भारत

फिर बढ़े पेट्रोल-डीज़ल के दाम, सभी राज्यों की राजधानियों में पेट्रोल 100 रुपये प्रति लीटर के पार

देश के ज़्यादातर हिस्सों में पेट्रोल पहले ही सौ रुपये प्रति लीटर के आंकड़े को पार कर चुका है. वहीं, क़रीब एक दर्जन राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में डीज़ल सौ के पार जा चुका है. सितंबर के आखिरी सप्ताह में वाहन ईंधन कीमतों में तीन सप्ताह के बाद संशोधन का सिलसिला फिर शुरू हुआ था. उसके बाद से यह पेट्रोल में 15वीं वृद्धि है. इस दौरान डीज़ल के दाम 18 बार बढ़ाए गए हैं.

(फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: वाहन ईंधन कीमतों में शनिवार को फिर बढ़ोतरी हुई. पेट्रोल और डीजल दोनों के दाम 35-35 पैसे प्रति लीटर और बढ़ाए गए हैं. इससे देशभर में वाहन ईंधन के खुदरा दाम रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गए हैं.

इस बढ़ोतरी के साथ सभी राज्यों की राजधानियों में पेट्रोल 100 रुपये प्रति लीटर के पार निकल गया है. वहीं करीब एक दर्जन राज्यों में डीजल शतक को पार कर गया है. गोवा और बेंगलुरु में डीजल अब 100 रुपये प्रति लीटर के पास पहुंच गया है.

सार्वजनिक क्षेत्र की पेट्रोलयम विपणन कंपनियों द्वारा जारी मूल्य अधिसूचना के अनुसार, पेट्रोल और डीजल दोनों की कीमतों में 35 पैसे प्रति लीटर की वृद्धि की गई है.

दिल्ली में अब पेट्रोल 105.49 रुपये प्रति लीटर के अपने सर्वकालिक उच्चस्तर पर पहुंच गया है. मुंबई में यह अब 111.43 रुपये प्रति लीटर हो गया है.

मुंबई में डीजल 102.15 रुपये प्रति लीटर और दिल्ली में 94.22 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया है. यह लगातार तीसरा दिन है जबकि पेट्रोल और डीजल के दाम 35-35 पैसे लीटर बढ़ाए गए हैं. 12 और 13 अक्टूबर को वाहन ईंधन कीमतों में कोई बदलाव नहीं हुआ था.

सितंबर के आखिरी सप्ताह में वाहन ईंधन कीमतों में तीन सप्ताह के बाद संशोधन का सिलसिला फिर शुरू हुआ था. उसके बाद से यह पेट्रोल में 15वीं वृद्धि है. वहीं इस दौरान डीजल के दाम 18 बार बढ़ाए गए हैं.

देश के ज्यादातर हिस्सों में पेट्रोल पहले ही 100 रुपये प्रति लीटर के आंकड़े को पार कर चुका है. वहीं, करीब एक दर्जन राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों- मध्य प्रदेश, राजस्थान, ओडिशा, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, गुजरात, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, बिहार, केरल, कर्नाटक और लद्दाख में डीजल शतक को पार कर चुका है.

पणजी में अब डीजल 99.56 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया है. वहीं, बेंगलुरु में इसके दाम 99.97 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गए हैं. स्थानीय करों की वजह से विभिन्न राज्यों में वाहन ईंधन के दामों में अंतर होता है.

युवा कांग्रेस ने किया पेट्रोलियम मंत्री हरदीप सिंह पुरी के घर पर प्रदर्शन

कांग्रेस की युवा इकाई ने पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस की कीमतों में बढ़ोतरी को लेकर शनिवार को पेट्रोलियम मंत्री हरदीप सिंह पुरी के आवास के निकट प्रदर्शन किया.

भारतीय युवा कांग्रेस के सैकड़ों की संख्या में सदस्यों ने मंत्री के आवास के निकट नारेबाजी की.

युवा कांग्रेस की ओर से जारी बयान के मुताबिक, संगठन के अध्यक्ष श्रीनिवास बीवी. ने कहा, ‘तेल और घरेलू गैस की कीमतों से मोदी सरकार अब तक जनता से लाखों करोड़ों रुपये लूट चुकी है. सरकार का एकमात्र मकसद अब अपना खजाना भरना हो गया है. जनसरोकारों से उसका दूर-दूर तक कोई संबंध नहीं है.’

उन्होंने कहा कि सरकार बढ़े हुए दाम वापस ले और देश की जनता को कुछ राहत दे.

भारतीय युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी राहुल राव ने कहा, ‘युवा कांग्रेस के कार्यकर्त्ता पेट्रोलियम मंत्री हरदीप सिंह पुरी के आवास के निट एकत्रित हुए और पेट्रोल, डीजल और गैस की बढ़ती कीमतों के खिलाफ मोटरसाइकिल की अर्थी निकालकर विरोध प्रदर्शन किया. देश यह बात कभी नहीं भूलेगा कि जब लोग संकट के दौर से गुजर रहे थे, तब सरकार अपनी जेब भरने और लोगों को लूटने में लगी हुई थी.’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)