नॉर्थ ईस्ट

असम: भाजपा उम्मीदवार की गाड़ी में ईवीएम मिलने की मजिस्ट्रेट जांच के आदेश

असम में भाजपा उम्मीदवार और निर्वतमान विधायक कृष्णेंदु पॉल की पत्नी के वाहन में ईवीएम मिलने से जुड़े विवाद के बाद कांग्रेस ने शनिवार को गुवाहाटी में विरोध प्रदर्शन किया और सत्तारूढ़ पार्टी पर चुनाव में धांधली करने का आरोप लगाया.

ईवीएम को लेकर भाजपा के खिलाफ असम कांग्रेस कार्यकर्ताओं का गुवाहाटी में प्रदर्शन. (फोटो साभार: ट्विटर)

ईवीएम को लेकर भाजपा के खिलाफ असम कांग्रेस कार्यकर्ताओं का गुवाहाटी में प्रदर्शन. (फोटो साभार: ट्विटर)

करीमगंज/हैलाकांडी/गुवाहाटी: असम के करीमगंज जिले के राताबाड़ी विधानसभा क्षेत्र में मतदान दल द्वारा भाजपा प्रत्याशी और निवर्तमान विधायक कृष्णेंदु पॉल की पत्नी के नाम पंजीकृत वाहन में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) ले जाए जाने के मामले की मजिस्ट्रेट से जांच कराने के आदेश दिए गए हैं.

अधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी दी. इस घटना को लेकर बीते शुक्रवार को विशेष पर्यवेक्षक ने पीठासीन अधिकारी को लापरवाही का जिम्मेदार ठहराया है.

करीमगंज जिला उप अधीक्षक अनबामुथन एमपी ने मामले की जांच के लिए शुक्रवार रात आदेश जारी किए. असम में विधानसभा चुनाव के बीच इस घटना ने बड़ा विवाद पैदा कर दिया है. मंगलवार को अंतिम चरण का मतदान होना है.

अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट राजेशन तेरांग को जांच करके तीन दिन में विस्तृत रिपोर्ट देने को कहा गया है.

आदेश में कहा गया है, ‘इस घटना ने मतदान वाली ईवीएम की सुरक्षा को खतरा पैदा किया है और कानून व्यवस्था की स्थिति पर प्रतिकूल प्रभाव डाला है.’

जांच में यह भी पता लगाया जाएगा कि किन परिस्थितयों में मतदान पार्टी ने निजी वाहन में यात्रा की और इस बात का भी पता लगाया जाएगा कि अधिकारियों की ओर से कहीं कोई चूक थी या कोई साजिश.

मालूम हो एक अप्रैल की रात को असम में दूसरे चरण के मतदान के समापन के बाद करीमनगर कस्बे के बाहरी इलाके में हिंसा भड़क गई, जिसके बाद पुलिस को हालात नियंत्रित करने के लिए हवा में गोलियां चलानी पड़ी. दरअसल कुछ लोगों ने देखा कि ईवीएम को करीमगंज के स्ट्रॉन्ग रूम तक ले जाने के लिए भाजपा प्रत्याशी कृष्णेंदु पॉल के वाहन का इस्तेमाल किया जा रहा है, जिसका उन्होंने विरोध और हंगामा किया.

घटना के सामने आने के बाद चुनाव आयोग ने चार चुनाव अधिकारियों को निलंबित कर दिया है और करीमगंज के राताबाड़ी विधानसभा क्षेत्र के एक मतदान केंद्र पर दोबारा मतदान कराने के आदेश दिए हैं. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी आयोग से जांच करने को कहा है.

इस बीच पुलिस ने घटना के बाद हुई हिंसा को दिखाने के आरोप में कम से कम छह लोगों को गिरफ्तार किया है.

कांग्रेस ने ईवीएम मामले को लेकर विरोध प्रदर्शन किया

असम में भाजपा के एक उम्मीदवार की पत्नी के वाहन में ईवीएम मिलने से जुड़े विवाद के बाद कांग्रेस ने शनिवार को गुवाहाटी में विरोध प्रदर्शन किया और सत्तारूढ़ पार्टी पर चुनाव में धांधली करने का आरोप लगाया.

असम प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष रिपुन बोरा की अगुवाई में पार्टी कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी की.

बोरा ने निर्वाचन आयोग से आग्रह किया कि चुनाव प्रक्रिया को बाधित करने के लिए ‘अवैध गतिविधियों’ में शामिल भाजपा नेताओं के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए.

पुलिस ने कांग्रेस के इस विरोध मार्च को पार्टी कार्यालय के निकट ही रोक दिया गया.

बोरा ने अपना ज्ञापन पुलिस आयुक्त (अपराध एवं विधि-व्यवस्था) देवराज उपाध्याय को सौंपा ताकि इसे मुख्य निर्वाचन अधिकारी के सुपुर्द किया जा सके.

असम कांग्रेस ने शनिवार को दिसपुर के मानबेंद्र कॉम्प्लेक्स के बाहर एक भाजपा नेता द्वारा ईवीएम लूटने का भी आरोप लगाया है. कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सोमवार को इसके खिलाफ भी प्रदर्शन किया.

रिपुन बोरा ने ट्वीट कर कहा, ‘असम लोकतंत्र का मजाक नहीं उड़ाने देगा, जैसा कि आसन्न हार के मद्देनजर भाजपा कर रही है! गुवाहाटी, दिसपुर के मानबेंद्र कॉम्प्लेक्स के बाहर एक भाजपा नेता द्वारा ईवीएम लूटने के खिलाफ प्रदर्शन.’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)