कोविड-19

माकपा महासचिव सीताराम येचुरी के बेटे का कोरोना वायरस के संक्रमण से निधन

माकपा महासचिव सीताराम येचुरी के बेटे आशीष येचुरी पेशे से पत्रकार थे. कोरोना वायरस संक्रमण के बाद गुड़गांव के मेदांता अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था.

आशीष येचुरी. (फोटो साभार: ट्विटर/@PCITweets)

आशीष येचुरी. (फोटो साभार: ट्विटर/@PCITweets)

नई दिल्ली: माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने बृहस्पतिवार को बताया कि उनके पुत्र आशीष येचुरी का कोरोना वायरस के संक्रमण से निधन हो गया.

आशीष येचुरी पेशे से पत्रकार थे और नौ जून को वह 35 साल के होने वाले थे. वह गुड़गांव के मेदांता अस्पताल में संक्रमण का इलाज करा रहे थे.

उनके परिवार से जुड़े करीबी लोगों ने बताया कि दो सप्ताह तक बीमारी से लड़ने के बाद बृहस्पतिवार को सुबह साढ़े पांच बजे आशीष येचुरी ने आखिरी सांस ली.

पिता सीताराम येचुर ने ट्विटर पर लिखा, ‘भारी दुख के साथ बताना पड़ रहा है कि कोविड-19 से आज सुबह मैंने अपने बड़े बेटे आशीष येचुरी को खो दिया. मैं उन सभी का, डॉक्टरों, नर्सों, अग्रिम मोर्चे के कर्मचारियों, सफाईकर्मियों का शुक्रगुजार हूं, जिन्होंने हमें हिम्मत दी और उनका उपचार किया तथा संकट के समय में हमारे साथ खड़े रहे.’

आशीष ने एशियन कॉलेज ऑफ जर्नलिज्म, चेन्नई से पढ़ाई की थी और उन्होंने दिल्ली में टाइम्स ऑफ इंडिया समेत कई मीडिया संस्थानों में काम किया. इसके बाद वह पुणे चले गए.

आशीष येचुरी के साथ काम कर चुके पत्रकार उन्हें एक शालीन और जोशीले पत्रकार के रूप में याद करते हैं, जिन्हें कई विषयों की गहरी जानकारी थी. वह गहन अध्ययनशील थे.

माकपा पोलित ब्यूरो ने बयान जारी कर आशीष येचुरी के निधन के बारे में बताया और परिवार के प्रति शोक प्रकट किया.

बयान के अनुसार, ‘हमें यह बताते हुए बेहद दुख हो रहा है कि आज सुबह (22 अप्रैल को) सीताराम येचुरी और इंद्राणी मजूमदार के पुत्र आशीष येचुरी का निधन हो गया. कोरोना वायरस के संक्रमण की जटिलताओं के कारण उनका निधन हुआ. वह 35 साल के थे.’

बयान में कहा गया, ‘पोलित ब्यूरो सीताराम और इंद्राणी, उनकी (आशीष की) पत्नी स्वाती, उनकी बहन अखिला और शोक संतप्त परिवार के अन्य सदस्यों के प्रति अपनी गहरी संवेदना प्रकट करता है.’

प्रेस क्लब ऑफ इंडिया ने ट्वीट कर आशीष के निधन पर दुख जताया है. प्रेस क्लब की ओर से कहा गया है कि आशीष न्यूजलॉन्ड्री में थे और टाइम्स ऑफ इंडिया, आईबीएन लाइव और पुणे मिरर में पहले काम कर चुके थे. दुख की इस घड़ी में प्रेस क्लब येचुरी परिवार के साथ खड़ा है.

न्यूजलॉन्ड्री की ओर से ट्वीट कर कहा गया है, ‘हमने अपने प्रिय साथी आशीष येचुरी को कोविड की वजह से खो दिया है. आशीष ने जनवरी में बतौर असिस्टेंट एडिटर जॉइन किया था. हम उन्हें सभ्य, प्रतिभाशाली मित्र और सहकर्मी के रूप में याद करते हैं. दुख की इस घड़ी में हमारी शोक संवेदनाएं उनके प्रियजनों के साथ हैं.’

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडु, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत कई नेताओं और अन्य लोगों ने आशीष के निधन पर शोक जताया है.

राष्ट्रपति कोविंद ने कहा, ‘गहरे दुख की इस घड़ी में सीताराम येचुरी, उनके परिवार और प्रियजनों के प्रति मेरी गहरी संवेदना. आपको इस अपूरणीय क्षति को सहन करने की शक्ति मिले.’

नायडू के हवाले से उपराष्ट्रपति सचिवालय ने अपने ट्वीट में कहा, ‘श्री सीताराम येचुरी के पुत्र आशीष येचुरी के कोविड-19 के कारण असामयिक निधन से स्तब्ध और दुखी हूं.’

उन्होंने कहा, ‘इस दुख की घड़ी में मेरी संवेदनाएं सीताराम येचुरी और उनके परिवार के सदस्यों के साथ हैं.’

प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर कहा, ‘सीताराम येचुरी के पुत्र आशीष के दुखद और असामयिक निधन पर उन्हें और उनके परिवार के प्रति मेरी संवेदनाएं.’

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने ट्वीट कर येचुरी के बेटे के निधन पर शोक जताया है. थरूर ने ट्वीट किया, ‘यह बहुत दुखी करने वाली खबर है. ईश्वर इस अपूरणीय क्षति को सहने की आपको हिम्मत दे. इस दुख की घड़ी में मेरी संवेदनाएं आपके साथ हैं.’

द्रमुक नेता एमके स्टालिन और तृणमूल कांग्रेस के सांसद डेरेक ओ’ब्रायन ने भी आशीष येचुरी के निधन पर शोक जताया है.

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी शोक प्रकट किया है.

बनर्जी ने ट्वीट किया, ‘सीताराम येचुरी के बेटे आशीष के निधन के बारे में दुखद सूचना मिली. शोक संतप्त परिवार को मेरी संवेदना.’

नेशनल कॉन्फ्रेंस के उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला ने येचुरी के निधन पर शोक जताया.

अब्दुल्ला ने ट्वीट किया, ‘सीताराम येचुरी और उनके परिवार के लिए मेरा मन दुखी है. संकट की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं. भगवान उनके बेटे की आत्मा को शांति दे और उनके परिवार को शक्ति मिले.’

केरल के मुख्यमंत्री पिनारई विजयन ने ट्वीट कर कहा, ‘प्रिय कॉमरेड सीताराम येचुरी, आशीष के निधन से हम सभी गहरे सदमे में हैं. दुख की इस घड़ी में हमारी संवेदनाएं आपके और आपके परिवार के साथ है.’

कांग्रेस नेता रमेश चेन्निथला ने ट्वीट किया, ‘आपको हुए नुकसान से हमें गहरा सदमा पहुंचा है. आपके इस दर्द और शोक में मेरा परिवार आपके साथ खड़ा है. हमारी संवेदनाएं आपके और आपके परिवार के साथ है.’

वरिष्ठ कांग्रेस नेता केसी वेणुगोपाल ने भी येचुरी के पुत्र के निधन पर शोक जताया. उन्होंने कहा, ‘हमारी संवेदनाएं आपके और आपके परिवार के साथ हैं.’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)