दुनिया

हैती के राष्ट्रपति की घर में घुसकर हत्या; चार संदिग्ध हमलावर ढेर, दो गिरफ़्तार

हैती के राष्ट्रपति जोवेनेल मोइस की उनके निजी आवास में घुसकर बीते मंगलवार की देर रात हत्या कर दी गई. इस हमले में उनकी पत्नी और देश की प्रथम महिला भी घायल हो गई हैं. राष्ट्रपति की हत्या देश में गहराते राजनीतिक एवं आर्थिक संकट तथा गिरोह हिंसा बढ़ जाने के बीच हुई. मोइस के अधिकारवादी शासन से देश में निरंतर अस्थिरता एवं ग़ुस्सा बढ़ रहा था.

हैती के राष्ट्रपति जोवेनेल मोइस. (फोटो: रॉयटर्स)

पोर्ट-ऑ-प्रिंस: राष्ट्रपति जोवेनेल मोइस की उनके निजी आवास में घुसकर मंगलवार देर रात को हुई हत्या के मामले में पुलिस ने चार संदिग्ध लोगों को मार गिराया है, जबकि दो अन्य को गिरफ्तार किया गया है. इस घटना से बेहद गरीब इस देश में हालात और खराब होने का अंदेशा है.

हैती के राष्ट्रीय पुलिस बल के प्रमुख लेओन चार्ल्स ने बताया कि संदिग्ध बंदूकधारियों ने तीन पुलिस अधिकारियों को बंधक बना लिया था, जिन्हें बुधवार रात तक मुक्त कराया गया.

समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक, 53 वर्षीय मोइस एक पूर्व व्यवसायी थे, जिन्होंने 2017 में राष्ट्रपति का पदभार ग्रहण किया था. भारी हथियारों से लैस हत्यारों ने राजधानी पोर्ट-ऑ-प्रिंस की ऊपरी पहाड़ियों पर स्थित राष्ट्रपति के घर पर मंगलवार देर रात लगभग एक बजे हमला किया था.

मोइस की हत्या देश में गहराते राजनीतिक एवं आर्थिक संकट तथा गिरोह हिंसा बढ़ जाने के बीच हुई. मोइस के अधिकारवादी शासन से देश में निरंतर अस्थिरता एवं गुस्सा बढ़ रहा था. इस हमले में मोइस की पत्नी एवं प्रथम महिला मार्टिनी मोइस को भी गोली लगी थी, जिनका इलाज चल रहा है.

हालांकि यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि हत्या के पीछे किसका हाथ है.

हैती में बहुत से लोग चाहते थे कि मोइस पद छोड़ दें. 2017 में जब से उन्होंने पदभार संभाला था, तब से उन्हें इस्तीफा देने और बड़े पैमाने पर विरोध का सामना करना पड़ा. विरोध पहले भ्रष्टाचार के आरोपों और अर्थव्यवस्था के प्रबंधन पर, फिर सत्ता पर उनकी बढ़ती पकड़ को लेकर था.

अंतरिम प्रधानमंत्री क्लॉड जोसेफ ने कहा कि सुरक्षा का जिम्मा पुलिस और सेना दोनों के हाथों में है.

अमेरिका महाद्वीप के इस सबसे गरीब देश में तानाशाही का इतिहास रहा है और राजनीतिक उथल-पुथल लोकतांत्रिक शासन कायम करने में बाधा बनी है.

लगभग 1.1 करोड़ की आबादी वाला देश हैती 1986 में डुवेलियर वंशवादी तानाशाही के पतन के बाद से स्थिरता पाने के लिए संघर्ष कर रहा है और तख्तापलट और विदेशी हस्तक्षेपों के खतरे से भी जूझ रहा है.

जोसेफ ने समाचार एजेंसी एसोसिएटेड प्रेस को दिए साक्षात्कार में राष्ट्रपति की हत्या की अंतरराष्ट्रीय स्तर की जांच की मांग की. उन्होंने कहा कि इस वर्ष के अंत में निर्धारित चुनाव अपने तय समय पर होने चाहिए. अधिकारियों ने देश में एक तरह से ‘आपात स्थिति’ की घोषणा कर दी है और अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा बंद कर दिया है.

अमेरिका में हैती के राजदूत बूचित एडमंड ने कहा कि 53 वर्षीय मोइस की हत्या को विदेशी आतंकवादियों और पेशेवर हत्यारों ने सोची समझी साजिश के तहत अंजाम दिया है.

