राजनीति

यूपी: भाजपा विधायक ने फ़िरोज़ाबाद में डेंगू से 41 बच्चों के मरने का दावा किया, सरकार का इनकार

उत्तर प्रदेश के फ़िरोज़ाबाद ज़िले से आने वाले भाजपा विधायक मनीष असीजा ने बताया कि उनके पास अब तक 41 बच्चों की डेंगू से मौत की सूचना आ चुकी है, जबकि कई लोग गंभीर स्थिति में हैं. असीजा ने इस हादसे के लिए प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग और स्थानीय नगर निकाय को ज़िम्मेदार ठहराया है.

मनीष असीजा. (फोटो साभार: फेसबुक)

फिरोजाबाद: उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद जिले में डेंगू बुखार का कहर लगातार जारी है और सदर विधायक मनीष असीजा ने रविवार को बताया कि उनके पास अब तक 41 बच्चों की डेंगू से मौत की सूचना आ चुकी है, जबकि कई लोग गंभीर स्थिति में हैं.

असीजा ने इसके लिए प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग और स्थानीय नगर निकाय को जिम्मेदार ठहराया है. हालांकि स्वास्थ्य मंत्री जयप्रताप सिंह ने विधायक असीजा के इस दावे को गलत बताया है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार, असीजा ने कहा, ‘22-23 अगस्त से डेंगू से फिरोजाबाद में 40 से अधिक बच्चों की मौत हो चुकी है. आज (रविवार) सुबह मुझे छह बच्चों की मौत की दुखद जानकारी मिली. उन्होंने दावा किया कि ये बच्चे 4 से 15 आयु वर्ग के हैं.’

एक वीडियो में विधायक मच्छरों के प्रजनन को रोकने के लिए समय पर कार्रवाई नहीं करने के लिए नगर निगम को दोषी ठहराते हुए सुनाई दे रहे हैं.

उन्होंने कहा, ‘जहां भी डेंगू ने बच्चों को अपना शिकार बनाया, उनके घर कचरे से घिरे हुए थे और जलभराव था. मच्छर कहीं भी पनप सकते थे.’

उन्होंने आगे कहा, ‘मैं कैमरे के सामने पूरी जिम्मेदारी के साथ यह कहना चाहता हूं कि योगी जी के नेतृत्व में 50 वाहन नगर निगम को सफाई कार्य के लिए दिए गए.’

उन्होंने दावा किया कि अप्रैल में ही आ चुकी गाड़ियां शनिवार (27 अगस्त) को पहली बार इस्तेमाल किए जाने से पहले एक ही स्थान पर खड़ी थीं.

असीजा ने कहा, ‘इस हादसे के लिए नगर निगम और स्वास्थ्य विभाग जिम्मेदार हैं. हालात बहुत खराब हैं और मुझे बहुत दुख हो रहा है.’

उन्होंने बताया कि वह प्रभावित क्षेत्र ऐलान नगर, करबला, महादेवनगर व अन्य स्थानों पर मेडिकल कैंप लगाने के साथ ही लगातार दौरा कर रहे हैं और स्वास्थ्य महकमे को डेंगू से प्रभावित लोगों के उपचार में कोई लापरवाही न बरतने का निर्देश दिया.

असीजा ने बताया कि उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को जमीनी हालात भी बताए हैं और मुख्यमंत्री ने 30 अगस्त को फिरोजाबाद आने का आश्वासन दिया है.

हालांकि, स्वास्थ्य मंत्री जयप्रताप सिंह ने असीजा के दावे को गलत बताते हुए कहा कि ऐसी कोई रिपोर्ट्स नहीं मिली है.

ग्राम प्रधान हरेंद्र के अनुसार, इस बीच मथुरा के कोह गांव में एक और व्यक्ति की बुखार से मौत हो गई, जिसके साथ मृतकों की संख्या नौ पहुंच गई.

उन्होंने कहा, ‘65 वर्षीय मुन्नी देवी ने जिला अस्पताल में बुखार से दम तोड़ दिया. इसके साथ ही आठ बच्चों सहित नौ लोगों की पिछले 10 दिनों में गांव में मौत हो चुकी है.’

फराह के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. पारुल मित्तल ने मौत की पुष्टि की. हालांकि, उन्होंने कहा कि मौत के कारणों की पुष्टि होनी बाकी है. गांव के छह लोगों को अस्पताल में भी भर्ती कराया गया है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)