भारत

मध्य प्रदेश: आदिवासी की बेरहमी से पिटाई कर वाहन से बांधकर घसीटा गया, इलाज के दौरान मौत

मध्य प्रदेश के नीमच ज़िले की घटना. पुलिस ने बताया कि इस मामले में पांच आरोपियों को गिरफ़्तार कर लिया गया है. बाइक से पीड़ित आदिवासी की टक्कर हो जाने के बाद कुछ लोगों ने उसे बेरहमी से पीटा था. इस घटना के बाद कांग्रेस नेताओं ने राज्य की भाजपा सरकार पर सवाल उठाते हुए कहा कि पूरे प्रदेश में अराजकता का माहौल है.

कन्हैयालाल भील.

नीमच: मध्य प्रदेश के नीमच जिले में आठ लोगों ने 40 वर्षीय एक आदिवासी व्यक्ति की पिटाई कर एक वाहन के पीछे रस्सी से बांधकर उसे कुछ दूरी तक घसीटा. बाद में पीड़ित आदिवासी की इलाज के दौरान मौत हो गई. पुलिस ने शनिवार को बताया कि इस मामले में पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है.

पीड़ित की पहचान कन्हैयालाल भील के तौर पर की गई है, जिसकी मौत शुक्रवार (27 अगस्त) को नीमच के जिला अस्पताल में इलाज के दौरान हो गई. यह घटना बृहस्पतिवार (26 अगस्त) की सुबह पीड़ित और बाइक पर सवार एक दूधवाले के बीच मामूली सड़क दुर्घटना के बाद हुई.

पुलिस अधीक्षक (एसपी) सूरज कुमार वर्मा ने बताया, ‘जिला मुख्यालय से लगभग 84 किलोमीटर दूर नीमच-सिंगोली मार्ग पर खड़े बाणदा गांव के पीड़ित कन्हैयालाल भील को बाइक पर सवार दूधवाले छीतरमल गुर्जर ने टक्कर मार दी.’

उन्होंने कहा कि दुर्घटना के कारण सड़क पर दूध गिर जाने से गुर्जर ने आपा खो दिया और भील की जमकर पिटाई कर दी. इसके बाद गुर्जर ने अपने दोस्तों को बुलाया और भील के साथ फिर मारपीट की और वहां से गुजर रहे एक वाहन (पिकअप) के पिछले हिस्से में भील को रस्सी से बांध दिया और कुछ दूर तक उसे घसीटा गया.

एसपी ने कहा, ‘घटना का वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस हरकत में आई, लेकिन तब तक आरोपी फरार हो चुका था. पीड़ित को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां शुक्रवार को उसकी मौत हो गई.’

उन्होंने कहा कि आठ आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 (हत्या), आईपीसी की अन्य संबद्ध धाराओं और अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है.

एसपी ने बताया कि पांच आरोपियों की पहचान छीतरमल गुर्जर (32 वर्ष), महेंद्र गुर्जर (40 वर्ष), गोपाल गुर्जर (40 वर्ष), लोकेश बलाई (21 वर्ष) और लक्ष्मण गुर्जर के रूप में हुई है. शेष अन्य आरोपियों का पता लगाने का प्रयास जारी है.

उन्होंने कहा कि वारदात को अंजाम देने में कथित तौर पर इस्तेमाल की गई बाइक और दो चार पहिया वाहन तथा नायलॉन की रस्सी को जब्त कर लिया गया है.

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के अनुसार, मृतक अपनी पत्नी को खोजने के लिए निकला था, जब उसके साथ यह बर्बरतापूर्ण घटना अंजाम दी गई.

इस बीच कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर कहा, ‘मध्य प्रदेश अपराध का केंद्र बनता जा रहा है. नेमावर, सिंगरौली, उज्जैन इंदौर, नरेला (शाजापुर), मंदसौर, रीवा और अब सिंगौली (नीमच). गृह मंत्री जी को वसूली से और दतिया में उनके विरोधियों पर झूठे प्रकरण दर्ज कर उन्हें पुलिस व जेल अधिकारियों से प्रताड़ित करने से फुर्सत नहीं है.’

मध्य प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ ने ट्वीट किया, ‘सतना, इंदौर, देवास और अब नीमच में अमानवीयता की घटनाएं. एक युवक की चोरी की शंका पर कितनी बर्बरता से पिटाई की जा रही है? आखिरहमारा प्रदेश कहां ले जाया जा रहा है? दोषियों पर कड़ी कार्यवाही हो.’

उन्होंने आगे कहा, ‘मध्य प्रदेश के इंदौर, देवास और अब उज्जैन के महिदपुर की घटना. ये कौन लोग हैं, जो निरंतर ऐसी घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं. हमारी गंगा-जमुनी भाईचारे की संस्कृति को कुछ लोग बिगाड़ने का काम कर रहे हैं. ऐसा लग रहा है कि किसी खास एजेंडे के तहत यह सब किया जा रहा है.’

उन्होंने कहा कि सरकार मूकदर्शक बन कर सब देख रही है. पूरे प्रदेश में अराजकता का माहौल. लोग बेखौफ होकर कानून हाथ में ले रहे हैं. कानून का मखौल उड़ाया जा रहा है. कानून का कोई डर नहीं, सरकार नाम की चीज कहीं भी नजर नहीं आ रही है.

उन्होंने मांग की कि सरकार ऐसी घटनाओं पर रोक लगाने को लेकर तत्काल आवश्यक कदम उठाए और दोषियों पर कड़ी कार्रवाई हो.

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के अनुसार, कांग्रेस ने इस घटना की जांच के लिए 5 विधायकों का दल गठित किया है, जो सिंगोली जाकर पीड़ित परिवार से मिलेगा.

नीमच की घटना पर मध्य प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वीडी शर्मा ने कहा कि जिस प्रकार की घटना हुई है, वो दर्दनाक है. अपराधी और इस तरह के कृत्य करने वालों को नहीं छोड़ा जाएगा. उन्हें कड़ा दंड मिलना चाहिए. शर्मा ने यह भी कहा कि विपक्ष को ऐसे मुद्दों पर राजनीति नहीं करना चाहिए. सरकार ने तत्परता से एक्शन लिया है.

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) अध्यक्ष एवं उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने हत्या के मामले की आलोचना करते हुए सरकार से दोषियों को सख्त सजा देने की मांग की है.

बसपा प्रमुख ने रविवार को ट्वीट किया, ‘मध्य प्रदेश के नीमच जिले में आदिवासी समुदाय के कन्हैयालाल भील की मामूली बात पर की गई पिटाई एवं फिर गाड़ी से बांधकर घसीटे जाने से उसकी मौत हो गई. भीड़ द्वारा की गई हत्या की दिल दहलाने वाली यह घटना अति-निन्दनीय है.’

उन्होंने ट्वीट किया, ‘बसपा की मांग है कि सरकार दोषियों को सख्त सजा दे.’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)