कोविड-19

असम चुनाव में कोविड मामले न होने के स्वास्थ्य मंत्री के दावे उनके विभाग के आंकड़ों के उलट हैं

असम के स्वास्थ्य मंत्री हिमंता बिस्वा शर्मा ने मंगलवार को दावा किया कि तीन चरण के राज्य विधानसभा चुनाव के अंतिम दिन छह अप्रैल तक राज्य में ‘कोविड-19 के मामले नहीं थे’, लेकिन उनके विभाग के आधिकारिक आंकड़े से पता चलता है कि जनवरी से छह अप्रैल तक 2,624 व्यक्ति संक्रमित पाए गए हैं और उनमें से 66 की मौत हो गई है.

हिमंता बिस्वा शर्मा (फोटो: पीटीआई)

हिमंता बिस्वा शर्मा (फोटो: पीटीआई)

गुवाहाटी: असम के स्वास्थ्य मंत्री हिमंता बिस्वा शर्मा ने मंगलवार को दावा किया कि तीन चरण के राज्य विधानसभा चुनाव के अंतिम दिन 6 अप्रैल तक राज्य में ‘कोविड-19 के मामले नहीं थे’, लेकिन उनके विभाग के आधिकारिक आंकड़े से पता चलता है कि जनवरी से 2,624 व्यक्ति संक्रमित पाए गए हैं और उनमें से 66 की मौत हो गई है.

असम सरकार द्वारा कोविड-19 के प्रसार को नियंत्रित करने के लिए मंगलवार को 1 मई तक रात का कर्फ्यू लगाए जाने के बाद तमिल टेलीविजन प्रस्तोता और स्पोर्ट्स कमेंटेटर सुमंत रमण ने शर्मा को ट्विटर पर टैग किया और मास्क पहनने पर उनके पहले के बयान के लिए उनकी आलोचना की.

रमण ने ट्वीट किया, ‘वही असम जहां कुछ हफ्ते पहले हिमंता बिस्वा शर्मा ने कहा था कि कोई कोविड-19 नहीं है और इसलिए मास्क पहनने की जरूरत नहीं.’

उन्हें जवाब देते हुए वरिष्ठ भाजपा नेता शर्मा ने ट्विटर पर लिखा, ‘यह तथ्यात्मक रूप से सही था सर. 6 अप्रैल तक हमारे यहां कोविड-19 नहीं था.’

शर्मा ने अप्रैल के पहले सप्ताह में एक साक्षात्कार में दावा किया था कि असम में कोविड-19 का कोई मामला नहीं और राज्य में मास्क पहनने की कोई आवश्यकता नहीं.

उन्होंने यह भी कहा था कि विधानसभा चुनाव के बाद भी कोरोना वायरस का कोई मामला नहीं होगा और राज्य अपना लोकप्रिय असम रंगोली बीहू त्योहार व्यापक पैमाने पर मनाएगा.

हालांकि, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (एनएचएम) के आंकड़े से पता चलता है कि असम में 1 जनवरी से 6 अप्रैल तक 2,624 व्यक्ति कोविड-19 से संक्रमित पाए गए थे और इस अवधि में वायरस के कारण 66 लोगों ने अपनी जान गंवाई थी.

समाचार एजेंसी पीटीआई ने बताया कि आंकड़ों के अनुसार, असम में हर दिन औसतन 27 से अधिक लोग कोविड-19 वायरस से संक्रमित हो रहे हैं.

इस साल जनवरी में 933 लोग संक्रमित हुए थे, जो फरवरी में घटकर 396 हो गई थी, लेकिन मार्च में जब चुनाव प्रचार जोर पर था, तब यह बढ़कर 875 तक पहुंच गया था.

असम के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग के अधीन एनएचएम की राज्य इकाई ने कहा, अप्रैल के पहले छह दिनों के दौरान 420 लोग वायरस से संक्रमित हो गए थे.

उसने कहा, असम में कोविड-19 से जनवरी में 37 लोग, फरवरी में 10, और मार्च में लोगों की मौत हुई. वहीं, 6 अप्रैल तक संक्रमण से मर गए.

बता दें कि असम में 126 विधानसभा सीटों पर 27 मार्च, 1 अप्रैल और 6 अप्रैल को चुनाव हुआ था.

विभाग द्वारा दिए गए आंकड़ों के अनुसार, जहां 6 अप्रैल को 92 लोग संक्रमित हुए तो वहीं अगले ही दिन यहां संख्या बढ़कर 195 हो गई थी. इससे ऐसी आशंकाएं जताई जाने लगीं कि या तो सही तरीके से टेस्टिंग नहीं किए गए या फिर पूरी चुनाव प्रक्रिया के दौरान आंकड़ों में हेरफेर की गई थी.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)