भारत

मुंबईः जलभराव होने पर शिवसेना विधायक ने ठेकेदार को कीचड़ में बैठाया, कचरा फिंकवाया

चांदीवली से शिवसेना विधायक दिलीप लांडे का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ, जिसमें वे जबरन एक शख़्स को नाली के कीचड़ में बैठाते हुए उनके समर्थकों से उस पर कचरा फेंकने के लिए कह रहे हैं. बताया गया है कि यह व्यक्ति ठेकेदार है जिस पर क्षेत्र की सफाई का ज़िम्मा है.

ठेकेदार को नाली के पानी में बैठने को विवश करते शिवसेना विधायक दिलीप लांडे (फोटोः एएनआई)

ठेकेदार को नाली के पानी में बैठने को विवश करते शिवसेना विधायक दिलीप लांडे (फोटोः एएनआई)

मुंबईः महाराष्ट्र के चांदीवली से शिवसेना विधायक दिलीप लांडे का एक वीडियो शनिवार को सोशल मीडिया पर वायरल हुआ, जिसमें वह नाली के कीचड़ में एक शख्स को जबरन बैठाते और उनके समर्थकों से उसके ऊपर कचरा फेंकने के लिए कह रहे हैं.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, यह घटना कुर्ला में संजय नगर और सुंदर बाग जैसे इलाकों में भारी बारिश की वजह से जलभराव होने के बाद की है. वीडियो में लांडे और उनके समर्थकों को एक ठेकेदार को जलभराव वाली गली में जबरन बिठाते देखा जा सकता है.

बताया जा रहा है कि यह शख्स ठेकेदार है, जिसे यहां सफाई का काम दिया गया था लेकिन उसने अपना काम ईमानदारी से नहीं किया इसलिए सबक सिखाने के लिए विधायक ने उसके साथ ऐसा व्यवहार किया.

यह पूछने पर कि वह ऐसा क्यों कर रहे हैं? लांडे वीडियो में कहते हैं, ‘मुझे स्थानीय लोगों से कई तरह की शिकायतें आ रही हैं. कचरा साफ करने वालों ने अपना काम नहीं किया, जिससे मेरे क्षेत्र के लोगों को जलभराव वाली सड़कों से होकर गुजरना पड़ा. अब मैं ठेकेदार को उसी पानी में बैठा रहा हूं.’

वहीं, भाजपा नेताओं ने लांडे के इस काम की आलोचना की है.

भाजपा के पार्षद विनोद मिश्रा का कहना है, ‘बीएमसी और मुंबई के मेयर का कहना है कि शहर में सभी नालों की सफाई हुई थी. अब उनके झूठे खुलकर सामने आ रहे हैं. वे छोटे ठेकेदारों को प्रताड़ित कर रहे हैं. क्या वे इस तरह की कार्रवाई मेयर या कमिश्नर के खिलाफ कर सकते हैं.’

भाजपा के एक और नेता किरीट सोमैया ने इसे गुंडागर्दी बताते हुए ट्वीट कर कहा, ‘मुंबई मेयर का कहना है कि 103 फीसदी कचरा बीएमसी ने हटा लिया है और शिवसेना विधायक दिलीप लांडे कचरा नहीं हटाने के लिए ठेकेदार का उत्पीड़न कर रहे हैं. वास्तिवक गुंडागर्दी ठेकेदारों से कमिश्न के लिए है. बीएमसी का मतलब माफिया ठेकेदारों का नेक्सस और शिवसेना की गुंडागर्दी है. क्या यह राहुल गांधी को स्वीकार्य है?

गौरतलब है कि बीते 25 सालों से बीएमसी में शिवसेना काबिज है.