भारत

मध्य प्रदेश: आधार कार्ड नहीं दिखाने पर मुस्लिम टोस्ट विक्रेता को पीटा

मध्य प्रदेश के देवास ज़िले का मामला. राज्य में यह इस तरह का दूसरा मामला है. बीते 21 अगस्त को इंदौर शहर में भी एक मुस्लिम चूड़ी विक्रेता तस्लीम अली के साथ बर्बर मारपीट की घटना हुई थी. हालांकि अली को बीते 25 अगस्त को पॉक्सो एक्ट के तहत एक 13 वर्षीय लड़की को चूड़ियां बेचते समय अनुचित तरीके से छूने के आरोप में गिरफ़्तार किया गया था.

पीड़ित व्यक्ति जहीर खाना. (फोटो: वीडियोग्रैब)

नई दिल्ली: मध्य प्रदेश के देवास जिले में दो लोगों ने सड़क पर टोस्ट बेचने वाले 45 वर्षीय मुस्लिम व्यक्ति की कथित तौर पर इसलिए पिटाई कर दी, क्योंकि वह अपनी पहचान साबित करने के लिए उन्हें आधार कार्ड नहीं दिखा सके थे. पुलिस ने बीते गुरुवार को यह जानकारी दी.

महज चार दिन पहले मध्य प्रदेश के इंदौर में भी मुस्लिम चूड़ी विक्रेता के साथ बर्बर मारपीट की घटना हुई थी.

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) सूर्यकांत शर्मा ने बताया कि बुधवार (25 अगस्त) दोपहर को अमलताज गांव के रहने वाले जहीर खान से दो अज्ञात लोगों ने आधार कार्ड दिखाने को कहा. जहीर ने कहा कि उनके पास कार्ड नहीं है तो उन लोगों ने उनके साथ गाली गलौच की और उन्हें कथित तौर पर लाठी, बेल्ट से पीटा.

शर्मा ने बताया कि आरोपियों की पहचान करने के प्रयास किए जा रहे हैं. उन्होंने बताया कि खान ने बुधवार शाम को हाटपिपलिया थाने में शिकायत दर्ज करवाई थी.

खान ने इंडिया टुडे को बताया, ‘दोनों बोरली गांव के रहने वाले हैं और मैंने उन्हें पहले भी गांव में देखा है. मैं उन्हें उनके चेहरे से पहचानता हूं और उन्होंने मुझे फिर से गांव में प्रवेश न करने की चेतावनी दी है.’

इस मामले को लेकर आईपीसी की धारा 294 (गाली-गलौच करना), 323 (चोट पहुंचाना), 506 (आपराधिक धमकी) और 34 के तहत मामला दर्ज किया गया है.

मालूम हो कि बीते रविवार (22 अगस्त) को इसी तरह का एक मामला सामने आया था, जहां रक्षाबंधन के मौके पर इंदौर में फेरी लगाकर चूड़ी बेच रहे 25 वर्षीय तस्लीम अली को पांच-छह लोगों के एक समूह ने कथित तौर पर नाम पूछकर बर्बर तरीके से पीटा था. अली उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले के रहने वाले हैं.

घटना का वीडियो वायरल होने पर मचे बवाल के बाद शामिल लोगों के खिलाफ सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने तथा अन्य संगीन आरोपों में प्राथमिकी दर्ज की गई है. इसमें से चार लोगों को गिरफ्तार भी किया गया था.

हालांकि खुद तस्लीम अली को बीते बुधवार (25 अगस्त) को यौन अपराधों से बच्चों के संरक्षण अधिनियम (पॉक्सो) के तहत एक 13 वर्षीय लड़की को चूड़ियां बेचते समय अनुचित तरीके से छूने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था.

पुलिस ने दावा किया है कि उनके बैग से अलग-अलग नामों के दो आधार कार्ड जब्त किए गए हैं.