में संक्रमण के 4,287,996 मामले आए हैं, जबकि 126,068 मरीजों की मौत के मामले सामने आए हैं.

ब्रिटेन के बाद छठे सर्वाधिक प्रभावित देश फ्रांस में संक्रमण के 4,169,274 मामले आए हैं और 91,340 लोगों ने जान गंवा दी है. फ्रांस के बाद सातवें सर्वाधिक प्रभावित देश इटली में संक्रमण के 3,281,810 मामले सामने आए हैं और 103,432 मौतें हुई हैं.

इटली के बाद आठवें सर्वाधिक प्रभावित देश स्पेन में संक्रमण के 3,206,116 मामले दर्ज हुए हैं, जबकि 72,793 मौतें हुई हैं. स्पेन के बाद नौवें प्रभावित देश तुर्की में संक्रमण के 2,930,554 मामले सामने आए हैं और 29,696 मौतें हुई हैं.

तुर्की के बाद 10वें सर्वाधिक प्रभावित देश जर्मनी में संक्रमण के 2,610,769 मामले सामने आ चुके हैं, जबकि 74,043 लोगों की यह महामारी जान ले चुकी है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)