भारत

यूपी: बलात्कार मामले में राष्ट्रीय युवा हिंदू वाहिनी की नेता, उनके बेटे और रिश्तेदार पर केस

घटना 15 जुलाई को मेरठ के पल्लवपुरम इलाके में राष्ट्रीय युवा हिंदू वाहिनी की स्वघोषित महिला नेता के घर पर हुई. पीड़िता का आरोप है कि उन्हें कोल्ड ड्रिंक में नशीला पदार्थ मिलाकर पिलाया गया और फिर बेहोशी की हालत में महिला नेता के इशारे पर उनके बेटे और एक रिश्तेदार ने उनसे बलात्कार किया.

राष्ट्रीय हिंदू युवा वाहिनी के अध्यक्ष अनुराग गोस्वामी के साथ संगठन की नेता मीनाक्षी चौहान. (फोटो साभारः फेसबुक)

नई दिल्लीः उत्तर प्रदेश के मेरठ में एक महिला ने राष्ट्रीय युवा हिंदू वाहिनी की एक स्वघोषित नेता के बेटे और एक रिश्तेदार पर बलात्कार करने और महिला नेता पर दुष्कर्म में मदद करने का आरोप लगाया है.

आरोप है कि यह घटना 15 जुलाई को मेरठ के पल्लवपुरम इलाके में राष्ट्रीय युवा हिंदू वाहिनी की महिला नेता के घर पर हुई.

पीड़ित महिला का आरोप है कि जब उन्होंने हिंदूवादी संगठन को इस बारे में बताया तो उससे कहा गया, ‘कोई बात नहीं, 100 गायों का दान हो गया.’

हालांकि, यह घटना 15 जुलाई को हुई लेकिन पीड़िता 28 जुलाई को एफआईआर दर्ज करा पाई. पीड़ित महिला का कहना है कि आरोपी ने उसे जान से मारने की धमकी दी थी. इसके साथ ही उसे धमकाया गया था कि अगर उसने इस बारे में किसी को कुछ बताया तो इस घटना का वीडियो सार्वजनिक कर दिया जाएगा.

शुक्रवार को मेडिकल जांच हुई, अब तक गिरफ्तारी नहीं

पल्लवपुरम पुलिस थाने में तैनात ड्यूटी ऑफिसर ने शुक्रवार रात को द वायर  को बताया कि शुक्रवार दिन में पीड़िता की मेडिकल जांच की गई. हालांकि, अभी तक इस मामले में कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है.

पीड़िता ने मेरठ जिले के पल्लवपुरम पुलिस थाने में 28 जुलाई को शाम लगभग छह बजे एफआईआर (संख्या 0304) दर्ज कराई थी.

उत्तर प्रदेश के बरेली की रहने वाली 24 साल की पीड़ित महिला ने अपनी शिकायत में पल्लवपुरम के दुल्हेड़ा चौहान गांव के नरेंद्र चौहान की पत्नी मीनाक्षी चौहान, उसके बेटे अनिकेत चौहान और एक रिश्तेदार अजय चौहान पर आरोप लगाया है.

पीड़ित महिला मुस्लिम है लेकिन उसकी शिकायत में यह नहीं कहा गया कि उसका धर्म इस घटना का कारण था बल्कि संकेत यह हैं कि पीड़िता भी राष्ट्रीय युवा हिंदू वाहिनी की सदस्य हो सकती है और चौहान और उसके परिवार की परिचित हैं.

बलात्कार के अलावा पुलिस ने तीनों आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की अन्य धाराओं में भी मामला दर्ज किया है.

पीड़ित महिला के वकील सुमित चौधरी का कहना है कि शिकायत दर्ज होने के तुरंत बाद ही गिरफ्तारियां हो जानी चाहिए थी लेकिन आरोपी प्रभावशाली महिला है, जिनके बहुत सारे कनेक्शन हैं.

सोमवार को दंड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 164 के तहत उनका बयान मजिस्ट्रेट के समक्ष लिया जाएगा.

नशीला पेय पदार्थ पिलाकर बलात्कार

पीड़िता का कहना है कि उसे कोल्ड ड्रिंक में नशीला पदार्थ मिलाकर पिलाया गया और फिर बेहोशी की हालत में उसका बलात्कार किया गया.

पीड़िता ने कहा कि मीनाक्षी, अनिकेत और अजय चौहान ने उसकी पिटाई भी की और जान से मारने की धमकी दी. इसके साथ ही कुछ भी बताने पर घटना के वीडियो को सार्वजनिक करने की धमकी दी.

पुलिस के समक्ष दर्ज अपनी शिकायत में पीड़ित महिला ने कहा है कि वह शोभित यूनिवर्सिटी के पास रहने वाली मीनाक्षी से परिचित थी और अक्सर उनके घर आती थी.

