कोविड-19

कोविड-19: संक्रमण के एक दिन में 173,790 नए मामले आए और 3,617 लोगों की मौत हुई

भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 27,729,247 हो गई है और मौत का आंकड़ा 322,512 हो गया है. विश्व में संक्रमण के कुल 16.94 करोड़ से ज़्यादा मामले सामने आए हैं, जबकि 35.23 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है.

New Delhi: Labourers take rest in a closed market at Khari Baowli, during COVID-19 lockdown in New Delhi, Tuesday, May 25, 2021. (PTI Photo/Vijay Verma)(PTI05 25 2021 000122B)

दिल्ली में लॉकडाउन के दौरान बंद खड़ी बाउली बाज़ार में बैठे मजदूर. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: देश में एक दिन में कोविड-19 के 173,790 नए मामले सामने आए, जो पिछले 45 दिनों में सबसे कम है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के शनिवार सुबह तक के आंकड़ों के मुताबिक, इसके साथ ही संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 27,729,247 हो गई है.

आंकड़ों के मुताबिक रोजाना की संक्रमण दर घटकर 8.36 प्रतिशत पर आ गई है और लगातार पांच दिनों से 10 प्रतिशत से कम दर्ज की जा रही है, जबकि संक्रमण की साप्ताहिक दर 9.84 प्रतिशत दर्ज की गई.

मंत्रालय के सुबह आठ बजे तक के आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटों में 3,617 लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या 322,512 पर पहुंच गई है.

आंकड़ों पर गौर करें तो 28 अप्रैल के बाद से यह लगातार 31वां दिन है, जब एक दिन में तीन हजार से अधिक लोगों की मौत हुई है. साथ ही 21 अप्रैल के बाद से लगातार 37वां दिन है, जब एक दिन में मरने वालों की संख्या दो हजार का आंकड़ा पार गई.

मंत्रालय ने बताया कि शुक्रवार को कोविड-19 के लिए 2,080,048 जांच की गई, जिसे मिलाकर देश में अब तक 341,119,909 नमूनों की जांच की जा चुकी है.

देश में इलाज करा रहे मरीजों यानी सक्रिय मामलों की संख्या भी घटकर 2,228,714 पर आ गई है जो संक्रमण के कुल मामलों का 8.04 प्रतिशत है जबकि कोविड-19 से स्वस्थ होने की राष्ट्रीय दर सुधरकर 90.80 प्रतिशत हो गई है.

आंकड़ों के मुताबिक बीमारी से ठीक होने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 25,178,011 हो गई है, जबकि संक्रमण से मृत्यु दर 1.16 प्रतिशत है. रोजाना सामने आने वाले मामलों की तुलना में स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या लगातार 16वें दिन ज्यादा रही.

मंत्रालय ने बताया कि राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान के तहत देश में कोविड-19 का टीका दिए जाने का आंकड़ा शनिवार को 20.89 करोड़ के पार हो गया. इसने बताया कि 20 करोड़ के ऐतिहासिक आंकड़े को पार करने वाला भारत अमेरिका के बाद दूसरा देश है.

शनिवार को सुबह सात बजे तक उपलब्ध अनंतिम रिपोर्ट के मुताबिक, 2,972,971 सत्रों के माध्यम से कुल 208,902,445 टीकों की खुराकें दी जा चुकी हैं.

बीते 24 घंटे के दौरान जिन 3,617 लोगों की मौत के मामले सामने आए हैं, उनमें सर्वाधिक 973 मरीजों की मौत महाराष्ट्र में हुई. इसके बाद तमिलनाडु से 486, कर्नाटक से 401, केरल से 194, पंजाब से 176, उत्तर प्रदेश से 154, पश्चिम बंगाल से 145, दिल्ली से 139 और आंध्र प्रदेश से 103 मरीजों की मौत हुई है.

देश में अब तक हुई कुल 322,512 मौत में सर्वाधिक 93,198 मौत महाराष्ट्र में हुई हैं. इसके बाद कर्नाटक में 27,806, दिल्ली में 23,951, तमिलनाडु में 22,775, उत्तर प्रदेश में 20,053, पश्चिम बंगाल में 15,120, पंजाब में 14,180 और छत्तीसगढ़ में 12,915 लोगों की मौत हुई है.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि 70 प्रतिशत से अधिक मौत अन्य गंभीर बीमारियों के चलते हुई हैं.

आंकड़ों के मुताबिक, देश में 110 दिन में कोविड-19 के मामले एक लाख हुए थे और 59 दिनों में वह 10 लाख के पार चले गए थे.

