भारत

कर्नाटक मुस्लिम शख़्स की कार में सफ़र करने पर हिंदू महिलाओं से दुर्व्यवहार, दो गिरफ़्तार

इसी तरह के एक अन्य मामले में कर्नाटक के शिवमोगा में मुस्लिम युवती को अपने दोपहिया वाहन से उसके ऑफिस छोड़ने के लिए एक हिंदू युवक से दुर्व्यवहार के आरोप में दो मुस्लिम युवकों को गिरफ़्तार किया गया है.

(प्रतीकात्मक तस्वीर: रॉयटर्स)

बेंगलुरुः कर्नाटक के दक्षिण कन्नड़ जिले की पुलिस ने मुस्लिम युवक की कार में सफर कर रहीं दो हिंदू महिलाओं के साथ कथित तौर पर दुर्व्यवहार करने के आरोप में शनिवार को दो लोगों को गिरफ्तार किया.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, गिरफ्तार किए गए शख्स दक्षिण कन्नड़ जिले के निवासी संहिताराज (36 वर्ष) और संदीप पुजारी (34 वर्ष) हैं.

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, उडुपी जिले के करकला की गीता और उनकी दोस्त मंजुला शनिवार को दोपहिया वाहन से मूडबिद्री में हनुमान मंदिर जा रही थीं. रास्ते में उनकी मुलाकात उनकी मुस्लिम दोस्त सौधा और उसके पति अशरफ से हुई. चूंकि सभी एक ही तरफ जा रहे थे तो सौधा और अशरफ ने गीता और मंजुला को मंदिर छोड़ने को कहा. इस पर गीता ने मंजुला ने अपनी स्कूटी पार्क की और कार में सवार हो गईं.

पुलिस का कहना है कि शनिवार सुबह लगभग 10:30 बजे छह से आठ लोगों बाइक से आए और उनके वाहन को रोक दिया.

उन्होंने गीता और मंजुला से कार से उतरने को कहा और मुस्लिम शख्स की कार में सफर करने को लेकर उनके साथ दुर्व्यवहार किया.

उन्होंने हिंदू महिलाओं को कार में बैठाने को लेकर अशरफ से भी अपशब्द कहे.

मंगलुरु सिटी पुलिस के आयुक्त एन. शशि कुमार ने कहा, ‘हमने दो लोगों को गिरफ्तार किया है और मामले में अन्य आरोपियों को पकड़ने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं.’

मूडबिद्री पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 354 (महिला की गरिमा भंग करना), 153(ए) (विभिन्न समूहों के बीच धर्म, जाति, जन्म, स्थान और भाषा के आधार पर दुश्मनी को बढ़ावा देना), 504 (शांति भंग करने के इरादे से जानबूझकर अपमान करना) और 506 (आपराधिक धमकी) के तहत मामला दर्ज किया.

वहीं, राज्य के शिवमोगा में हुई एक अन्य घटना में एक मुस्लिम लड़की को अपने दोपहिया से उसके ऑफिस छोड़ने के लिए एक हिंदू युवक से दुर्व्यवहार के आरोप में मुस्लिम समुदाय के दो लोगों को गिरफ्तार किया गया.

इस मामले में शिवमोगा के टैंक मोहल्ला के रहने वाले सुहैल और शोएब को गिरफ्तार किया गया.

यह घटना शनिवार को उस समय हुई, जब शिवमोगा से 14 किलोमीटर दूर मज्जीगेनहल्ली की रहने वाली एक मुस्लिम युवती ने देरी की वजह से गांव के एक युवक से उसे अपने ऑफिस छोड़ने की मदद मांगी. हिंदू युवक द्वारा युवती को उसके ऑफिस ड्रॉप करने पर मुस्लिम युवकों ने उसके साथ दुर्व्यवहार किया.

शिवमोगा के एसपी बीएम लक्ष्मी प्रसाद का कहना है कि आरोपियों में से एक मौके से फरार हो गया.