राजनीति

अमित शाह के दौरे से पहले कश्मीर के कुछ हिस्सों में इंटरनेट बंद, बड़ी संख्या में दोपहिया वाहन ज़ब्त

पुलिस अधिकारियों ने का कहना है कि इंटरनेट बंद करने और दोपहिया वाहनों को ज़ब्त करने का केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के दौरे से कोई लेना-देना नहीं है. यह आतंकवाद रोधी नियमित उपायों का हिस्सा है. शाह तीन दिवसीय दौरे के लिए शनिवार को श्रीनगर पहुंचेंगे और सुरक्षा समीक्षा बैठकों की अध्यक्षता करेंगे.

(फोटोः रॉयटर्स)

श्रीनगर: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के इस सप्ताह के अंत में घाटी के संभावित दौरे से पहले पुलिस ने कश्मीर के कुछ इलाकों में इंटरनेट बंद कर दिया है, साथ ही बड़ी संख्या में दोपहिया वाहन जब्त किए गए हैं.

शाह के शनिवार (23 अक्टूबर) को कश्मीर का दौरा करने की संभावना है, जब श्रीनगर से शारजाह के लिए पहली अंतरराष्ट्रीय उड़ान रवाना होगी.

हालांकि, पुलिस अधिकारियों ने कहा कि इंटरनेट बंद करने और दोपहिया वाहनों को जब्त करने का शाह के दौरे से कोई लेना-देना नहीं है, लेकिन यह आतंकवाद रोधी नियमित उपायों का हिस्सा है.

कश्मीर जोन के पुलिस महानिरीक्षक विजय कुमार ने ट्वीट किया, ‘कुछ बाइक जब्त करना और कुछ टॉवरों का इंटरनेट बंद करना पूरी तरह से आतंकी हिंसा से संबंधित है. इसका माननीय गृह मंत्री के दौरे से कोई लेना-देना नहीं है.’

दो दिन पहले एक दर्जनों टॉवरों का इंटरनेट बंद कर दिया गया था और यह अधिकांश उन इलाकों में किया गया है, जहां पिछले सप्ताह आतंकवादियों ने गैर-स्थानीय लोगों की हत्या कर दी थी.

पुलिस ने इसके साथ ही दोपहिया वाहनों के कागजों की जांच के लिए सघन अभियान चलाया है.

कई लोगों ने आरोप लगाया है कि उनके दोपहिया वाहनों को पुलिस ने दस्तावेजों की जांच किए बिना ही जब्त कर लिया और उन्हें 26 अक्टूबर के बाद अपने वाहन लेने के लिए कहा गया है.

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह जम्मू कश्मीर के तीन दिवसीय दौरे के लिए शनिवार को श्रीनगर पहुंचेंगे और सुरक्षा समीक्षा बैठकों की अध्यक्षता करेंगे.

केंद्रशासित प्रदेश में इन दिनों आतंकियों द्वारा किए गए हमलों में इस महीने 11 नागरिक मारे गए थे. इन हमलों के बीच केंद्रीय गृह मंत्री पंचायत सदस्यों के साथ-साथ राजनीतिक कार्यकर्ताओं को भी संबोधित करेंगे.

जम्मू कश्मीर में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता सुनील शर्मा ने कहा कि उन्हें बताया गया है कि शाह श्रीनगर पहुंचेंगे और फिर जम्मू जाएंगे.

शर्मा ने कहा, ‘वह नई दिल्ली के लिए रवाना होने से पहले फिर से कश्मीर का दौरा करेंगे.’

उन्होंने कहा कि उन्होंने शाह के एक कार्यक्रम के लिए अपने जिलाध्यक्षों को बुलाया है. शाह के दौरे पर बीजेपी की एक बैठक में शामिल होने के बाद उन्होंने कहा, ‘गृह मंत्री जम्मू में एक रैली में भी शामिल होंगे’

बता दें कि दक्षिण कश्मीर के कुलगाम में बीते 17 अक्टूबर को आतंकवादियों ने बिहार के दो मजदूरों की उनके किराये के मकान में घुसकर गोली मारकर हत्या कर दी थी और एक अन्य को घायल कर दिया था.

मृतकों की पहचान राजा ऋषिदेव और योगेंद्र ऋषिदेव के रूप में हुई थी. वहीं एक अन्य व्यक्ति चुनचुन ऋषिदेव गंभीर रूप से घायल हो गए हैं.

बीते दिनों जम्मू कश्मीर में 24 घंटे से भी कम समय में गैर-स्थानीय मजदूरों पर यह तीसरा हमला था. बिहार के एक रेहड़ी-पटरी वाले और उत्तर प्रदेश के एक बढ़ई की बीते 16 अक्टूबर को आतंकवादियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी.

इस महीने अब तक नागरिकों को निशाना बनाकर की गई गोलीबारी में 11 लोगों की मौत हो चुकी है, जिसमें से 10 आतंकियों द्वारा और एक व्यक्ति की ‘कथित गलती से’ सीआरपीएफ की गोली से मौत हुई है.

जम्मू कश्मीर में दो से सात अक्टूबर के बीच छह दिनों में सात नागरिकों की हत्या हुई है, जिनमें से छह श्रीनगर में हुईं. मृतकों में से चार अल्पसंख्यक समुदाय से हैं.

बीते सात अक्टूबर को श्रीनगर में प्रिंसिपल सुपिंदर कौर और शिक्षक दीपक चंद की हत्या कर दी गई थी.

इससे पहले बीते पांच अक्टूबर को आतंकियों ने कश्मीरी पंडित समुदाय के प्रसिद्ध केमिस्ट माखन लाल बिंद्रू, बिहार के निवासी विक्रेता वीरेंद्र पासवान और बांदीपोरा में एक टैक्सी स्टैंड एसोसिएशन के अध्यक्ष मोहम्मद शफी लोन की हत्या कर दी थी.

इनके अलावा बीते दो अक्टूबर को श्रीनगर में माजिद अहमद गोजरी और बटमालू में मोहम्मद शफी डार की भी हत्या आतंकियों द्वारा कर दी गई थी.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)