नॉर्थ ईस्ट

त्रिपुराः भाजपा विधायक ने कार्यकर्ताओं से ‘तालिबानी शैली’ में टीएमसी का मुक़ाबला करने को कहा

त्रिपुरा में भाजपा विधायक अरुण चंद्र भौमिक ने पार्टी कार्यकर्ताओं से अपील की है कि हमें ‘तालिबानी शैली’ में उन पर टीएमसी कार्यकर्ताओं हमला करने की ज़रूरत है. जब वे यहां हवाई अड्डे पर पहुंचते हैं तब हमें उन पर एक बार हमला करने की ज़रूरत है. हम ख़ून की हर एक बूंद से बिप्लब कुमार देब की अगुवाई वाली सरकार की रक्षा करेंगे. तृणमूल कांग्रेस नेताओं ने भाजपा विधायक के बयान की निंदा करते हुए उनकी गिरफ़्तारी की मांग की है.

अरुण चंद्र भौमिक. (फोटो साभार: फेसबुक)

अगरतला: त्रिपुरा में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक अरुण चंद्र भौमिक ने कथित रूप से यह कहकर विवाद खड़ा कर दिया है कि यदि तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के नेता अगरतला हवाई अड्डे पर पहुंचते हैं तो उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं को ‘तालिबानी शैली’ में उनका मुकाबला करना चाहिए.

हालांकि भाजपा ने कहा कि यह उसका नहीं, बल्कि विधायक का कथन है.

तृणमूल कांग्रेस की नजर त्रिपुरा में 2023 में होने वाले विधानसभा चुनाव पर है और महासचिव अभिषेक बनर्जी समेत पार्टी नेता तृणमूल के वास्ते जनाधार तैयार करने एवं संगठन खड़ा करने के लिए बार-बार इस पर्वतीय राज्य का चक्कर लगा रहे हैं. तृणमूल अब तक पश्चिम बंगाल में ही सीमित है.

बेलोनिया निर्वाचन क्षेत्र के विधायक अरुण चंद्र भौमिक ने कहा, ‘तृणमूल कांग्रेस त्रिपुरा की बिप्लब कुमार देब नीत सरकार को नुकसान पहुंचाने की कोशिश कर रही है, जो 25 साल के कम्युनिस्ट शासन को समाप्त करके सत्ता में आई है. यह सब पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की शह पर हो रहा है.’

अरुण चंद्र भौमिक ने बीते 18 अगस्त को दक्षिण त्रिपुरा जिले के बेलोनिया टाउन हॉल में केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल की गई नई केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री प्रतिमा भौमिक के अभिनंदन समारोह के दौरान यह टिप्पणी की.

उन्होंने कहा, ‘मैं आप सभी से अपील करता हूं कि हमें तालिबानी शैली में उन पर हमला करने की जरूरत है. जब वे यहां हवाई अड्डे पर पहुंचते हैं तब हमें उन पर एक बार हमला करने की जरूरत है. हम खून की हर एक बूंद से बिप्लब कुमार देब की अगुवाई वाली सरकार की रक्षा करेंगे.’

उनकी इस टिप्पणी का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है और लोग उसकी आलोचना कर रहे हैं.

इस टिप्पणी पर प्रदेश तृणमूल नेता सुबल भौमिक ने भाजपा विधायक की गिरफ्तारी की मांग की. उन्होंने दावा किया, ‘पश्चिम बंगाल के तृणमूल नेताओं को कल रात अगरतला में एक होटल में परेशान किया गया, जहां वे ठहरे हुए हैं. यह घटना विधायक के भड़काऊ भाषण के बाद घटी.’

इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में तृणमूल कांग्रेस नेता और पूर्व सांसद रीताब्रत बनर्जी ने कहा, ‘भाजपा ने तृणमूल नेताओं पर हमला करने के लिए एक ‘थेंगरे वाहिनी’ (गुंडा बल) बनाया है और कहा कि टीएमसी महासचिव अभिषेक बनर्जी की कार पर इस बल द्वारा त्रिपुरा में उनकी यात्रा के दौरान हमला किया गया था.’

पिछले कुछ सप्ताह के दौरान त्रिपुरा से भाजपा एवं तृणमूल कार्यकर्ताओं के बीच झड़प की खबरें आई हैं.

बनर्जी ने कहा, ‘ऐसे समय में जब पूरी दुनिया तालिबान की आलोचना कर रही है, संविधान के नाम पर शपथ लेने वाले एक विधायक को पश्चिम बंगाल से आने वाले तृणमूल कांग्रेस के नेताओं पर तालिबानी अंदाज में हमला करने के लिए कहते सुना जाता है. जिस तरह से अरुण चंद्र भौमिक ने हवाई अड्डे पर उतरने पर तालिबानी शैली के हमलों की सिफारिश की, वह निंदनीय है.’

बनर्जी ने दावा किया कि भाजपा त्रिपुरा में अपना जनाधार खो रही है और कहा कि टीएमसी पर उसके राजनीतिक हमले हताशा के कारण हैं.

इस बीच प्रदेश भाजपा प्रवक्ता सुब्रत चक्रवर्ती ने कहा कि अरुण चंद्र भौमिक की टिप्पणी उनका अपना बयान है और पार्टी का उस बयान से कोई लेना-देना नहीं है. उन्होंने कहा, ‘यह पूरी तरह उनकी जिम्मेदारी है. यह भाजपा की संस्कृति नहीं है.’

इस संबंध में संपर्क करने पर अरुण चंद्र भौमिक ने कहा, ‘मैंने यह स्पष्ट करने के लिए ‘तालिबानी’ शब्द का इस्तेमाल किया कि जिस तरह तृणमूल कांग्रेस त्रिपुरा में भाजपा सरकार को नुकसान पहुंचाने का प्रयास कर रही है, उसके लिए तीखी प्रतिक्रिया की जरूरत है. ‘तालिबानी ’ शब्द के इस्तेमाल से शायद कड़ा संदेश गया हो, लेकिन मेरा मकसद सिर्फ यह बताना था कि कैसे गंभीर रूप से उनका मुकाबला करना है.’

द वायर से बात करते हुए भौमिक ने कहा, ‘मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब के नेतृत्व में हमारी सरकार सुचारू रूप से चल रही है. वे (टीएमसी) हमारे वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों, हमारी पार्टी के कार्यकर्ताओं को धमका रहे हैं. मैंने ‘तालिबानी’ शब्द का इस्तेमाल सिर्फ एक उदाहरण के तौर पर किया, यह स्पष्ट करने के लिए कि जिस तरह से बीजेपी सरकार पर टीएमसी प्रहार करने की कोशिश कर रही है, उसे एक मजबूत जवाबी कार्रवाई की जरूरत है. ‘तालिबानी’ शब्द के इस्तेमाल से भले ही गलत संदेश गया हो, लेकिन मेरा इरादा सिर्फ जवाबी कार्रवाई की गंभीरता बताने का था.’

राज्य भाजपा के प्रवक्ता नबेंदु भट्टाचार्य ने द वायर से बातचीत में कहा कि भौमिक की टिप्पणी पश्चिम बंगाल में टीएमसी द्वारा भाजपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ बड़े पैमाने पर हिंसा के संबंध में असंतोष की अभिव्यक्ति थी. हालांकि, उन्होंने दावा किया कि उनकी पार्टी कानून को हाथ में लेने के खिलाफ है, क्योंकि वे लोकतांत्रिक राजनीति में विश्वास करते हैं.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)