पीड़िता ने पुलिस को बताया कि मीनाक्षी खुद को राष्ट्रीय युवा हिंदू वाहिनी की महिला इकाई का संगठनात्मक सचिव बताती थी. हालांकि, महिला को संदेह है कि वह ऐसे किसी पद पर नहीं है लेकिन द वायर  इसकी पुष्टि कर सकता है कि मीनाक्षी चौहान संगठन की राष्ट्रीय संगठन मंत्री हैं.

पांच फरवरी 2021 को मेरठ में आयोजित एक कार्यक्रम में राष्ट्रीय युवा हिंदू वाहिनी के प्रमुख अनुराग गोस्वामी ने संगठन में उनकी भूमिका की बात स्वीकारी थी. पिछले साल मीनाक्षी ने उनके साथ दुर्व्यवहार करने पर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर भाजपा विधायक संगीत सोम की निंदा की थी.

बता दें कि गोस्वामी का संगठन हिंदू युवा वाहिनी की तरह नहीं है, जिसकी उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अध्यक्षता करते हैं.

पिछले साल गोस्वामी को यूपी पुलिस ने उस समय राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम (एनएसए) के तहत हिरासत में लिया था, जब कोविड-19 दिशानिर्देशों की अवहेलना कर सार्वजनिक बैठक आयोजित करने पर उनके खिलाफ मामला दर्ज किया गया था और उन्होंने वरिष्ठ अधिकारियों के खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया था.

उन्हें इस साल फरवरी में रिहा किया गया था और उन्होंने तुरंत योगी और मोदी के प्रति अपना समर्थन जताया था.

पीड़िता का कहना है कि 15 जुलाई को वह मीनाक्षी के घर पर थीं. अजय और अनिकेत ने उन्हें पीने के लिए कोल्ड ड्रिंक दी, जिसमें कुछ नशीला पदार्थ मिला हुआ था. पीड़िता का कहना है कि इसे पीने के बाद वह बेहोश हो गई और दोनों ने उसके साथ बलात्कार किया.

पीड़ित महिला का कहना है कि जब उसे होश आया, उस समय भी अनिकेत उसका बलात्कार कर रहा था. जब उसने इसका विरोध किया तो अजय ने बंदूक दिखाते हुए उसके मारने की धमकी दी.

एफआईआर में पीड़ित महिला ने कहा है कि पल्लवपुरम के एसएचओ मीनाक्षी के करीबी हैं. पीड़िता ने कहा कि बलात्कार के बाद उसकी पिटाई की गई और 16 जुलाई की रात को मीनाक्षी के घर से बाहर फेंक दिया गया.

पीड़िता ने पुलिस के समक्ष शिकायत में कहा कि मीनाक्षी ने उसे धमकी दी थी कि अगर इसके बारे में किसी को बताया तो वह घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर देगी.

पीड़िता ने कहा, ‘मीनाक्षी ने धमकी दी थी कि मुंह दिखाने के लायक नहीं रखूंगी. आत्महत्या करने को मजबूर कर दूंगी.’

हालांकि, पीड़िता ने हिम्मत जुटाते हुए आरोपियों के खिलाफ पुलिस में एफआईआर दर्ज कराई.

पीड़िता ने एफआईआर में कहा है कि मीनाक्षी के कहने पर अनिकेत और अजय ने नशीला पदार्थ पिलाने के बाद उसके साथ बलात्कार किया.

पीड़िता का कहना है कि मीनाक्षी चौहान ने इससे पहले वंदना सैनी नाम की एक महिला से 20,000 रुपये ठगे थे. उसके पास इस घटना की रिकॉर्डिंग भी थी.

पीड़िता का कहना है कि ठीक इसी तरह मीनाक्षी लोगों के खिलाफ झूठे मामले दर्ज कराती थी और इस साल अप्रैल में एक महिला की शिकायत पर गाजियाबाद के मोदीपुरम पुलिस थाने में शैलेंद्र मलिक के बेटे कपिल मलिक के खिलाफ भी इसी तरह की एक शिकायत दर्ज कराई थी.

पीड़िता ने एफआईआर में कहा है कि वह इसी तरह लोगों से पैसों की उगाही करती थी.

उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय युवा हिंदू वाहिनी चाहती है कि भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित किया जाए. संगठन के प्रमुख गोस्वामी का कहना है कि परिवारों को एक से अधिक बच्चा पैदा करने से हतोत्साहित करने वाला उत्तर प्रदेश का प्रस्तावित जनसंख्या कानून सिर्फ मुस्लिमों पर लागू होना चाहिए और हिंदुओं को तीन-तीन बच्चे पैदा करने की मंजूरी देनी चाहिए.

गोस्वामी ने अपने फेसबुक पेज पर कहा है कि वह रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से प्रेरित हैं और उन्होंने उनके साथ बैठकों की कई तस्वीर सोशल मीडिया पर पोस्ट की है.

(इस रिपोर्ट को अंग्रेजी में पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.)