राजनीति

उत्तराखंड: भाजपा विधायक पर पार्टी की पूर्व नेता ने बलात्कार का आरोप लगाया, केस दर्ज

अदालत के आदेश के बाद हरिद्वार ज़िले के ज्वालापुर से भाजपा विधायक सुरेश राठौर के ख़िलाफ़ मुक़दमा दर्ज किया गया. विधायक ने कहा कि उनकी जान को ख़तरा है. रंगदारी के आरोप में जेल गए लोग उनके ख़िलाफ़ साज़िश रच रहे हैं. बीते 26 मई को विधायक ने शिकायतकर्ता महिला, उसके पति और तीन अन्य के ख़िलाफ़ शिकायत दर्ज कराकर उन पर ब्लैकमेल करने और 30 लाख रुपये की रंगदारी मांगने का आरोप लगाया था.

सुरेश राठौर (फोटो साभार: फेसबुक)

सुरेश राठौर (फोटो साभार: फेसबुक)

देहरादून: उत्तराखंड के एक भाजपा विधायक के खिलाफ पार्टी की एक पूर्व नेता ने बलात्कार का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया है जिस पर कांग्रेस ने विधायक को गिरफ्तार करने तथा पार्टी से निष्कासित करने की मांग की है.

हरिद्वार की एक निचली अदालत के आदेश के बाद बीते एक जुलाई की रात हरिद्वार जिले के ज्वालापुर से विधायक सुरेश राठौर के खिलाफ बहादराबाद पुलिस थाने में मुकदमा दर्ज किया गया. विधायक पर बलात्कार और जान से मारने की धमकी देने संबंधी धाराएं लगाई गई हैं.

पुलिस के अनुसार, महिला ने अपनी तहरीर में कहा है कि विधायक राठौर से उसकी मुलाकात ढाई वर्ष पहले हुई थी और तब उन्होंने उन्हें भाजपा महिला मोर्चा में शामिल होने को कहा था.

ज्वालापुर की पदाधिकारी रह चुकीं महिला ने यह भी आरोप लगाया कि विधायक सत्ता पक्ष का दवाब बनाकर एक झूठे मामले में पहले उन्हें जेल भी भिजवा चुके हैं.

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, बीजेपी विधायक सुरेश राठौर ने कहा, ‘मेरी जान को खतरा है. यह मैं पहले भी कह चुका हूं. रंगदारी के आरोप में जेल गए लोग मेरे खिलाफ साजिश रच रहे हैं और मेरे खिलाफ सीआरपीसी की धारा 156 (3) के तहत फर्जी मामला दर्ज कराया गया है. मैं पुलिस से मामले की जांच और सच्चाई सामने लाने की अपील करता हूं.’

वहीं, प्रदेश भाजपा के मीडिया प्रभारी मनवीर सिंह चौहान ने इस संबंध में संपर्क किए जाने पर कहा कि आरोप लगाने वाली महिला को डेढ-दो माह पूर्व ही विधायक के खिलाफ षड्यंत्र करते पकड़े जाने के बाद हरिद्वार जिला इकाई द्वारा पार्टी से निष्कासित किया जा चुका है.

हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक, बीते 26 मई को राठौर ने शिकायतकर्ता महिला, उसके पति और तीन अन्य लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी. उन पर ब्लैकमेल करने और 30 लाख रुपये की की रंगदारी मांगने का आरोप लगाया था.

राठौर ने अपनी शिकायत में कहा था कि महिला और अन्य लोगों ने एक वीडियो प्रसारित करने की धमकी दी, जिसमें वह उसके खिलाफ बलात्कार के आरोप लगा रही थी और बदले में राशि मांगी गई.

कुछ महीने पहले प्रदेश के अल्मोड़ा जिले के द्वाराहाट से भाजपा विधायक महेश नेगी पर भी एक महिला ने बलात्कार का आरोप लगाया था. इस मामले की भी फिलहाल जांच चल रही है.

प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने कहा कि पहले भी भाजपा नेताओं के खिलाफ इस तरह के मामले सामने आए हैं, लेकिन प्रदेश की सरकार ने किसी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की.

उन्होंने इसे बहुत घृणित मामला बताते हुए सरकार से आरोपी विधायक को तत्काल गिरफ्तार करने तथा पार्टी से निष्कासित करने की मांग की. उन्होंने कहा कि अगर ऐसा नहीं हुआ तो कांग्रेस इसके खिलाफ जबरदस्त आंदोलन करेगी.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)