सरकार ने हत्यारों का पता लगाने में मदद करने के लिए दो सप्ताह के आपातकाल की घोषणा की है, जिन्हें एडमंड ने ‘विदेशी भाड़े के आतंकी’ और अच्छी तरह से प्रशिक्षित हत्यारों के एक समूह के रूप में वर्णित किया है.

एडमंड ने बताया कि हमलावर अमेरिकी औषध प्रवर्तन एवं प्रशासन (डीईए) के एजेंट बनकर आए थे. अमेरिकी दूतावास ने बताया कि डीईए का हैती की राजधानी पोर्ट-ऑ-प्रिंस में कार्यालय है.

अंतरिम प्रधानमंत्री क्लाउड जोसेफ, जिन्होंने फिलहाल देश का नेतृत्व संभाला है, ने​ बताया​ कि हमलावर अंग्रेजी और स्पेनिश भाषा बोल रहे थे, जहां बहुसंख्यक तौर पर फ्रेंच या हैतियन क्रियोल भाषा बोली जाती है. हालांकि उन्होंने आगे कोई जानकारी नहीं दी.

जोसेफ ने बताया​ कि देश की प्रथम महिला को इलाज के लिए हवाई मार्ग से फ्लोरिडा भेजा गया है.

एडमंड ने वॉशिंगटन में बताया कि मोइस की पत्नी प्रथम महिला की हालत स्थिर लेकिन नाजुक बनी हुई है और उन्हें उपचार के लिए मियामी ले जाया गया है. उन्होंने बताया कि हैती ने घटना की जांच करने के लिए अमेरिकी सरकार की मदद मांगी है.

हैती के राष्ट्रपति की हत्या की दुनियाभर में निंदा

बर्लिन: लातिन अमेरिका और यूरोप समेत दुनियाभर के नेताओं ने हैती के राष्ट्रपति जोवेनेल मोइस की हत्या की बुधवार को निंदा करते हुए इस संकटग्रस्त कैरेबियाई देश में शांति और एकता बनाए रखने की अपील की.

कोलंबिया के राष्ट्रपति इवान ड्यूक ने घटना की निंदा करते हुए इसे कायरतापूर्ण हरकत बताया और हैती के लोगों के साथ एकजुटता प्रकट की. उन्होंने ‘लोकतांत्रिक व्यवस्था की रक्षा’ की रक्षा के लिए ‘ऑर्गनाजेशन ऑफ अमेरिकन स्टेट्स’ का मिशन भेजने की अपील की.

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने ट्वीट किया कि वह राष्ट्रपति मोइस की मौत की खबर सुनकर स्तब्ध और दुखी हैं.

उन्होंने कहा, ‘हमारी संवेदनाएं उनके परिवार और हैती की जनता के साथ हैं. यह एक घिनौना कृत्य है और मैं शांति की अपील करता हूं.’

स्पेन के प्रधानमंत्री पेद्रो सेन्शेज ने भी हत्या की निंदा की.

सेन्शेज ने लातिविया की यात्रा के दौरान कहा, ‘देश को जो आघात पहुंचा है, उससे निकलने के लिए मैं राजनीतिक एकता की अपील करता हूं.’

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने मोइस की हत्या की निंदा की और सभी पक्षों से शांत रहने, संयम बरतने और किसी भी ऐसे कार्य से बचने का आह्वान किया जो आगे अस्थिरता में योगदान दे सकती है.

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन ने हत्या को ‘जघन्य’ बताया और हैती की स्थिति- जो कि फ्लोरिडा तट से लगभग 700 मील (1,125 किमी) दूर है- को चिंताजनक कहा.

उन्होंने कहा कि हम एक सुरक्षित हैती के लिए काम करना जारी रखते हुए सहायता के लिए तैयार हैं.

ह्वाइट हाउस ने हमले के भयावह और दुखद बताया. ह्वाइट हाउस की प्रेस सचिव जेन साकी ने कहा कि अमेरिका मुश्किल की इस घड़ी में हैती की मदद के लिए तैयार है.

ताइवान की राष्ट्रपति त्साई इंग-वेन ने ट्विटर पर शोक वक्तव्य साझा किया.

उन्होंने लिखा, ‘हम प्रथम महिला के जल्द स्वस्थ होने की कामना करते हैं और मुश्किल की इस घड़ी में अपने साथी हैती के साथ खड़े हैं.’

हैती उन चुनिंदा देशों में शामिल है, जिसके ताइवान के साथ औपचारिक राजनयिक संबंध हैं. चीन ताइवान को अपना हिस्सा मानता है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)