भारत में कोविड-19 संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 10 लाख से 20 लाख (7 अगस्त 2020 को) तक पहुंचने में 21 दिनों का समय लगा था, जबकि 20 से 30 लाख (23 अगस्त 2020) की संख्या होने में 16 और दिन लगे. हालांकि 30 लाख से 40 लाख (5 सितंबर 2020) तक पहुंचने में मात्र 13 दिनों का समय लगा है.

वहीं, 40 लाख के बाद 50 लाख (16 सितंबर 2020) की संख्या को पार करने में केवल 11 दिन लगे. मामलों की संख्या 50 लाख से 60 लाख (28 सितंबर 2020 को) होने में 12 दिन लगे थे. 60 से 70 लाख (11 अक्टूबर 2020) होने में इसे 13 दिन लगे. 70 से 80 लाख (29 अक्टूबर को 2020) होने में 19 दिन लगे और 80 से 90 लाख (20 नवंबर 2020 को) होने में 13 दिन लगे. 90 लाख से एक करोड़ (19 दिसंबर 2020 को) होने में 29 दिन लगे.

इसके 107 दिन बाद यानी पांच अप्रैल को मामले सवा करोड़ से अधिक हो गए, लेकिन संक्रमण के मामले डेढ़ करोड़ से अधिक होने में महज 15 दिन (19 अप्रैल को) का वक्त लगा और फिर सिर्फ 15 दिनों बाद चार मई को गंभीर स्थिति में पहुंचते हुए आंकड़ा 1.5 करोड़ से दो करोड़ के पार चला गया.

अप्रैल अब तक सर्वाधिक घातक महीना

कोरोना वायरस संक्रमण के लिहाज से बात करें तो देश में अप्रैल का महीना अब तक सबसे घातक साबित हुआ है. इस महीने में संक्रमण के नए मामलों ने सिर्फ एक या दो दिन ही गिरावट दर्ज की, वरना लगभग हर दिन रिकॉर्ड मामले दर्ज किए गए.

बीते 24 घंटे के दौरान नए मामलों की सर्वाधिक संख्या बीते 30 अप्रैल को 386,452 दर्ज की गई और इस अवधि में जान गंवाने वालों की सर्वाधिक 3,645 संख्या 29 अप्रैल को रही है.

इस महीने में 22 अप्रैल से 30 अप्रैल तक एक दिन में संक्रमण के तीन लाख से अधिक मामले दर्ज किए गए. 15 अप्रैल से लेकर 21 अप्रैल के बीच हर दिन दो लाख से अधिक मामले दर्ज किए गए और पांच अप्रैल से 14 अप्रैल तक (सिर्फ छह अप्रैल को 96,982 मामले आए थे) एक लाख से अधिक मामले दर्ज किए.

अप्रैल में एक दिन में मरने वालों की संख्या की बात करें तो 28 से 30 अप्रैल तक हर दिन 3,000 से अधिक लोगों की जान गई. 21 से 27 अप्रैल के बीच हर दिन 2,000 से अधिक लोगों की मौत हुई और 12 से 20 अप्रैल तक हर दिन 1,000 से अधिक लोगों ने दम तोड़ा था.

वायरस के मामले और मौतें

24 घंटे में सामने आए संक्रमण के नए मामलों की बात करें तो बीते 28 मई को 186,364, 27 मई को 211,298, 26 मई को 208,921, 25 मई को 196,427, 24 मई को 222,315, 23 मई को 240,842, 22 मई को 257,299, 21 अप्रैल को 259,551, 20 मई को 276,110, 19 मई को 267,334, 18 मई को 263,533, 17 मई को 281,386, 16 मई को 311,170, 15 मई को 326,098, 14 मई को 343,144, 13 मई को 362,727, 12 मई को 348,421, 11 मई को 329,942, 10 मई को 366,161, नौ मई को 403,738, आठ मई को 403,738, सात मई को अब तक के सर्वाधिक 414,188, छह मई को 412,262, पांच मई को 382,315, चार मई को 357,229, तीन मई को 368,147, दो मई को 392,488 और एक मई को 401,993 मामले सामने आए हैं.

एक दिन या 24 घंटे में जान गंवाने वाले लोगों की बात करें तो बीते 28 मई को 3,660, 27 मई को 3,847, 26 मई को 4,157, 25 मई को 3,511, 24 मई को 4,454, 23 मई को 3,741, 22 मई को 4,194, 21 अप्रैल को 4,209, 20 मई को 3,874, 19 मई को 4,529, 18 मई को 4,329, 17 मई को 4,106, 16 मई को 4,077, 15 मई को 3,890, 14 मई को 4,000, 13 मई को 4,120, 12 मई को 4,205, 11 मई को 3,876, 10 मई को 3,754, नौ मई को 4,092, आठ मई 4,187, सात मई को 3,915, छह मई को 3,980, पांच मई को 3,780, चार मई को 3,449, तीन मई को 3,417, दो मई को 3,689, एक मई को 3,523 लोगों की मौत हुई थी.

