भारत

महाराष्ट्र: पत्ते पर मोदी सरकार और कर्ज़ माफ़ी लिखकर किसान ने की आत्महत्या

घटना यवतमाल ज़िले के टिटवाली गांव की है. उन पर 3 लाख रुपये से ज़्यादा का कर्ज़ था.

Farmers Suicides

(प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई)

महाराष्ट्र के यवतमाल जिले में एक 45 वर्षीय किसान ने पेड़ से लटक कर आत्महत्या कर ली. टाइम्स ऑफ़ इंडिया की ख़बर के अनुसार टिटवाली गांव के रहने वाले किसान प्रकाश मनगांवकर ने बीते शनिवार को कर्ज़ न चुका पाने के चलते अपनी जान दे दी.

प्रकाश के परिवार में उनकी मां, पत्नी और बेटा-बेटी हैं. ख़बरों के मुताबिक प्रकाश ने आत्महत्या की जगह पर पत्तों पर चूने से कुछ लिखा था. एक पत्ते पर मोदी सरकार और दूसरे पत्ते पर कर्ज माफ़ी लिखा था.

प्रकाश के पास 2.5 हेक्टेयर ज़मीन थी. उन्होंने इसमें से आधी ज़मीन को बेचकर एक मिनी ट्रक खरीदा था, जो पिछले साल एक दुर्घटना में बर्बाद हो गया. यह ट्रक भी उन्होंने लोन पर लिया था, जिसका 2.68 लाख रुपये लोन बाकी है. इसके अलावा उन पर 1.25 लाख रुपये कृषि के लिए गया कर्ज़ भी बाकी था.

यह भी पढ़े: जिस सरकार ने नोटबंदी की, उसी को क़र्ज़ माफ़ी का ख़र्च भी उठाना चाहिए

ज्ञात हो कि 2014 लोकसभा चुनाव प्रचार में नरेंद्र मोदी ने स्थानीय जनता से वादा किया था कि अगर वो सत्ता में आते हैं, तो किसानों की आत्महत्या के सिलसिले पर विराम लग जाएगा. वहीं भाजपा सांसद नाना पटोले ने सोमवार 18 सितंबर को गांव पहुंचकर मृत किसान के परिवार से मुलाक़ात की.

गांववालों से बात करते वक़्त सांसद नाना पटोले ने कहा कि अगर किसानों की आत्महत्या नहीं रुकती, तो वो सांसद पद से इस्तीफ़ा देने को तैयार हैं. हाल ही में पटोले ने देवेंद्र फडणवीस सरकार पर निशाना साधते हुए कहा था कि उनके आने के बाद राज्य में किसान आत्महत्या में इजाफ़ा हुआ है.