भारत

तमिलनाडुः यौन दुराचार के आरोपों के बाद भाजपा महासचिव ने इस्तीफ़ा दिया

भाजपा के एक कार्यकर्ता मदन रविचंद्रन द्वारा जारी एक वीडियो में तमिलनाडु भाजपा के महासचिव केटी राघवन कथित तौर पर पार्टी की एक महिला कार्यकर्ता के साथ अभद्र वीडियो कॉल पर नज़र आ रहे हैं. रविचंद्रन का कहना है कि उनकी टीम के पास भाजपा नेताओं के ऐसे 15 ऑडियो और वीडियो क्लिप हैं, जिन्हें समय आने पर जारी किया जाएगा. उन्होंने कहा कि उनका उद्देश्य पार्टी से ऐसे लोगों को दूर रखना है.

तमिलनाडु भाजपा महासचिव पद से इस्तीफा दे चुके केटी राघवन. (फोटो साभारः एएनआई)

चेन्नईः तमिलनाडु के भाजपा महासचिव और राज्य में आरएसएस का चेहरा केटी राघवन ने एक विवादित वीडियो सामने आने के बाद मंगलवार को पद से इस्तीफा दे दिया है.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, यह वीडियो भाजपा के ही एक सदस्य मदन रविचंद्रन ने जारी किया है और उन पर यौन दुराचार का आरोप लगाया है.

इस वीडियो में कथित तौर पर राघवन को पार्टी की एक महिला कार्यकर्ता के साथ अभद्र बातें करते देखा जा सकता है.

मदन रविचंद्रन ने मंगलवार सुबह यह वीडियो जारी किया है. उन्होंने दावा किया है कि भाजपा नेताओं के ऐसे 15 वीडियो और भी हैं. रविचंद्रन का दावा है कि पार्टी की राज्य इकाई के अध्यक्ष के. अन्नामलाई की सहमति से यह वीडियो जारी किया गया है.

इस वीडियो के जारी होने के तुंरत बाद राघवन ने इस्तीफे का ऐलान करते हुए कहा कि उन्होंने बिना किसी लाभ की मंशा के बीते तीन दशकों से पार्टी के लिए काम किया है.

उन्होंने कहा, ‘ यह वीडियो मुझे और भाजपा को बदनाम करने के लिए है. मैं इन आरोपों से इनकार करता है और इसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करूंगा.’

अन्नामलाई ने कहा कि इस वीडियो की प्रमाणिकता का पता लगाने के लिए आतंरिक जांच के आदेश दिए गए हैं.

रविचंद्रन के इस दावे के बारे में पूछने पर कि यह वीडियो अन्नामलाई की सहमति से जारी किया गया, उन्होंने कहा, ‘मैंने उनसे वीडियो पेश करने को कहा था और उन्हें बताया था कि वीडियो की प्रमाणिकता का पता लगाए जाने और आरोपी से स्पष्टीकरण मांगे जाने से पहले कार्रवाई नहीं की जा सकती.’

राघवन ने ट्वीट कर इन आरोपों से इनकार करते हुए कहा, ‘तमिलनाडु के लोग और पार्टी जानते हैं कि मैं कौन हूं, जो लोग मुझ पर विश्वास करते हैं वे जानते हैं कि मैं कौन हूं. मैं बिना किसी लाभ की मंशा के 30 सालों से काम कर रहा हूं. मुझे पता चला कि आज सुबह सोशल मीडिया पर मेरे बारे में एक वीडियो सामने आया है. यह वीडियो मुझे और मेरी पार्टी को बदनाम करने के लिए जारी किया है. मैंने इस पर पार्टी के राज्य अध्यक्ष अन्नामलाई से चर्चा की. मैं पार्टी पद से इस्तीफा देता हूं. मैं इन आरोपों से इनकार करता हूं. सत्य की जीत होगी.’

रविचंद्रन ने अपने यूट्यूब चैनल ‘मदन डायरी’ पर यह वीडियो अपलोड किया है. उनका दावा है कि उनकी टीम के पास भाजपा नेताओं के ऐसे 15 ऑडियो क्लिप और वीडियो क्लिप हैं, जिन्हें समय आने पर जारी किया जाएगा.

उन्होंने कहा कि भाजपा के कई नेताओं पर यौन उत्पीड़न के आरोपों के बीच इस तरह के स्टिंग ऑपरेशन का विचार आया. उन्होंने कहा कि उनका उद्देश्य पार्टी से ऐसे लोगों को दूर रखना है.