मार्च में 24 घंटे के दौरान सर्वाधिक 68,020 मामले 29 मार्च को सामने आए थे और महामारी से जान गंवाने वाले लोगों की सर्वाधिक संख्या 31 मार्च को दर्ज की गई. इस दिन 354 लोगों की मौत हुई थी, जो साल 2021 की पहली तिमाही (जनवरी से मार्च) का सर्वाधिक आंकड़ा है.

फरवरी माह में 24 घंटे में संक्रमण के सर्वाधिक 16,738 मामले 25 फरवरी को सामने आए थे और इस महीने सर्वाधिक 138 लोगों की मौतें भी इसी तारीख में दर्ज है.

जनवरी में 24 घंटे के दौरान संक्रमण के सर्वाधिक 20,346 मामले बीते सात जनवरी को दर्ज किए गए थे. वहीं इस अवधि में सबसे अधिक 264 लोगों की मौत छह जनवरी को हुई थी.

पिछले साल छह सितंबर को संक्रमण के नए मामले पहली बार 90 हजार (90,632) के पार हो गए थे. 28 अगस्त को पहली बार 70 हजार (75,760) के पार, सात अगस्त को पहली बार 60 हजार (62,538) के पार, 30 जुलाई को पहली बार 50 हजार के पार हो गए थे.

इसी तरह पिछले साल 20 जुलाई को यह पहली बार 40 हजार के पार, 16 जुलाई को पहली बार 30 हजार के पार, 10 जुलाई को पहली बार 25 हजार (26,506) के पार, तीन जुलाई को पहली बार 20 हजार के पार, 21 जून को पहली बार 15 हजार के पार और 20 जून को संक्रमण के नए मामलों की संख्या पहली बार 14 हजार के पार हुई थी.

दुनियाभर में मामले 16.94 करोड़ से ज़्यादा, 35.23 लाख से अधिक लोगों की मौत

अमेरिका की जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार, पूरी दुनिया में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 169,487,389 हो गए हैं और अब तक 3,523,506 लोगों की जान जा चुकी है.

दुनियाभर में महामारी से अमेरिका सबसे अधिक प्रभावित देश है. यहां संक्रमण के अब तक 33,240,022 मामले सामने आए हैं, जबकि मरने वालों की संख्या 593,963 हो चुकी है.

संक्रमण से दूसरा प्रभावित देश भारत है. भारत के बाद तीसरे संक्रमण प्रभावित देश ब्राजील में संक्रमण के अब तक 16,391,930 मामले मिले हैं और 459,045 लोग दम तोड़ चुके हैं.

ब्राजील के बाद चौथे सर्वाधिक प्रभावित देश फ्रांस में संक्रमण के 5,708,351 मामले आए हैं और 109,452 लोगों ने जान गंवा दी है. फ्रांस के बाद पांचवें सर्वाधिक प्रभावित देश तुर्की में संक्रमण के 5,228,322 मामले आए हैं, जबकि 47,134 मरीजों की मौत दर्ज की जा चुकी है.

तुर्की के बाद छठे सर्वाधिक प्रभावित देश रूस में संक्रमण 4,986,458 के नए मामले (शुक्रवार तक) दर्ज हुए हैं और 118,386 लोग जान गंवा चुके हैं.

रूस बाद सातवें सर्वाधिक प्रभावित देश ब्रिटेन में संक्रमण के 4,493,582 मामले सामने आए हैं और 128,030 मौतें हुई हैं. ब्रिटेन के बाद आठवें सर्वाधिक प्रभावित देश इटली में संक्रमण 4,209,707 मामले दर्ज हुए हैं जबकि 125,919 मौतें हुई हैं. नौवें

इटली के बाद जर्मनी को पछाड़कर अर्जेंटीना 9वां सर्वाधिक प्रभावित देश बन गया है. यहां में संक्रमण के 3,702,422 मामले सामने आए हैं और 76,693 मौतें हुई हैं. अर्जेंटीना के बाद 10वें सर्वाधिक प्रभावित देश जर्मनी में संक्रमण के 3,684,473 मामले सामने आ चुके हैं, जबकि 88,360 लोगों की यह महामारी जान ले चुकी है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)