भारत

भाजपा के लोग गोरक्षा के नाम पर हत्या करने को धर्म की सेवा समझते हैं: मायावती

बसपा प्रमुख मायावती ने सवाल किया, भाजपा शासित राज्यों में गायों की भूख से तड़पकर मौत हो रही है, संघ जवाब क्यों नहीं मांगता?

mayawati-pti.jpg.image.975.568

बसपा प्रमुख मायावती. (फाइल फोटो: पीटीआई)

लखनऊ: बहुजन समाज पार्टी अध्यक्ष मायावती ने आज बुधवार को भाजपा और संघ पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने हाल ही में राजस्थान और छत्तीसगढ़ की सरकारी अनुदान प्राप्त गोशालाओं में गायों की मौत के मुद्दे पर भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को घेरा.

मायावती ने यहां लखनऊ में जारी एक बयान में कहा, भाजपा सरकार के गुड गवर्नेंस सुशासन में इंसानी जान की कोई कीमत नहीं रह गयी है. लेकिन जिस प्रकार भारी भ्रष्टाचार के कारण गायों को भूख-प्यास के कारण तड़प-तड़प कर मरने को छोड़ दिया जा रहा है, संघ और अन्य लोग सरकार से उसका हिसाब क्यों नहीं मांग रहे?

उन्होंने कहा कि पहले राजस्थान में और अब दूसरे भाजपा शासित राज्य छत्तीसगढ़ से सरकारी मदद वाली गोशालाओं में गायों की मौत की खबर आई है.

बसपा अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि संघ और भाजपा के अत्याचारी लोग गोरक्षा के नाम पर खासकर दलितों तथा मुस्लिम समाज के लोगों पर सरकार के संरक्षण में जुल्म-ज्यादती, क्रूरता, मारपीट तथा उनकी हत्या तक करने को धर्म की सेवा समझते हैं. लेकिन दूसरी ओर भाजपा शासित राज्यों में गोमाता पर हो रही क्रूरता पर सरकारों से जवाब क्यों नहीं मांग रहे हैं?

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अभी हाल में भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों की जिस बैठक की अध्यक्षता की है, उसमें देशहित के ज्वलन्त मुद्दों के साथ-साथ गोसेवा के इस खास मुद्दे पर चर्चा नहीं करना दु:खद तथा निंदनीय है.

मालूम हो कि छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में स्थित एक सरकारी अनुदान प्राप्त गोशाला में हाल में 200 से ज्यादा गायों की संदिग्ध हालात में मौत हुई थी. इसके अलावा पिछले महीने राजस्थान के जालौर जिले की विभिन्न गोशालाओं में भी बारिश के कारण संख्या में गायों की मौत हो गई थी.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)