कोविड-19

पश्चिम बंगाल: चुनाव मैदान में उतरे दो प्रत्याशियों के बाद टीएमसी विधायक की कोविड-19 से मौत

इससे पहले रिवोल्यूशनरी सोशलिस्ट पार्टी की ओर से मुर्शिदाबाद ज़िले के जंगीपुरा सीट से चुनाव मैदान में उतरे प्रदीप कुमार नंदी की मौत भी बीते 16 अप्रैल को कोरोना संक्रमण की वजह से हो गई थी. 15 अप्रैल को इसी ज़िले की शमशेरगंज सीट से उम्मीदवार रेज़ाउल हक़ की भी संक्रमण से मौत हो चुकी है. निर्वाचन आयोग ने दोनों सीटों पर मतदान स्थगित कर दिया है.

अब्दुर रहमान. (फोटो साभार: फेसबुक)

अब्दुर रहमान. (फोटो साभार: फेसबुक)

कोलकाता: कोविड 19 महामारी के बढ़ते संक्रमण के बीच पश्चिम बंगाल में जारी विधानसभा चुनाव के दो उम्मीदवारों की मौत के बाद सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के एक विधायक की भी इस महामारी की चपेट में आकर मौत होने का मामला सामने आया है.

बीते 17 अप्रैल को पांच चरण के चुनाव के दौरान बीरभूम जिले के मुरारई सीट से टीएमसी के निर्वतमान विधायक अब्दुर रहमान की कोरोना वायरस की वजह से मौत हो गई.

आनंद बाजार पत्रिका की रिपोर्ट के अनुसार, साल 2016 में अब्दुर रहमान मुरारई सीट से तृणमूल के टिकट पर जीत दर्ज कर विधायक बने. इस बार भी तृणमूल ने इस सीट से उन्हें ही उम्मीदवार बनाया था, लेकिन कोविड 19 की चपेट में आने के बाद डॉक्टरों ने उन्हें सार्वजनिक रूप से बाहर जाने के लिए सख्ती से मना कर दिया था. इसके बाद तृणमूल ने इस सीट से मोशर्रफ हुसैन को चुनाव मैदान में उतारा था.

अब्दुर रहमान से पहले रिवोल्यूशनरी सोशलिस्ट पार्टी (आरएसपी) की ओर से मुर्शिदाबाद जिले के जंगीपुरा सीट से चुनाव मैदान में उतरे प्रदीप कुमार नंदी की मौत भी बीते 16 अप्रैल को कोरोना संक्रमण की वजह से हो गई थी. उनसे पहले 15 अप्रैल को मुर्शिदाबाद जिले की शमशेरगंज सीट से उम्मीदवार रेजाउल हक की भी संक्रमण से मौत हो चुकी है.

निर्वाचन आयोग ने शमशेरगंज और जंगीपुरा विधानसभा सीट पर मतदान स्थगित कर दिया है.

मालूम हो कि पिछले हफ्ते बंगाल चुनाव मैदान में उतरे कम से कम पांच प्रत्याशी कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे. इनमें आरएसपी के प्रदीप कुमार नंदी भी शामिल थे. इसके अलावा तीन तृणमूल कांग्रेस और एक भाजपा उम्मीदवार शामिल थे.

माटीगाड़ा-नक्सलबाड़ी सीट से भाजपा के उम्मीदवार आनंदमय बर्मन (38), तृणमूल कांग्रेस के गोलपोखर से उम्मीदवार मोहम्मद गुलाम रब्बानी, तापन से उम्मीदवार कल्पना किसकू और जलपाईगुड़ी से उम्मीदवार डॉ. प्रदीप कुमार बर्मा कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे.

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच पश्चिम बंगाल में बचे हुए चरणों के चुनाव एक साथ कराने के आग्रह को भारतीय निर्वाचन आयोग ने ठुकरा दिया था.

बीते 16 अप्रैल को राज्य के चुनाव आयोग के साथ हुई सर्वदलीय बैठक में भी यह मांग उठाई गई थी, लेकिन आयोग ने इसे ठुकरा दिया. हालांकि बैठक में एक साथ चुनाव कराने के प्रस्ताव का भाजपा ने विरोध किया था.

राज्य में फिलहाल कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर चल रही है. इसके मद्देनजर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अंतिम तीन चरणों के मतदान को एक साथ जोड़कर कराने की मांग की थी.

इस महीने के पहले 15 दिनों में पश्चिम बंगाल में संक्रमण के 49,970 नए मामले आए हैं, जबकि महामारी से 151 लोगों की मौत हुई है.

बीते रविवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा था कि कोविड के बिगड़ते हालात की ज़िम्मेदारी लेते हुए पीएम मोदी को इस्तीफ़ा दे देना चाहिए.

बंगाल के मंत्री शोभनदेव चट्टोपाध्याय ने भी कहा था कि कोविड के मामलों में बढ़ोतरी के बीच वह कोई बड़ी रैली नहीं करेंगे. कांग्रेस नेता राहुल गांधी भी पश्चिम बंगाल में चुनावी रैलियां रद्द करने की घोषणा कर चुके हैं.