भारत

#BlockNarendraModi: क्यों ​ट्विटर पर नरेंद्र मोदी को ब्लॉक करने का अभियान चल रहा है?

गुरुवार सुबह से ही हैशटैग ‘ब्लॉकनरेंद्रमोदी’ ट्रेंड कर रहा है. कई लोगों ने ट्विटर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ब्लॉक करके प्रतिक्रियाएं लिखी हैं.

modi 1 copy

कन्नड़ की मशहूर पत्रकार और गौरी लंकेश पत्रिके नाम की पत्रिका की संपादक गौरी लंकेश की बेंगलुरु में हत्या के बाद सोशल मीडिया पर तीखी प्रतिक्रिया देखने को मिली है. गौरी लंकेश की हत्या को लेकर ट्विटर पर कुछ यूजर्स ने बहुत आपत्तिजनक टिप्पणियां की थी. उनमें से कुछ अकाउंट ऐसे भी हैं जिन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद फॉलो करते हैं.

यह बात सामने आने के बाद ट्विटर पर गुरुवार सुबह से ही हैशटैग ‘ब्लॉकनरेंद्रमोदी’ ट्रेंड कर रहा है. कई यूजर्स ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ब्लॉक करके ब्लॉक्ड पेज की फोटो डालकर अपनी प्रतिक्रियाएं लिखी हैं.

एक यूजर प्रेरणा‏ ने लिखा, ‘अगर हमारे आदरणीय प्रधानमंत्री ऐसे बेवकूफों को फॉलो करते हैं तो प्रधानमंत्री को भी ब्लॉक कर देना बेहतर है.’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह निखिल दधीच नाम के एक अकाउंट को फॉलो करते हैं. गौरी लंकेश की हत्या के बाद इस अकाउंट से ट्वीट किया गया, ‘एक कुतिया कुत्ते की मौत क्या मरी सारे पिल्ले एक सुर में बिलबिला रहे है. 😜😜 ’

Gauri-Lankesh6

इस ट्वीट के सामने आते ही लोग नाराज हो गए. वरिष्ठ पत्रकार रवीश कुमार का कहना है कि प्रधानमंत्री के सामने ऐसे अकाउंट और ऐसे लोगों को फॉलो करने की क्या मजबूरी है, उन्हें स्पष्टीकरण देना चाहिए. सोशल मीडिया पर भी लोगों ने इस पर नाराजगी जाहिर की है.

यह भी देखें: ट्विटर पर मोदी जिन्हें फॉलो करते हैं वो लोग गौरी लंकेश की हत्या का ‘जश्न’ मना रहे हैं

फरीदा पटेल नाम के अकाउंट से लिखा गया, ‘ऐसे प्रधानमंत्री को फॉलो करते हुए हमें शर्म आई जो सिर्फ ट्रोल अकाउंट और नफरत फैलाने वाले ट्विटर हैंडल को फॉलो करते हैं. उन्हें शर्म आनी चाहिए.’

नीतेश मिश्रा ने लिखा, ‘अज्ञानता वरदान है. मोदीजी, आपके फॉलोवर्स की च्वाइस पर हम बोल नहीं पाएंगे, सीधे ब्लॉक किया जाएगा.’

कांग्रेस नेता संजय झा ने लिखा, ‘#BlockNarendraModi जन आक्रोश की अभिव्यक्ति है. भाड़े के हिंसक ट्रोल और भाजपा का भारी भरकम खजाना भारतीयों को रोक नहीं सकता.’

सूफियान अहमद ने लिखा, ‘मैंने नरेंद्र मोदी को ब्लॉक कर दिया है क्योंकि मैं उनके शासनकाल में सुरक्षित महसूस नहीं करता. वह मेरे प्रधानमंत्री नहीं हो सकते क्योंकि वे सोशल मीडिया पर गाली गलौज करने वालों को फॉलो करते हैं.’

हालांकि सूरज अग्रवाल ने लिखा, ‘आइए सभी विपक्षी सदस्यों को ब्लॉक करें, खासकर राहुल गांधी को.’

हालांकि, दूसरी तरफ कुछ लोगों ने प्रधानमंत्री को ब्लॉक करने के इस अभियान पर सवाल उठाए हैं.

आम आदमी पार्टी से जुड़े अंकित लाल ने इस अभियान का समर्थन नहीं करने का ऐलान किया. उन्होंने लिखा, ‘Sorry, won’t #BlockNarendraModi. हम अपनी आवाज़ उठाते रहेंगे और यह सुनिश्चित करते रहेंगे कि वह सुन रहे हैं.

महेश ने इस अभियान की चुटकी लेते हुए लिखा, ‘उन्होंने (मोदी ने) राजा की तरह उन्हें(कांग्रेस को) ब्लॉक करके 44 सीट पर पहुंचा दिया, अब वे मोदी को ट्विटर पर ब्लॉक करके खुश हैं.’ महेश को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी फॉलो करते हैं.

कामरान शाहिद समेत कई लोग चुटकी लेते हुए दिखे कि ‘अभी अभी यूनेस्को ने प्रमाणित किया है कि नरेंद्र मोदी दुनिया के सबसे ज्यादा ब्लॉक किए जाने वाले पीएम बन गए हैं.’ #ब्लॉकनरेंद्रमोदी के जवाब में कुछ यूजर्स ने #ब्लॉकअपोजीशन और #ब्लॉकराहुलगांधी ट्रेंड कराने की कोशिश की.

अमन नाम के हैंडल से लिखा गया, ‘नरेंद्र मोदी को ब्लॉक करना अपनी एकतरफा चाहत को ब्लॉक करने जैसा है. मोदी और आपका एकतरफा प्यार, दोनों को नहीं पता कि आपका कोई वजूद भी है.’

प्रीति गांधी ने #BlockNarendraModi हैशटैग के साथ लिखा है, ‘आप उनसे प्यार कर सकते हैं, आप उनसे घृणा कर सकते हैं, लेकिन आप उन्हें नजरअंदाज नहीं कर सकते.’

अभिनेता कमाल आर खान ने गौरी लंकेश की हत्या के विरोध में कई ट्वीट किए, उन्होंने लिखा, ‘मुझे नहीं लगता कि नरेंद्र मोदी को ब्लॉक करने से कुछ फर्क पड़ने वाला है. कसम खाइए कि बीजेपी को वोट नहीं करेंगे क्योंकि बीजेपी नफरत की राजनीति के जरिये देश को बर्बाद कर रही है.’

एक दूसरे ट्वीट में उन्होंने लिखा, ‘यह देखकर मैं वाकई शर्मिंदा हूं कि प्रधानमंत्री ऐसे मनोरोगी भक्त को फॉलो करते हैं जो गौरी लंकेश की हत्या की सराहना कर रहे हैं. वे देश के प्रधानमंत्री हैं, न कि सिर्फ भक्तों के.’

सबसे दिलचस्प यह रहा कि #BlockNarendraModi आज गुरुवार सुबह से ही ट्रेंड कर रहा है. ऐसा कम ही होता है कि कोई हैशटैग पूरा दिन ट्रेंड करता रहे. क्या सोशल मीडिया यूजर्स की यह प्रतिक्रिया प्रधानमंत्री को सोचने पर मजबूर करेगी कि वे कायदे के लोगों को ही फॉलो करें?